ताज़ा खबर
 

Karwa Chauth 2019 Date, Puja Vidhi, Muhurat, Mehndi Designs: करवा चौथ के कठिन निर्जला व्रत पर महिलाएं, जानिए पूजा विधि, मुहूर्त और चांद निकलने का समय

Karwa Chauth (Karva Chauth) 2019 Date in India: करवा चौथ व्रत में पूरे शिव परिवार की पूजा होती है। इसके अलावा चतुर्थी स्वरूप करवा की भी पूजा होती है। इस दिन खासतौर पर श्री गणेश जी का पूजन होता है और उन्हें ही साक्षी मानकर व्रत शुरू किया जाता है।

Author Updated: Oct 17, 2019 1:33:54 pm
Karwa Chauth 2019 Date: व्रत वाले दिन शाम के समय विवाहित महिलाएं भगवान शिव, माता पर्वती, गणेश और कार्तिकेय की विधिवत पूजा करती हैं।

Karwa Chauth 2019 Date in India, Puja Muhurat, Puja Vidhi: कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को हर साल करवा चौथ मनाया जाता है। इस साल ये तिथि 17 अक्टूबर को पड़ रही है। 13 घंटे 53 मिनट का ​कठिन निर्जला करवा चौथ व्रत सूर्योदय और सरगी परंपरा के साथ शुरू हो चुका है। इस साल ये व्रत 4 विलक्षण संयोग के कारण काफी महत्वपूर्ण और शुभ माना जा रहा है। ऐसा सुखद संयोग तकरीबन 70 सालों बाद आया है। करवा चौथ को कर्क चतुर्थी भी कहते हैं। इस दिन को सुहागिनों के लिए महत्वपूर्ण दिन माना गया है। करवा चौथ का व्रत कठिन होता है क्योंकि व्रत अवधि में जल ग्रहण भी नहीं किया जाता है। शादीशुदा महिलाएं अपने पति की लंबी आयु की कामना से इस व्रत को रखती हैं। व्रत वाले दिन शाम के समय विवाहित महिलाएं भगवान शिव, माता पर्वती, गणेश और कार्तिकेय की विधिवत पूजा करती हैं। पूजन के बाद चंद्रमा को देखने और अर्घ्य देने के बाद ही व्रत खोलती हैं।

Karwa Chauth 2019 Puja Vidhi, Timings, Moonrise Time: Read here

करवा चौथ का शुभ मुहूर्त (Karwa Chauth shubh Muhurt)

तिथि: कार्तिक कृष्ण पक्ष चतुर्थी
तारीख: 17 अक्टूबर
दिन: गुरुवार
पूजा मुहूर्त: शाम 5.50 से 07.05 बजे तक
पूजा मुहूर्त की कुल अवधि: 01 घंटा 15 मिनट
करवा चौथ व्रत समय: सुबह 06.23 बजे से रात 08.16 तक
व्रत की कुल अवधि: 13 घंटे 53 मिनट
करवा चौथ के दिन चंद्रोदय का समय: रात 8.16 बजे
चतुर्थी तिथि: करवा चौथ के दिन चतुर्थी तिथि की शुरुआत सुबह 06 बजकर 48 मिनट से
चतुर्थी तिथि का समापन: 18 अक्टूबर सुबह 07 बजकर 29 मिनट पर

Happy Karwa Chauth 2019: Wishes Images, Quotes, Status, Wallpapers, SMS, Messages, Photos, Pics, and Greetings

करवा चौथ को देश के अन्य भागों में करक चतुर्थी के नाम से भी पुकारा जाता है। करवा यानि मिट्टी का एक प्रकार का बर्तन होता है जिसके द्वारा चंद्रमा को अर्घ्य दिया जाता है। अर्घ्य से मतलब चंद्रमा को जल देने से है। करवा चौथ की पूजा के दौरान करवा आवश्यक पूजन सामग्री में आता है। जिसे पूजा के बाद किसी ब्राह्मण या योग्य महिला को दान स्वरूप भेंट कर दिया जाता है।

करवा चौथ व्रत शुरू होने से लेकर आज चांद निकलने तक का समय यहां जानिए

Live Blog

Highlights

    07:17 (IST)17 Oct 2019
    करवा चौथ 2019: चांद निकलने का समय (Karva Chuth 2019 Moon Timing)

    1. नई दिल्‍ली चांद निकलने का समय- 8: 20 PM

    2. उत्तर प्रदेश/उत्तराखंड नोएडा/ग्रेटर नोएडा: चांद निकलने का समय- 8: 15 PMलखनऊ: चांद निकलने का समय- 8:08 PMवाराणसी: चांद निकलने का समय- 7:58 PMकानपुर: चांद निकलने का समय- 8: 09 PMगोरखपुर: चांद निकलने का समय- 8: 09 PMप्रयागराज: चांद निकलने का समय- 8: 03 PMबरेली: चांद निकलने का समय- 8:08 PMमेरठ: चांद निकलने का समय- 8:14 PMआगरा: चांद निकलने का समय- 8: 16 PMबहराइच: चांद निकलने का समय- 8: 00 PMफैजाबाद: चांद निकलने का समय- 7: 59 PMझांसी: चांद निकलने का समय- 8: 18 PMदेहरादून: चांद निकलने का समय- 8:10 PM

