ताज़ा खबर
 

July Festivals 2020: जुलाई महीने में देवशयनी एकादशी, सावन सोमवार, तीज और चंद्र ग्रहण समेत पड़ेंगे कई प्रमुख व्रत-त्योहार

गुरु पूर्णिमा, कोकिला व्रत, सावन सोमवार, कामिका एकादशी (Kamika Ekadashi), नाग पंचमी (Nag Panchami), हरियाली तीज (Hariyali Teej), जया पार्वती व्रत, वरलक्ष्मी व्रत जैसे प्रमुख त्योहार भी इसी माह में आएंगे। जानिए जुलाई महीने के सभी प्रमुख त्योहारों की तारीख और महत्व...

july 2020 calendar, july festivals 2020, chandra grahan 2020, devshayani ekadashi 2020, sawan month 2020,6 जुलाई से सावन का पवित्र महीना प्रारंभ हो रहा है जिसकी समाप्ति 3 अगस्त को होगी।

July Festivals 2020: जुलाई के महीने की शुरुआत देवशयनी एकादशी के साथ होने जा रही है। इसी दिन से चातुर्मास का प्रारंभ हो जाएगा। इसी के साथ गुरु पूर्णिमा, कोकिला व्रत, सावन सोमवार, कामिका एकादशी, नाग पंचमी, हरियाली तीज, जया पार्वती व्रत, वरलक्ष्मी व्रत जैसे प्रमुख त्योहार भी इसी माह में आएंगे। जानिए जुलाई महीने के सभी प्रमुख त्योहारों की तारीख और महत्व…

देवशयनी एकादशी: 1 जुलाई को देवशयनी एकादशी है। साल में आने वाली सभी एकादशियों में से आषाढ़ शुक्ल पक्ष की एकादशी को काफी खास माना गया है। इसी दिन से चतुर्मास प्रारंभ हो जाते हैं जिसके बाद से चार महीनों तक सभी मांगलिक कार्यों पर रोक लग जाती है। मान्यता है कि देवशयनी एकादशी पर भगवान विष्णु योग निद्रा में चले जाते हैं।

प्रदोष व्रत: 2 जुलाई को भगवान शिव के लिए रखा जाने वाला प्रदोष व्रत पड़ रहा है। यह व्रत हर माह की दोनों त्रयोदशी तिथियों को रखा जाता है। मान्यता है कि इस व्रत को रखने से सभी प्रकार की मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती हैं।

जयापार्वती व्रत प्रारंभ: 3 जुलाई से ये व्रत प्रारंभ होगा। इस व्रत को मुख्य रूप से गुजरात में मनाया जाता है। ये व्रत अविवाहित कन्याओं के साथ-साथ विवाहित स्त्रियों के द्वारा भी किया जाता है।

कोकिला व्रत: 4 जुलाई को ये व्रत रखा जाएगा। आषाढ़ शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा को ये व्रत रखा जाता है। खास तौर पर इस पर्व को दक्षिण भारत के लिए रखते हैं। ऐसा विश्वास है कि इस व्रत को रखने वाली महिलाओं को सकारत्रय यानी सुत, सौभाग्य और संपदा की प्राप्ति होती है।

गुरु पूर्णिमा, आषाढ़ पूर्णिमा और चंद्र ग्रहण: आषाढ़ मास की पूर्णिमा तिथि के दिन गुरु पूर्णिमा मनाई जाती है। जो इस बार 5 जुलाई को पड़ रही है। इसी दिन चंद्र ग्रहण भी लगेगा। जो भारत में नहीं दिखाई देगा। इसी के साथ व्यास पूजा, गुरु पूर्णिमा भी इसी दिन है।

सावन प्रारंभ: 6 जुलाई से सावन का पवित्र महीना प्रारंभ हो रहा है जिसकी समाप्ति 3 अगस्त को होगी। सोमवार से ये महीना शुरू हो रहा है इसलिए सावन के पहले दिन ही सावन सोमवार व्रत भी रखा जाएगा।

नागपंचमी: 10 जुलाई को नागपंचमी का पर्व मनाया जायेगा। बंगाल, राजस्थान समेत कुछ अन्य क्षेत्रों में 25 जुलाई को ये पर्व मनाया जायेगा। इस दिन नागों को दूध पिलाने की परंपरा है।

कामिका एकादशी: सावन मास के कृष्ण पक्ष में आने वाली एकादशी को कामिका एकादशी के नाम से जाना जाता है। इस बार ये एकादशी 16 जुलाई को पड़ रही है। मान्यता है कि इस दिन व्रत रख भगवान विष्णु की पूजा करने से सभी पापों का नाश हो जाता है।

सावन शिवरात्रि: वैसे तो हर माह में शिवरात्रि आती है लेकिन सावन में आने वाली शिवरात्रि का खास महत्व माना गया है। इस बार यह पर्व 19 जुलाई को मनाया जायेगा। इस दिन हरिद्वार आदि शिव के तीर्थस्थलों से गंगाजल लाकर कांवड़िए इस जल से भगवान शिव का अक्षिषेक करते हैं।

सोमवती अमावस्या: इसे हरियाली अमावस्या के नाम से जाना जाता है। जो इस बार 20 जुलाई को है। सोमवार के दिन आने वाली अमावस्या को सोमवती अमावस्या कहा जाता है। इस अमावस्या को पितृकार्यों के लिए श्रेष्ठ माना गया है। इस दिन पितरों के लिए श्राद्ध और तर्पण आदि कार्य संपन्न किए जाते हैं।

हरिलायी तीज: सावन मास की शुक्ल तृतीया को हरियाली तीज पड़ती है। जो इस बार 23 जुलाई को है। इस दिन महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र के लिए व्रत रखती हैं। मान्यता है कि इस दौरान भगवान शिव कैलाश पर्वत छोड़कर पृथ्वी पर निवास करते हैं।

श्रावण पुत्रदा एकादशी: ये एकादशी 30 जुलाई को पड़ रही है। मान्यता है कि ये एकादशी उनके लिए खास है जिन दम्पत्तियों को जीवन में पुत्र सुख की प्राप्ति नहीं होती। पुत्र सुख की प्राप्ति के लिए पुत्र एकादशी का व्रत रखा जाता है। वैष्णव समुदाय के बीच श्रावण शुक्ल पक्ष एकादशी को पवित्रोपना एकादशी या पवित्र एकादशी के नाम से जाना जाता है।

वरलक्ष्मी व्रत: धन और समृद्धि की देवी लक्ष्‍मी से जुड़ा खास व्रत वरलक्ष्‍मी सबसे बड़े व्रत में एक माना जाता है। जो इस बार 31 जुलाई को रखा जाएगा। यह व्रत श्रावण माह के शुक्ल पक्ष के दसवें दिन आता है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 चाणक्य नीति: किसी भी स्थिति में व्यक्ति को नहीं खोलने चाहिए ये राज
2 Guru Rashi Parivartan: बृहस्पति गृह ने बदली अपनी राशि, जानिए आपकी लाइफ पर इस परिवर्तन का क्या पड़ेगा असर
3 इसी सप्ताह लगेगा साल का तीसरा चंद्र ग्रहण, जानिए ग्रहण से जुड़ी खास बातें
IPL 2020 LIVE
X