ताज़ा खबर
 

शिव का निवास माना जाता कैलाश, जानिए इस पर्वत का रहस्य

कैलाश पर समुद्र तल से लगभग 22 जहर फीट ऊंचा है और हिमालय के उत्तरी क्षेत्र तिब्बत में स्थित है। चूंकि तिब्बत चीन के अधीन है इसलिए कैलाश पर्वत चीन में आता है।

Author नई दिल्ली | April 19, 2019 8:41 PM
कैलाश पर्वत।

कैलाश पर्वत को भगवान शिव का निवास स्थान माना जाता है। साथ ही इस पर्वत को रहस्यमयी, गुप्त और पवित्र माना गया है। इसलिए इसकी परिक्रमा करना शुभ और कल्याणकारी मानी गई है। हिंदू धर्म में इस तीर्थ स्थान को बहुत अधिक महत्व दिया गया है। कैलाश पर्वत की ऊंचाई दुनिया के सबसे ऊंचे पर्वत एवरेस्ट से लगभग दो हजार दो सौ मीटर कम है। फिर भी ऐसा क्यों है कि माउंट एवरेस्ट पर लोग सात हजार से अधिक बार चढ़ाई कर चुके हैं लेकिन कैलाश पर्वत अब भी अजेय है। भगवान शिव के घर कैलाश पर्वत से जुड़े ऐसे कई रहस्य हैं जिन पर बड़े-बड़े वैज्ञानिकों द्वारा शोध किए जा रह हैं, लेकिन ऋषि-मुनियों के अनुसार उस भोले के रहस्य को भांप पाना किसी साधारण मनुष्य के वश की बात नहीं है। आगे जानते हैं कि कैलाश पर्वत का क्या रहस्य है?

कैलाश पर्वत के बारे में तिब्बत मंदिरों के धर्म गुरु बताते हैं कि कैलाश पर्वत के चारों ओर एक अलौकिक शक्ति का प्रवाह होता है। यह शक्तियां कोई आम नहीं बल्कि अद्भुत हैं। कहा जाता है कि आज भी कुछ तपस्वी इन शक्तियों के माध्यम से आध्यात्मिक गुरुओं के साथ साक्षात्कार करते हैं। कैलाश पर समुद्र तल से लगभग 22 जहर फीट ऊंचा है और हिमालय के उत्तरी क्षेत्र तिब्बत में स्थित है। चूंकि तिब्बत चीन के अधीन है इसलिए कैलाश पर्वत चीन में आता है।

जानकारों के अनुसार कैलाश पर्वत के महत्व को ऊंचाई से नहीं बल्कि इसके विशेष आकार की वजह से समझा जाता है। इस पर्वत का चौमुखी आकार दिशा बताने वाले कंपास के चार बिंदुओं जैसा माना जाता है। साथ ही कैलाश पर्वत से ही चार महान नदियों का उदय होता है। सतलज, सिंधु, ब्रह्मपुत्र और घाघरा ये चारों नदियां इस पूरे क्षेत्र को चार अलग-अलग हिस्सों में बांटती है। जो पूरे विश्व के चार भागों को दर्शाती है। कैलाश पर्वत का सबसे रहस्यमयी तथ्य ये है कि यहां समय तेजी से बीतता है।

हालांकि वैज्ञानिक इसके पीछे के कारण को ढूंढने में असफल रहे हैं। इसके अलावा कैलाश पर्वत की चोटियों पर दो झील स्थित है। पहला मानसरोवर झील जो दुनिया में सबसे अधिक ऊंचाई पर स्थित शुद्ध पानी की सबसे बड़ी झील है। यह झील 320 वर्ग कीलोमीटर के क्षेत्र में फैली हुई है। साथ ही इस झील का आकार सूर्य के समान है। दूसरा राक्षस झील है जो दुनिया में सबसे अधिक ऊंचाई पर स्थित खारे पानी की सबसे बड़ी झील है। यह झील 225 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैली हुई है। इसका आकार चंद्रमा के समान है। इन्हीं सब कारणों से कैलाश पर्वत को अद्भुत और रहस्यमयी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App