    06:22 (IST)17 Oct 2019
    24 सालों बाद करवा चौथ पर है राजयोग

    करवा चौथ पर चंद्रमा और बृहस्पति का दृष्टि संबंध होने के कारण गजकेसरी नाम का राजयोग भी बन रहा है। ऐसा करीब 24 सालों बाद हो रहा है। आपको बता दें कि ग्रहों की स्थिति बिल्कुल ऐसी ही पिछले साल भी बनी थी, लेकिन बुध और केतु के कारण चंद्रमा पीड़ित थे तो राजयोग भंग हो गया था। पर ऐसा इस बार नहीं है, बृहस्पति के अलावा चंद्रमा पर किसी भी अन्य ग्रह की दृष्टि नहीं है और ये पूर्ण राजयोग है। इससे पहले 12 अक्टूबर 1995 को करवा चौथ पर पूर्ण राजयोग बना था।

    04:18 (IST)17 Oct 2019
    करवा चौथ (Karwa Chauth): Know when to start Fast, Moon Time, Puja Muhurt

    बृहस्पतिवार, अक्टूबर 17, 2019 कोकरवा चौथ पूजा मुहूर्त - शाम 05:51 से 07:06 बजे तकअवधि - 01 घण्टा 15 मिनट्सकरवा चौथ व्रत समय - सुबह 06:23 से शाम 08:17 बजे तकव्रत की कुल अवधि - 13 घण्टे 54 मिनट्सकरवा चौथ के दिन चन्द्रोदय - शाम 08:17 चतुर्थी तिथि प्रारम्भ - अक्टूबर 17, 2019 को सुबह 06:48 बजेचतुर्थी तिथि समाप्त - अक्टूबर 18, 2019 को सुबह 07:29 बजे

    22:53 (IST)16 Oct 2019
    करवा चौथ का शुभ मुहूर्त (Karwa Chauth shubh Muhurt)

    तिथि: कार्तिक कृष्ण पक्ष चतुर्थी, तारीख: 17 अक्टूबर, दिन: गुरुवार, पूजा मुहूर्त: शाम 5.50 से 07.05 बजे तक, पूजा मुहूर्त की कुल अवधि: 01 घंटा 15 मिनट, करवा चौथ व्रत समय: सुबह 06.23 बजे से रात 08.16 तक

    22:14 (IST)16 Oct 2019
    करवाचौथ का व्रत सुबह सूर्योदय से पहले हो जाता है शुरू

    करवाचौथ का व्रत सुबह सूर्योदय से पहले ही 4 बजे के बाद शुरू हो जाता है और रात को चंद्रदर्शन के बाद ही व्रत को खोला जाता है। इस दिन भगवान शिव, माता पार्वती और भगवान श्री गणेश की पूजा की जाती है और करवाचौथ व्रत की कथा सुनी जाती है।

    21:42 (IST)16 Oct 2019
    करवा चौथ पर ऐसे मेंहदी डिजाइन का कर सकती हैं इस्तेमाल...

    karwa chauth mehndi design 2019, mehndi design

    20:52 (IST)16 Oct 2019
    Karwa Chauth 2019: इस दिन श्री गणेश जी की पूजा विशेष महत्व रखती है

    करवा चौथ व्रत में पूरे शिव परिवार की पूजा होती है। इसके अलावा चतुर्थी स्वरूप करवा की भी पूजा होती है। इस दिन खासतौर पर श्री गणेश जी का पूजन होता है और उन्हें ही साक्षी मानकर व्रत शुरू किया जाता है। गणपति को चतुर्थी का अधिपति देव माना गया है।

    19:23 (IST)16 Oct 2019
    Karwa Chauth puja timing 2019: करवा चौथ की पूजा टाइमिंग

    करवा चौथ के व्रत में भगवान शिव, माता गौरी और चंद्रमा की पूजा विधिपूर्वक की जाती है। नैवेद्य में इनको करवे या घी में सेंके हुए और खांड मिले हुए आटे के लड्डू अर्पित किया जाता है। व्रत रखने वाली महिलाओं को नैवेद्य के 13 करवे या लड्डू, 1 लोटा, 1 वस्त्र और 1 विशेष करवा पति के माता-पिता को देती हैं।

