ताज़ा खबर
 

शाम के समय करते हैं पूजा तो रखें इन बातों का विशेष ध्यान

जानकारों के अनुसार सूर्य की पहली किरण के साथ पूजा करना काफी शुभ होता है।

(सांकेतिक फोटो)

कई लोग अपने समय के हिसाब से पूजा करते हैं तो वहीं कई लोग ज्योतिषियों की सलाह पर पूजा-पाठ करते हैं। जानकारों के अनुसार सूर्य की पहली किरण के साथ पूजा करना काफी शुभ होता है। माना जाता है कि सुबह के समय शक्तियां बलवान होती हैं। अगर दिन की शुरुआत भगवान की पूजा के साथ की जाए तो सारा दिन अच्छा व्यतित होता है। लेकिन कई लोगों के पास सुबह पूजा करने का समय नहीं होता। इसलिए शाम के समय पूजा-पाठ करते हैं।

ज्योतिषियों का कहना है कि शाम के समय पूजा करते समय कुछ बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए। कहा जाता है कि शाम के समय पूजा करते समय कभी भी शंख या घंटियां नहीं बजानी चाहिए। क्योंकि सूर्यास्त के बाद देवी-देवता सोने चले जाते हैं। ज्योतिषियों का कहना है कि अगर सुबह से समय पूजा की जाए तो इसे शुभ माना जाता है।

ज्योतिषियों का कहना है कि अगर आप शाम के समय में पूजा करते हैं तो कभी भी फूलों को नहीं तोड़ना चाहिए। क्योंकि सूर्यास्त के समय किसी भी वनस्पति को छेड़ना शुभ नहीं माना जाता है। पूजा में फूलों का रखना शुभ माना जाता है। इसलिए शाम की पूजा के लिए दिन में ही फूल तोड़कर रखें।

अगर आप भगवान विष्णु या श्री कृष्ण की पूजा कर रहे हैं तो आपको तुलसी का पत्ता पूजा सामग्री में रखना होता है। बिना तुलसी के पत्ते के पूजा सफल नहीं मानी जाती। लेकिन अगर आप शाम के समय भगवान विष्णु या श्री कृष्ण की पूजा कर रहे हैं तो कभी भी आपको तुलसी का पत्ता नहीं तोड़ना चाहिए। इससे लक्ष्मी जी नाराज होती हैं। शाम की पूजा के लिए दिन में ही तुलसी के पत्ते तोड़कर रख लेने चाहिए।

अगर आप सूर्य भगवान को खुश करना चाहते हैं तो कभी भी रात में पूजा नहीं करनी चाहिए। क्योंकि सूर्य भगवान को दिन का देवता माना जाता है।

घर के पूजा स्थल या मंदिर पर सोने से पहले पर्दा जरुर करें। क्योंकि ऐसा करने से भगवान के सोने में कोई बाधा उत्पन्न नहीं होती है। एक बार दरवाजा बंद होने के बाद सुबह ही खोला जाता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App