ताज़ा खबर
 

International Yoga Day 2019: जानिए, गोरखनाथ के ‘हठयोग’ का रहस्य

गुरु गोरखनाथ की गिनती कुछ सिद्धयोगी महापुरुषों में होती है। इन्हें हठयोग का आचार्य कहा जाता है। कई लोग ये भी मानते हैं कि भगवान शिव ने ही कलियुग में योग सीखने के लिए गोरखनाथ के रूप में अवतार लिया।

International Yoga Day 2019: जानिए, गोरखनाथ के हठयोग का रहस्य

International Yoga Day 2019: गोरखनाथ आठवीं से बरहवीं सदी का एक हठयोगी थे। इतिहासकारों के अनुसार इनका जन्म बंगाल में हुआ था। गुरु गोरखनाथ के बारे में ऐसा कहा जाता है कि योग बल से मृत्यु को जीत चुके थे। इनके गुरु मत्स्येन्द्रनाथ थे और उनके गुरु शिव थे। शिव को नाथ परंपरा में आदिनाथ कहा जाता है। गुरु गोरखनाथ की गिनती कुछ सिद्धयोगी महापुरुषों में होती है। इन्हें हठयोग का आचार्य कहा जाता है। कई लोग ये भी मानते हैं कि भगवान शिव ने ही कलियुग में योग सीखने के लिए गोरखनाथ के रूप में अवतार लिया। आगे जानते हैं गुरु गोरखनाथ के हठयोग का क्या रहस्य क्या है।

आमतौर पर हठयोग का मतलब यह होता है कि कोई ऐसा योग जो अपनी क्षमता से परे जाकर करना। हठयोग में आने वाले अक्षर ‘ह’ और ‘ठ’ क्रमशः सूर्य (अग्नि) और चंद्रमा (शीतलता) से संबंधित है। इसके अलावा ये शरीर के पिंगला और इड़ा से भी संबंधित है। गोरखनाथ के अनुसार हठयोग का लक्ष्य केवल समाधि प्राप्ति के लिए है। मान्यता है कि बिना हठयोग के समाधि सिद्ध नहीं होती है। कहते हैं कि अगर हठयोग करते हुए साधक समाधि में न जाए तो यह बेकार है। साधना की प्रतिक्रिया के रूप में आदिकाल में नाथपंथियों की हठयोग साधना शुरू हुई।

इस पंथ को चलाने वाले मत्स्येन्द्रनाथ के बाद गोरखनाथ को माना जाता है। कहते हैं कि गोरक्षनाथ ने ही हठयोग की परंपरा शुरू की। पतंजलि के अष्टांग योग जहां समाप्त होता है उसके आगे से गोरखनाथ के हठयोग की प्रक्रिया शुरू होती है। आज हम हम जितने भी आसन, प्राणायाम, षट्कर्म, मुद्रा, नादानुसंधान या कुंडलिनी जागरण आदि योग की बात सुनते हैं, ये सभी इन्हीं की देन है। साधनाओं की बात करते हैं, सब इन्हीं की देन है।

Next Stories
1 Horoscope Today, June 21, 2019: मेष राशि वालों का बढ़ेगा खर्च, इन 5 राशि के जातकों को मिलेगा बिजनेस से लाभ
2 संत इंद्रदेव जी महाराज के अनुसार जानिए, अच्छे लोगों के साथ क्यों होता है बुरा
3 जानिए, शेषनाग ने पृथ्वी को क्यों किया अपने फन पर धारण ?
ये पढ़ा क्या?
X