    18:41 (IST)16 Oct 2019
    Karwa Chauth 2019 date: कब मनाया जाएगा करवा चौथ व्रत

    17 अक्टूबर गुरुवार को महिलाएं सुहाग का व्रत करवा चौथ रखेंगी। यह करवा चौथ सभी व्रतियों के लिए शुभ संयोग लेकर आया है। लेकिन जिन लोगों के लिए पहला करवा चौथ है उनके लिए सोने पर सुहागा वाली बात हो गई है। इस बार चंद्रमा व्रतियों के लिए गुडलक लेकर आ रहे हैं। इसकी खास वजह यह है कि 70 साल बाद करवा चौथ की शाम चंद्रमा शुभ नक्षत्र में उदित होने जा रहा है।

    17:58 (IST)16 Oct 2019
    When is karwa chauth in 2019: क्या है करवा चौथ की खासियत, जानिए अन्य बातें

    मान्‍यता है कि करवा चौथ का व्रत रखने से अखंड सौभाग्‍य का वरदान मिलता है। हर साल की तरह इस बार भी करवा चौथ की तैयारियां शुरू हो चुकी हैं। इस बार करवा चौथ पर पूरे 70 साल बाद मंगल योग बन रहा है। ज्‍योतिषियों का कहना है कि साल 2019 के करवा चौथ में रोहिणी नक्षत्र के साथ मंगल का योग है, जिसे बेहद फलदाई माना जाता है।

    17:38 (IST)16 Oct 2019
    Karwa Chauth 2019 Date, Puja Vidhi: जानिए करवा चौथ पर क्या चीजें की जाती हैं

    चौथ माता मां गौरी का ही स्वरूप हैं। करवा चौथ के दिन मंदिरों या पूजा स्थलों पर चौथ माता के साथ भगवान श्री गणेश जी की मूर्ति स्थापित करते हैं। व्रत रहने वालों के सुहाग की रक्षा चौथ माता करती हैं। करवा चौथ के व्रत में भगवान शिव, माता गौरी और चंद्रमा की पूजा विधिपूर्वक की जाती है। नैवेद्य में इनको करवे या घी में सेंके हुए और खांड मिले हुए आटे के लड्डू अर्पित किया जाता है।

    17:08 (IST)16 Oct 2019
    Karwa Chauth shubh Muhurt 2019: करवा चौथ के व्रत नियमों के बारे में कुछ जरूरी बातें

    करवा चौथ पर दिन भर निर्जला व्रत रखा जाता है। यानी कि अन्‍न-जल के अलावा पानी पीने की भी मनाही होती है। सुहागिन महिलाएं चांद को अर्घ्‍य देने के बाद पति के हाथों पानी पीकर व्रत तोड़ती हैं। वहीं, कुंवारी लड़कियां तारों के दर्शन करने के बाद पानी पी सकती हैं। वैसे तो गर्भवती और बीमार महिलाओं को करवा चौथ का व्रत नहीं करना चाहिए। लेकिन कई गर्भवती महिलाएं फल और पानी पीकर भी यह व्रत कर सकती हैं।  

    16:46 (IST)16 Oct 2019
    Karwa chauth 2019 date in India: करवा चौथ की है एक अलग अहमियत, जानिए क्यों

    यह पर्व रिश्तों को मजबूत बनाने वाला होता है जिस कारण यह पति-पत्नी दोनों के लिए ख़ास महत्व रखता है। यही कारण है कि करवा चौथ वाले दिन पत्नी द्वारा अपने पति की लंबी आयु और उसकी सुख-समृद्धि के लिए की गई पूजा-अर्चना पति की जिंदगी में पत्नी की अहमियत को ओर भी ज्यादा बढ़ा देती है।

    16:14 (IST)16 Oct 2019
    Karwa chauth 2019 date: करवा चौथ पर सरगी की अहमियत

    सरगी सास द्वारा दी जाने वाला भोजन होता है जो महिलाओं के लिए बेहद खास होता है। सरगी व्रत की शुरूआत होने से पहले खाए जाने वाला भोजन होता है। इसमें दूध, ड्राई फ्रूट्स, फलों के अलावा और भी कई चीजें शामिल होती हैं। ये इसलिए खाते हैं क्योंकि दिन भर फिर महिलाओं को ना कुछ खाना होता है और ना ही पीना।

    15:49 (IST)16 Oct 2019
    Karwa chauth 2019: करवा चौथ से जुड़ी इस बात का ध्यान रखें

    करवा चौथ का व्रत कार्तिक कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि को मनाया जाता है. इस दिन मूल रूप से भगवान गणेश, मां गौरी और चंद्रमा की उपासना होती है. चंद्रमा को आमतौर पर आयु, सुख और शांति का कारक माना जाता है। इसलिए चंद्रमा की पूजा करके महिलाएं वैवाहिक जीवन मैं सुख, शांति और पति की लम्बी आयु की कामना करती हैं।

    15:06 (IST)16 Oct 2019
    करवा चौथ व्रत वाले दिन आप इस डिजाइन की लगा सकती हैं मेहंदी...

