ताज़ा खबर
 

चाणक्य नीति: ऐसे दोस्तों के साथ से आपका हो सकता है नुकसान

चाणक्य कहते हैं कि जो व्यक्ति बुरी आदतों से घिरा होता है, कभी भी उसके साथ मित्रता नहीं करनी चाहिए। क्योंकि उसकी बुरी आदतें आपको भी बुरा प्रभाव डाल सकती है। इसलिए हमेशा सज्जनों से ही दोस्ती करें।

Author नई दिल्ली | July 12, 2019 1:45 PM
चाणक्य के दोस्तों को लेकर विचार।

Chanakya niti in hindi: हर किसी के जीवन में कोई न कोई ऐसा मित्र जरूर होता है जिससे वह व्यक्ति अपने सारे सुख दुख बांट सकता है। लेकिन हर मित्र आपके लिए अच्छा ही हो ऐसा जरूरी नहीं है। चाणक्य ने अपने नीति ग्रंथ में मित्रों को लेकर कुछ नीतियां बताई हैं जिनके माध्यम से आप सही दोस्त की परख कर सकते हैं। और इस बात का पता लगा सकते हैं कि कौन सा मित्र आपके लिए हितकारी और कौन सा नुकसानदेह साबित हो सकता है। चाणक्य ने अपनी पुस्तक चाणक्य नीति में मानव समाज के कल्याण से संबंधित कई नीतियां बताई हैं जिसे अपनाकर व्यक्ति अपने जीवन को सही दिशा में ले जा सकता है। यहां आप जानेंगे आचार्य चाणक्य के मित्रों को लेकर क्या थे विचार, इसके बारे में…

– जिस व्यक्ति का आचरण अच्छा नहीं होता, जिसकी दृष्टि में पाप होता है, बुरी जगह पर रहता है ऐसे व्यक्ति की मित्रता, अवश्य ही दूसरे व्यक्ति को नष्ट कर देती है। चाणक्य कहते हैं कि जो अपने माता-पिता, पत्नी और बच्चों का सम्मान नहीं करता ऐसे मित्र का साथ, हमें कभी भी नहीं देना चाहिए।

– जिसकी दृष्टि में खोट हो अत: जिस इंसान की नजर में पाप हो ऐसे व्यक्ति की मित्रता भी आपके लिए हानिकारक साबित हो सकती है। यदि उसकी दृष्टि में पाप है और वह दूसरों को बुरी नजर से देखता है तो वो आपके परिवार वालों को भी अच्छी नजर से नहीं देखेगा।

– चाणक्य के अनुसार उस व्यक्ति की मित्रता भी नुकसानदेह साबित हो सकती है जो किसी बुरे स्थान पर रहता हो। क्योंकि यदि वह बुरे स्थान पर रहता है तो अवश्य ही वह स्वयं को वहां की बुराइयों से दूर नहीं रख पाएगा। और ऐसे मित्र की संगति आपको भी उन बुराइयों को अपनाने के लिए मजबूर कर देगी।

– चाणक्य कहते हैं कि जो व्यक्ति बुरी आदतों से घिरा होता है, उस व्यक्ति से कभी भी मित्रता न करें। क्योंकि उसकी बुरी आदतें आपके ऊपर भी बुरा प्रभाव डाल सकती है। इसलिए हमेशा सज्जनों के साथ ही दोस्ती करनी चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App