ताज़ा खबर
 

बसंत पंचमी त्योहार पर यह है पतंगबाजी का महत्व, जानिए सबसे पहले किसने उड़ाई थी पतंग

Basant Panchami 2018, Kite Flying: भारत के अलावा कई देशों में भी पतंग उड़ाई जाती है। पतंग के इतिहास के बारे में अगर हम बात करें तो यह तकरीबन 2,300 वर्ष पुराना है। माना जाता है कि पतंग का आविष्कार ईसा पूर्व तीसरी सदी में चीन में हुआ था।

Basant Panchami 2018, Kite Flying Festival: वसंत पंचमी पर पतंगबाजी।

Basant Panchami 2018, Kite Flying Festival: हिंदू कैलेंडर के अनुसार माघ मास में शुक्ल पक्ष के पांचवे दिन मनाया जाता है। इस वर्ष देशभर में बसंत पंचमी का त्योहार 22 जनवरी 2018 को पूरी श्रद्धा के साथ मनाया जा रहा है। लोहड़ी और मकर संक्रांति के बाद बसंत पंचमी का त्योहार मनाया जाता है। बसंत पंचमी को मां सरस्वती के प्रगट होने का दिन भी माना जाता है। बसंत पंचमी के दिन के बारे में मान्यता है कि इस दिन ज्ञान-विज्ञान, संगीत, कला और बुद्धि की देवी माता सरस्वती का जन्म हुआ था। इसलिए बसंत पंचमी के दिन खास तौर पर देवी सरस्वती की पूजा की जाती है। साथ ही बसंत पंचमी के दिन पूजा के साथ पतंगबाजी का लुत्फ भी उठाया जाता है। इस दिन लोग प्राकृतिक जल स्रोतों, बाबलियों और झरनों में स्नान कर पीले वस्त्र धारण कर मंदिरों में पूजा-अर्चना करते हैं और युवा पतंग उड़ाते हैं।

पतंग उड़ाने की परंपरा सदियों से चली आ रही है। कभी रीति-रिवाज, परंपरा और त्योहार के रूप में उड़ाए जाने वाली पतंग आज मनोरंजन का पर्याय बन चुकी है। युवा वर्ग सुबह से ही पतंगें उड़ानें में व्यस्त हो जाते हैं। पिछले कुछ सालों से स्थानीय बाजारों में पतंग के लिए इस्तेमाल होने वाला चाइनीज मांझे का दबदबा है।

बसंत पंचमी के त्योहार पर पहले मुख्य रूप से पंजाब और गुजरात के लोग इस दिन ‘पतंग महोत्सव’ मनाते थे, लेकिन अब देशभर में इस दिन पतंगबाजी होती है। जहां कुछ लोग बाजार से पतंग और डोर खरीदते हैं तो कुछ लोग खुद पतंग बनाकर उड़ाते हैं। वहीं पाकिस्तान के पंजाबी मुस्लिम इस ऋतु के दौरान घर की छतों से पतंग उड़ाने का आनंद लेते हैं। आपको याद होगा कि पतंग त्योहार कई बॉलीवुड फिल्मों में भी दिखाया जाता है।

Happy Basant Panchami 2018 Images: इन शानदार वॉट्सऐप, फेसबुक मैसेज और फोटोज से दे अपने दोस्तों को शुभकामनाएं

भारत के कई त्योहारों और पर्वों पर पतंग उड़ाई जाती है, लेकिन कम लोग ही जानते हैं कि भारत के अलावा कई देशों में भी पतंग उड़ाई जाती है। पतंग के इतिहास के बारे में अगर हम बात करें तो यह तकरीबन 2,300 वर्ष पुराना है। माना जाता है कि पतंग का आविष्कार ईसा पूर्व तीसरी सदी में चीन में हुआ था। दुनिया की पहली पतंग एक चीनी दार्शनिक मो दी ने बनाई थी। उस काल में पतंग टिशू पेपर और बांस की बनी होती थी। चीन के बाद पतंगों का फैलाव जापान, कोरिया, थाईलैंड, बर्मा, भारत, अरब और उत्तरी अफ्रीका तक हुआ।

बसंत पंचमी 2018 सरस्वती पूजा शुभ मुहूर्त और पूजन विधि: जानें सरस्वती पूजा के मंत्र, आरती और शुभ समय

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App