    14:29 (IST)16 Oct 2019
    करवाचौथ व्रत को करने की सरल विधि...

    करवा चौथ के दिन महिलाएं सूर्योदय से पहले जागकर सरगी खाकर व्रत की शुरुआत करती हैं। सरगी में मिठाई, फल और मेवे होते हैं, जो उनकी सास उन्‍हें देती हैं। उसके बाद महिलाएं पूरे दिन निर्जला व्रत रखती हैं। उसके बाद शाम को छलनी से चांद देखकर और पति की आरती उतारकर अपना व्रत खोलती हैं। अधिकांश घरों में पति अपनी पत्‍नी को पानी पिलाकर उनका व्रत तोड़वाते हैं।

    13:48 (IST)16 Oct 2019
    करवा चौथ व्रत वाले दिन गणेश जी की अराधना करना होता है शुभ...

    करवाचौथ के दिन दोपहर में महिलाएं एकत्र होकर पर्व की खुशियां मनाती हैं और एक-दूसरे को व्रत कथा सुनाकर पूजा करती हैं। मान्‍यता है कि करवाचौथ की व्रत कथा के अलावा भगवान गणेश की कथा सुनना बहुत शुभ होता है। गणेशजी की कथा करके ही करवा चौथ के व्रत की पूजा पूरी होती है। दरअसल चतुर्थी तिथि के स्वामी गणेशजी हैं और करवाचौथ के दिन संकष्टी चतुर्थी होती है जिस दिन गणेशजी की पूजा का विधान है।

    12:59 (IST)16 Oct 2019
    करवा चौथ व्रत सामग्री लिस्ट...

    करवा चौथ के व्रत से एक दिन पहले ही सारी पूजन सामग्री को इकट्ठा करके घर के मंदिर में रख दें। पूजन सामग्री इस प्रकार है- मिट्टी का टोंटीदार करवा व ढक्‍कन, पानी का लोटा, गंगाजल, दीपक, रूई, अगरबत्ती, चंदन, कुमकुम, रोली, अक्षत, फूल, कच्‍चा दूध, दही, देसी घी, शहद, चीनी,  हल्‍दी, चावल, मिठाई, चीनी का बूरा, मेहंदी, महावर, सिंदूर, कंघा, बिंदी, चुनरी, चूड़ी, बिछुआ, गौरी बनाने के लिए पीली मिट्टी, लकड़ी का आसन, छलनी, आठ पूरियों की अठावरी, हलुआ और दक्षिणा के पैसे।

    12:20 (IST)16 Oct 2019
    करवा चौथ व्रत विधि:

    करवा चौथ व्रत वाले दिन सुबह सूर्योदय से पहले उठ जाएं। सरगी के रूप में मिला हुआ भोजन करें पानी पीएं और भगवान की पूजा करके निर्जला व्रत का संकल्प लें। करवाचौथ में महिलाएं पूरे दिन जल-अन्न कुछ ग्रहण नहीं करतीं फिर शाम के समय चांद को देखने के बाद दर्शन कर व्रत खोलती हैं।

    11:45 (IST)16 Oct 2019
    करवा चौथ पर शुभ संयोग...

    इस बार करवा चौथ पर पूरे 70 साल बाद मंगल योग बन रहा है। ज्‍योतिषियों का कहना है कि साल 2019 के करवा चौथ में रोहिणी नक्षत्र के साथ मंगल का योग है, जिसे बेहद फलदाई माना जाता है। 

    11:05 (IST)16 Oct 2019
    ऐसे रखा जाता है करवा चौथ व्रत

    भारत में करवा चौथ व्रत बड़े ही उत्साह के साथ मनाया जाता है। इसकी खास रौनक उत्तर भारत में देखने को मिलती है। यूं तो हिन्‍दू धर्म में सुहागिन महिलाओं के लिए ढेर सारे व्रत है लेकिन करवा चौथ (Karva Chauth Fast) का विशेष स्‍थान है। इस दिन महिलाएं दिन भर भूखी-प्‍यासी रहकर अपने पति की लंबी उम्र और स्वस्थ जीवन की कामना करती हैं। इस दिन पूरे विधि-विधान से माता पार्वती और भगवान गणेश की पूजा-अर्चना की जाती है और करवा चौथ की कथा (Karva Chauth Katha) सुनी जाती है। फिर रात के समय चंद्रमा को अर्घ्‍य देने के बाद ही यह व्रत संपन्‍न होता है। मान्‍यता है कि करवा चौथ का व्रत रखने से अखंड सौभाग्‍य का वरदान मिलता है।

    10:25 (IST)16 Oct 2019
    करवा चौथ व्रत विधि:

    करवा चौथ के दिन महिलाएं सूर्योदय से पहले जागकर सरगी खाकर व्रत की शुरुआत करती हैं।  इस व्रत में सरगी का विशेष महत्व होता है। सरगी में मिठाई, फल और मेवे होते हैं, जो उनकी सास उन्‍हें देती हैं। उसके बाद महिलाएं पूरे दिन निर्जला व्रत रखती हैं। उसके बाद शाम को छलनी से चांद देखकर और पति की आरती उतारकर अपना व्रत खोलती हैं। अधिकांश घरों में पति अपनी पत्‍नी को पानी पिलाकर उनका व्रत तोड़वाते हैं।

    09:57 (IST)16 Oct 2019
    करवा चौथ व्रत के मुहूर्त...

