Vastu Shastra: घर के आसपास ये चीजें रखने से आ सकता है आर्थिक संकट, जानिये क्या है मान्यता

वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में कभी भी पत्थर नहीं रखने चाहिए। क्योंकि ऐसा करने से घर-परिवार की सफलता के मार्ग में रुकावट आती है।

Vastu Tips, Vastu Shastra, Religion News
घर का मुख्य द्वार हमेशा ऊंचाई पर होना चाहिए

वास्तु शास्त्र के अनुसार अगर आपके घर में पैसा बिल्कुल भी नहीं टिक रहा है या फिर लगातार परिवार के किसी सदस्य का स्वास्थ्य खराब रहता है तो इसका कारण वास्तु दोष हो सकता है। ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक अगर आपके घर का वास्तु ठीक नहीं है तो आपको अपने जीवन में कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। वास्तु शास्त्र के मुताबिक हर वस्तु में एक ऊर्जा होती है, जो व्यक्ति के जीवन पर सकारात्मक और नकारात्मक प्रभाव डालती है।

इसलिए जानकार घर बनाते समय वास्तु शास्त्र का ध्यान रखने की सलाह देते हैं। वास्तु शास्त्र में कुछ ऐसी चीजों का जिक्र किया गया है, जिन्हें घर में रखने से बचना चाहिए, क्योंकि ऐसा करने पर घर में सुख-समृद्धि बनी रहती है। आइये ऐसी कौन-सी चीजें हैं, जिन्हें घर में रखने से बचना चाहिए-

ऐसा हो घर का मुख्य द्वार: वास्तु शास्त्र के अनुसार घर का मुख्य द्वार हमेशा समान स्तर या फिर ऊंचाई पर होना चाहिए। घर का मुख्य द्वार सड़क से निचले स्तर पर नहीं होना चाहिए। क्योंकि अगर घर का मुख्य द्वार सड़क से नीचे है तो आपके जीवन में कई तरह की परेशानियां और उतार-चढ़ाव आते हैं।

बड़े और घने पेड़: वास्तु शास्त्र के अनुसार घर के आसपास घने और बड़े पेड़ नहीं होने चाहिए। क्योंकि यह ना सिर्फ सकारात्मक ऊर्जा को प्रभावित करता है बल्कि इससे घर पर ताजी हवा और धूप भी नहीं पड़ती। इसलिए लोगों को अपने घर के आसपास छोटे-छोटे पेड़ ही लगाने चाहिए।

घर में ना रखें कांटेदार पौधे: वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में कभी भी कांटेदार पौधे, जैसे- कैक्टस आदि नहीं लगाने चाहिए। साथ ही बगीचे में भी इस तरह के पौधे नहीं लगाने चाहिए। क्योंकि घर में कैक्टस का पौधा रखने से परिवार के सदस्यों का स्वास्थ्य खराब होता है।

घर में ना रखें पत्थर: वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में कभी भी पत्थर नहीं रखने चाहिए। क्योंकि ऐसा करने से घर-परिवार की सफलता के मार्ग में रुकावट आती है। साथ ही इसके कारण आपको जिंदगी में कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इसलिए घर में पत्थर रखने से बचना चाहिए।

पढें Religion समाचार (Religion News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट