ताज़ा खबर
 

जया किशोरी ने बताया सफलता पाने का सरल रास्ता, कहा सब नहीं चल पाते इस राह पर

हाल ही में जया किशोरी की एक वीडियो बहुत वायरल हुई। इस वीडियो में जया किशोरी सफलता पाने के रास्ते पर बात करती नजर आ रही हैं। फेसबुक, ट्वीटर, इंस्टाग्राम और स्नैक वीडियो पर इस वीडियो के क्लिप खूब वायरल हो रहे हैं।

jaya kishori ji, jaya kishori, jaya kishori, who is jaya kishoriजया किशोरी (फाइल फोटो)

Jaya Kishori Ji/ Jaya Kishori : जया किशोरी कथा वाचिका होने के साथ-साथ मोटिवेशनल स्पीकर भी हैं। उनके भक्त उनकी बातों को बहुत मानते हैं। साथ ही उनकी वीडियो को सोशल मीडिया पर शेयर भी करते रहते हैं। हाल ही में जया किशोरी की एक वीडियो बहुत वायरल हुई। इस वीडियो में जया किशोरी सफलता पाने के रास्ते पर बात करती नजर आ रही हैं। फेसबुक, ट्वीटर, इंस्टाग्राम और स्नैक वीडियो पर इस वीडियो के क्लिप खूब वायरल हो रहे हैं।

यह वीडियो उनके ऑफिशियल यूट्यूब चैनल आए एम जया किशोरी पर 9 महीने पहले अपलोड की गई थी। इसका टाइटल ‘सफलता का सरल रास्ता मोटिवेशनल वीडियो इन हिंदी फॉर सक्सेस (Motivational Video In Hindi For Success)’ है। 3 मिनट 56 सेकेंड की इस वीडियो में किशोरी जी सफलता के आसान रास्ते को एक दैवीय कथा के माध्यम से समझा रही हैं।

देवऋषि नारद और भगवान विष्णु की कथा सुनाते हुए किशोरी जी कहती हैं कि व्यक्ति को सफलता पाने के लिए संयम, दृढ़ संकल्प, कठिन मेहनत और सकारात्मकता की जरूरत होती है। क्योंकि सफलता मिलने में समय लगता है और जिस व्यक्ति में संयम, दृढ़ संकल्प, कठिन मेहनत और सकारात्मकता के गुण नहीं होते हैं वह समय के साथ कमजोर पड़ जाता है। ऐसा व्यक्ति सफलता के आधे रास्ते पर ही हार मान लेता है।

लोग अक्सर सफलता पाने के लिए बहुत उत्सुक रहते हैं लेकिन उन्हें सफलता पाने का सही रास्ता नहीं मालूम होता है। ऐसे में किशोरी जी की यह वीडियो लोगों को बहुत प्रोत्साहित कर रही है। आज कल के समाज में सफलता के लिए जहां लोग मानसिक तनाव से पीड़ित हो हिम्मत हार रहे हैं। ऐसे में किशोरी जी का यह वीडियो समाज में सकारात्मकता को बढ़ावा दे रहा है।

आपको बता दें कि जया किशोरी देश-विदेश में श्रीमद् भागवत कथा और नानी बाई का मायरा की कथा के लिए प्रसिद्ध हैं। उन्होंने बहुत छोटी उम्र से कथा करना शुरू कर दिया था। अपने एक इंटरव्यू में जया कहती हैं कि वो गौण ब्राह्मण परिवार से हैं तो उनके घर में हमेशा से ही भक्ति भाव का माहौल रहा है। इसलिए वह बचपन से ही लिंगाष्टकम्, रुद्रष्टकम् और मधुराष्टकम् का पाठ करती आ रही हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 चालीसा और आरती के साथ करें विश्वकर्मा पूजा संपन्न, व्यापार में तरक्की के योग बनने की है मान्यता
2 सपने में मोरपंख समेत ये 5 चीजें दिखें तो बनते हैं भाग्योदय के योग, जानिये क्या कहता है स्वप्न शास्त्र
3 Sarva Pitru Amavasya 2020: इस स्तोत्र के पाठ से तृप्त होते हैं पितृ देव, जानिये इस दिन का क्या है महत्व
ये पढ़ा क्या?
X