    करवा चौथ बृहस्पतिवार, अक्टूबर 17, 2019 कोकरवा चौथ पूजा मुहूर्त - 05:51 पी एम से 07:06 पी एमअवधि - 01 घण्टा 15 मिनट्सकरवा चौथ व्रत समय - 06:23 ए एम से 08:17 पी एमअवधि - 13 घण्टे 54 मिनट्सकरवा चौथ के दिन चन्द्रोदय - 08:17 पी एमचतुर्थी तिथि प्रारम्भ - अक्टूबर 17, 2019 को 06:48 ए एम बजेचतुर्थी तिथि समाप्त - अक्टूबर 18, 2019 को 07:29 ए एम बजे

    09:25 (IST)16 Oct 2019
    करवा चौथ व्रत का महत्व:

    कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को करवा चौथ व्रत रखा जाता है। माना जाता है कि इस दिन यदि सुहागिन स्त्रियां उपवास रखें तो उनके पति की उम्र लंबी होती है और उनका गृहस्थ जीवन सुखद होने लगता है। हालांकि पूरे भारतवर्ष में हिंदू धर्म में आस्था रखने वाले लोग बड़ी धूम-धाम से इस त्यौहार को मनाते हैं लेकिन उत्तर भारत खासकर पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश आदि में तो इस दिन अलग ही नजारा होता है। करवाचौथ का व्रत सुबह सूर्योदय से पहले ही 4 बजे के बाद शुरु हो जाता है और रात को चंद्रदर्शन के बाद ही व्रत को खोला जाता है। इस दिन भगवान शिव, माता पार्वती और भगवान श्री गणेश की पूजा की जाती है और करवाचौथ व्रत की कथा सुनी जाती है। सामान्यत: विवाहोपरांत 12 या 16 साल तक लगातार इस उपवास को किया जाता है लेकिन इच्छानुसार जीवनभर भी विवाहिताएं इस व्रत को रख सकती हैं।

    08:42 (IST)16 Oct 2019
    करवा चौथ व्रत में सरगी खाने का समय...

    चतुर्थी तिथि का आरंभ प्रात: 6 बजकर 49 मिनट से होगा और 18 अक्टूबर सुबह 7 बजकर 29 मिनट पर इस तिथि का समापन होगा। यह व्रत 13 घंटे तक होगा। महिलाएं इस दिन निर्जला व्रत रख रात को चांद के दर्शन कर व्रत खोलती हैं। इस व्रत की शुरुआत सरगी से होती है। सूरज निकलने से पहले सरगी खा लेनी चाहिए।

    08:20 (IST)16 Oct 2019
    करवा चौथ व्रत में कथा सुनना है जरूरी...

    करवा चौथ में जितना महत्व व्रत और पूजा का है, उतना ही महत्व करवा चौथ के व्रत की कथा सुनने का भी होता है। इस व्रत को नियम के साथ रखा जाता है। बिना व्रत कथा को सुनें ये व्रत अधूरा माना जाता है।  इसलिए पहली बार व्रत रखने वाली महिलाओं को इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि पूजा के साथ करवा चौथ व्रत कथा जरूर सुनें।

    07:54 (IST)16 Oct 2019
    ऐसे करते हैं व्रत का पारण

    इस दिन स्त्रियां निर्जला व्रत रखती हैं। घर में तरह-तरह के व्यंजन और मिठाइयां बनाती हैं। शाम को स्त्रियां पूजा करके चंद्रमा को जल का अर्घ्य देती हैं। फिर चलनी में चांद और पति को देखती हैं और पति के हाथ से पानी पीकर अपना व्रत खोलती हैं।

    07:33 (IST)16 Oct 2019
    करवा चौथ: तारीख, तिथि और शुभ मुहूर्त (Karva Chauth Date and Time)

    करवा चौथ तारीख: 17 अक्‍टूबरचतुर्थी तिथि शुरू: 17 अक्‍टूबर(गुरुवार) को सुबह 06 बजकर 48 मिनट सेचतुर्थी तिथ‍ि खत्म: 18 अक्‍टूबर को सुबह 07 बजकर 29 मिनट तककरवा चौथ व्रत का समय: 17 अक्‍टूबर को सुबह 06:27 बजे से रात 08: 16 बजे तककुल अवधि: 13 घंटे 50 मिनटपूजा का शुभ मुहूर्त: 17 अक्‍टूबर 2019 की शाम 05 बजकर 46 मिनट से शाम 07 बजकर 02 मिनट तक कुल अवधि: 1 घंटे 16 मिनट

    07:33 (IST)16 Oct 2019
    पहले करवा चौथ पर इस तरह करें श्रंगार

    पहली बार व्रत रख रहीं महिलाओं को पूरे 16 श्रृंगार के साथ ही पूजा में बैठना शुभ माना जाता है। इस दिन शगुन स्वरूप हाथ में मेंहदी भी लगानी चाहिए। जिन महिलाओं का पहला करवा चौथ है उन्हें शादी का जोड़ा पहनकर करवा चौथ पूजन करना चाहिए। अगर शादी का जोड़ा पहनना संभव ना हो तो लाल साड़ी या लहंगा भी पहन सकते हैं। पहले करवाचौथ पर दुल्हन की तरह तैयार होना चाहिए। होती हैं।

    06:59 (IST)16 Oct 2019
    Karwa Chauth 2019: Vrat Vidhi and Puja samagri

    करवा चौथ की पूजा 17 अक्टूबर है। इससे पहले आज आपको पूजा थाली में क्या जरूरी सामग्रियां होनी चाहिए, इसकी पूरी तैयारी करनी है। आज ही इन सभी सामान को जुटा कर रख लेना है। तो ये है पूरी सामग्री:

    1. छलनी2. मिट्टी का टोंटीदार करवा और ढक्कन3. सिंदूर4. फूल5. करवा चौथ की थाली6. दीपक7. मेवे8. फल9. रूई की बत्ती10. मीठी मठ्ठियां11. मिठाई12. कांस की तीलियां13. करवा चौथ कैलेंडर14. नमकीन मठ्ठियां15. रोली और अक्षत (साबुत चावल) 16. आटे का दीया17. फूल18. धूप या अगरबत्ती19. चीनी का करवा20. पानी का तांबा या स्टील का लोटा21. गंगाजल22. चंदन और कुमकुम23. कच्चा दूध, दही रऔ देसी घी24. शहद और चीनी25. गौरी बनाने के लिए पीली मिट्टी26. लकड़ी का आसन27. आठ पूरियों की अठावरी और हलवा

    22:24 (IST)15 Oct 2019
    ये हैं पूरी लिस्ट जिसके अनुसार आपको पूरा शृंगार करना चाहिए: (Karwa Chauth 16 sringar)

    करवाचौथ के दिन विवाहित महिलाओं को पूर्ण शृंगार के साथ तैयार होना चाहिए। मान्यता है कि पूर्ण शृंगार में 16 तरह के श्रृंगार महत्वपूर्ण होते हैं। सिंदूर, मंगलसूत्र, बिंदी, मेहंदी, लाल रंग के कपड़े, चूड़ियां, बिछिया, काजल, नथनी, कर्णफूल (ईयररिंग्स), पायल, मांग टीका, तगड़ी या कमरबंद, बाजूबंद, अंगूठी, गजरा

    22:20 (IST)15 Oct 2019
    मुंह मीठा करने के लिए दो-तीन खजूर खाएं

    मुंह मीठा करने के लिए दो-तीन खजूर खाए जा सकते हैं, डार्क चॉकलेट का एक छोटा पीस और घर में बनी कुल्फी के साथ अपने मील को खत्म किया जा सकता है।

    22:00 (IST)15 Oct 2019
    Karwa Chauth Pujan Talika: Know Puja Vidhi in Hindi

    21:59 (IST)15 Oct 2019
    पति की लंबी उम्र के लिए सुहागिनों को प्रार्थना के साथ इस मंत्र का उच्‍चारण करना चाहिए-

    'ऊॅ नम: शिवायै शर्वाण्यै सौभाग्यं संतति शुभाम। प्रयच्छ भक्तियुक्तानां नारीणां हरवल्लभे॥'

    21:41 (IST)15 Oct 2019
    इन चीजों से तोड़ें व्रत

    व्रत तोड़ने के दौरान तुरंत कोई हैवी चीज नहीं खाना चाहिए। व्रत तोड़ने की शुरुआत 1 ग्लास पानी से करें। इसके बाद थोड़े नट्स दो बादाम और अखरोट के साथ सूरजमुखी का बीज ले सकते हैं।

    20:51 (IST)15 Oct 2019
    कथा के बाद हर व्रती महिलाएं अपने अपने तरीके से व्रत तोड़ती हैं

    कथा के बाद हर व्रती महिलाएं अपने अपने तरीके से व्रत तोड़ती हैं। इस दौरान  छलनी में से अपने पति को देखती हैं और व्रत तोड़ने के लिए पति के हाथों से पानी की एक घूंट पीती हैं। कुछ पति भी पत्नी के लिए व्रत रखते हैं और साथ में खाना खाते हैं।

    20:33 (IST)15 Oct 2019
    सरगी में ये चीजें भी हो सकती हैं फायदेमंद

    अपनी सरगी में केला, पपीता, अनार, बेरिज़, सेब आदि फलों को शामिल करना न भूलें। हो सके तो उस दिन ऑयली खाना खाने से परहेज करें।  खाना हैवी होगा तो चक्कर सा आ सकता है। पनीर को आप खाने में ले सकते हैं।

    19:52 (IST)15 Oct 2019
    सरगी में इन चीजों को शामिल करें

    सरगी में आप ड्राइ फ्रूट्स रख सकती हैं। इसमें नट्स, सेवईं की खीर और मठरी हो। बता दें सूरज निकलने से पहले यह सब अच्छे से खाकर, खूब सारा पानी पीया जाता है। चांद निकलने के बाद कुछ नहीं खाया जाता है। 

    19:24 (IST)15 Oct 2019
    इस फिल्म से भी सरगी के बारे में जान सकते हैं

    जिसने भी ‘कभी खुशी, कभी गम' फिल्म देखी होगी तो वह बखूब सरगी से वाकिफ होगा। यह परंपरा पंजाबियों में ज्‍यादा होता है। सरगी एक तरह की खाने की थाली होती है, जो कि सास अपनी बहू के लिए लेकर आती है। इस थाली में खाने के सामान होते हैं जो सुबह जल्दी उठ के सूर्य निकलने से पहले खाया जाता है।

    19:01 (IST)15 Oct 2019
    इस दिन को खास मानती हैं सुहागिन महिलाएं

    इस दिन व्रती महिलाएं पूरे जोश और उत्साह करवा चौथ की तैयारियां करती हैं। पहने जाने वाले कपड़े से लेकर मेहंदी तक को खास महत्व देती हैं। अक्सर महिलाएं लाल और पिंक रंग पहनना ही पसंद करती हैं। उसके साथ के लिए वह नए गहनें खरीदती हैं और मेहंदी लगाती हैं।

    18:37 (IST)15 Oct 2019
    मां करवा के साथ सींक का खास है जुड़ाव

    माना जाता है कि करवाचौथ के व्रत की कथा सुनने को दौरान और पूजा करते समय सींक पास में सींक जरूर रखना चाहिए।  सींक मां करवा की शक्ति के प्रतीक के तौर पर देखा जाता है। सींक उस शक्ति का प्रतीक हैं, जिसके बल पर उन्होंने यमराज के सहयोगी भगवान चित्रगुप्त के खाते के पन्नों को उड़ा दिया था।

    17:54 (IST)15 Oct 2019
    Happy Karwa Chauth 2019: इस करवा चौथ सरगी से जुड़ी बातों को जानें

    सरगी से महिलाएं करवा चौथ के व्रत का प्रारंभ माना गया है। इस सरगी में मिठाई, सेवई, फल और मेवे आदि होते हैं जिसे सूर्योदय के समय बहू व्रत से पहले खाती है। आज हम आपको सेवई की खास रेसिपि बता रहे हैं जिसे आप अपने बहु के लिए बना सकती हैं।

    17:22 (IST)15 Oct 2019
    Happy Karwa 2019: करवा चौथ से जुड़ी इन बातों को जरूर जान लें

    चंद्रमा को देखने से पहले सुहागन महिलाएं छन्नी में सबसे पहले दीपक रखती हैं। फिर छन्नी से चांद को और फिर अपने पति को देखती हैं। इसके बाद पति अपनी पत्नी को पानी पिलाकर और मिठाई खिलाकर व्रत पूरा करवाते हैं।

    16:57 (IST)15 Oct 2019
    Karwa Chauth 2019: इस करवा चौथ सरगी में लें ये चीजें

    करवाचौथ का व्रत रखने से पहले फ्रूट्स और ड्रायफ्रूट्स जरूर खाएं। इसे खाने से आप दिनभर हेल्दी फील करेंगीं आपको दिनभर भूख नहीं लगेगी। मुट्ठीभर ड्रायफ्रुट्स और फ्रुट्स खाने से आपको दिनभर के सारे विटामिन और मिनरल मिल जाएंगें।

    14:54 (IST)15 Oct 2019
    Karwa Chauth 2019:सरगी पर क्या खाएं और कब खाएं

    करवा चौथ (Karwa Chauth or Karva Chauth) गुरुवार को यानी 17 अक्टूबर को है। इस दिन सुहागिन महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र के लिए निर्जला व्रत रखती हैं। हालांकि Nirjala fast से पहले महिलाएं सुबह-सुबह सरगी (Sargi on Karwa Chauth) खाती हैं। इसी के बाद से निर्जला व्रत शुरु होता है। सरगी में आपको हमेशा ऐसी चीजें लेनी चाहिए जिससे न तो अधिक प्यास लगे और न ही बहुत ज्यादा कमजोरी का एहसास हो।

    14:16 (IST)15 Oct 2019
    करवा चौथ व्रत रखने वाले जरूर सुनें ये कथा (Karva Chauth Katha)

    करवा चौथ व्रत को लेकर कथा इस प्रकार है। पौराणिक मान्‍यताओं के अनुसार एक साहूकार के सात लड़के व एक लड़की थी। सेठानी समेत उसकी बहुओं और बेटी ने करवा चौथ व्रत रखा था। रात्रि को साहूकार के लड़के भोजन करने लगे तो उन्होंने अपनी बहन से भोजन के लिए कहा। इस पर बहन ने जवाब दिया- 'भाई! अभी चांद नहीं निकला है, उसके निकलने के बाद ही अर्घ्‍य देकर भोजन करूंगी।' बहन की बात सुनकर भाइयों ने क्या काम किया कि नगर से बाहर जाकर अग्नि जला दी और छलनी ले जाकर उसमें से प्रकाश दिखाते हुए उन्‍होंने बहन से कहा- 'बहन! चांद निकल आया। अर्घ्‍य देकर भोजन कर लो।'

    14:16 (IST)15 Oct 2019
    Karwa Chauth 2019: Vrat Katha in Hindi part 2

    यह सुन उसने अपने भाभियों से कहा, 'आओ तुम भी चांद को अर्घ्‍य दे दो। परन्तु वे इस कांड को जानती थीं, उन्होंने कहा- "बाई जी! अभी चांद नहीं निकला है, तेरे भाई तेरे से धोखा करते हुए अग्नि का प्रकाश छलनी से दिखा रहे हैं।' भाभियों की बात सुनकर भी उसने कुछ ध्यान न दिया और भाइयों द्वारा दिखाए गए प्रकाश को ही अर्घ्‍य देकर भोजन कर लिया। इस प्रकार व्रत भंग करने से गणेश जी नाराज हो गए। इसके बाद उसका पति सख्त बीमार हो गया और घर का पूरा धन उसकी बीमारी में लग गया।

    14:15 (IST)15 Oct 2019
    Karwa Chauth 2019: Vrat Katha in Hindi Part 3

    जब उसने अपने किए हुए दोषों का पता लगा तो उसने पश्चाताप किया गणेश जी की प्रार्थना करते हुए विधि विधान से पुनः चतुर्थी का व्रत करना आरम्भ कर दिया। श्रद्धानुसार सबका आदर करते हुए सबसे आशीर्वाद ग्रहण करने में ही मन को लगा दिया। इस प्रकार उसकी श्रद्धा भक्ति सहित कर्म को देखकर भगवान गणेश उस पर प्रसन्न हो गए और उसके पति को जीवन दान दे कर उसे आरोग्य करने के पश्चात धन-संपत्ति से युक्त कर दिया। इस प्रकार जो कोई छल-कपट को त्याग कर श्रद्धा-भक्ति से चतुर्थी का व्रत करेंगे उन्‍हें सभी प्रकार का सुख मिलेगा।

    13:36 (IST)15 Oct 2019
    करवा चौथ के लिए जुटा लें ये पूजन सामग्री

    करवा चौथ व्रत रखने वाली महिलाएं इन पूजन सामग्री को घर में जुटा लें। पूजा के लिए आपको मिट्टी का टोंटीदार करवा व ढक्‍कन, जल के लिए लोटा, गंगाजल, दीया, बाती, रूई, चंदन, अगरबत्ती, कुमकुम, रोली, अक्षत, पुष्प, कच्‍चा दूध, दही, देसी घी, शहद, चीनी, हल्‍दी, चावल, मिठाई, चीनी का बूरा, मेहंदी, महावर, सिंदूर, कंघा, बिंदी, चुनरी, चूड़ी, बिछुआ, गौरी बनाने के लिए पीली मिट्टी, लकड़ी का आसन, छलनी इत्यादि जुटाना होगा।

    Next Stories
    1 Finance Horoscope Today, October 15, 2019: तुला राशि के जातकों को महिला साथी से आर्थिक लाभ, कुंभ वालों को नौकरी में लाभ का अवसर
    2 लव राशिफल 15 अक्टूबर 2019: सिंह राशि के जातकों को होगा लव पार्टनर से बहस, जानिए किसके वैवाहिक जीवन में रहेगी निराशा
    3 Horoscope Today, 15 October 2019: कर्क राशि वालों को मिलेगी हर काम में सफलता, धनु जातकों को आर्थिक लाभ