जिसके पास हैं ये चीजें, उनके लिए स्वर्ग के समान होती है धरती; जानिये क्या कहती है चाणक्य नीति

आचार्य चाणक्य जी का कहना है कि जिस व्यक्ति का पुत्र उसकी हर बात मानता है, उसके लिए धरती किसी स्वर्ग से कम नहीं होती।

Chanakya Neeti, Chanakya Niti, Religion News
जिसकी पत्नी पतिवर्ता होती है, उसके लिए धरती भी स्वर्ग जैसी होती है

कौटिल्य के नाम से प्रसिद्ध आचार्य चाणक्य दुनियाभर में अपनी नीतियों को लेकर काफी प्रख्यात हैं। चाणक्य जी ने अपनी नीतियों के दम पर ही नंद वंश का नाश कर एक साधारण से बालक चंद्रगुप्त मौर्य को मगध का सम्राट बनाया था। महान बुद्धिजीवी चाणक्य जी ने अपनी नीतियों से समाज का हमेशा मार्गदर्शन किया है। इसिलए आज के समय में भी चाणक्य नीति बेहद ही प्रासंगिक मानी जाती है। चाणक्य नीति में कुल 17 अध्याय हैं, जिनमें मानव कल्याण की बातें बताई गई हैं।

चाणक्य जी ने अपने नीति शास्त्र में कुछ ऐसी चीजों का जिक्र किया है, जो अगर किसी व्यक्ति के पास मौजूद होती हैं तो उन लोगों के लिए धरती भी स्वर्ग के समान हो जाती है। चाणक्य जी का मानना है कि वह व्यक्ति धरती पर ही स्वर्ग पा लेता है, जिसका पुत्र आज्ञाकारी है, जिसकी पत्नी उसकी इच्छा के अनुरूप व्यवहार करती है और जिसे अपने धन पर संतोष है। पुत्र वही है जो पिता का कहना मानता हो और पिता वही है जो पुत्र का अच्छी-तरह से पालन पोषण करे। चाणक्य जी का मानना है कि मित्र वही है, जिस पर आप विश्वास कर सकते हैं और पत्नी वही है, जिससे सुख प्राप्त हो।

आज्ञाकारी पुत्र: आचार्य चाणक्य जी का कहना है कि अगर आपका पुत्र आपकी हर बात का मान रखता है, वह आपकी किसी भी बात को अनसुना नहीं करता। आपकी आज्ञा अगर आपके पुत्र के लिए पत्थर की लकीर के समान हैं तो पूरी दुनिया में आपसे ज्यादा सौभाग्यशाली कोई और व्यक्ति नहीं हो सकता। ऐसे लोगों के लिए धरती ही स्वर्ग के समान बन जाती है।

ऐसी हो पत्नी: चाणक्य जी के अनुसार अगर आपकी पत्नी संतोषी है और वह आपकी हर आज्ञा का पालन करती है। अगर आपकी पत्नी आपकी इच्छा के अनुरूप चलती है तो आपसे ज्यादा किस्मत वाला कोई दूसरा व्यक्ति नहीं है।

धन पर संतोष: जिस व्यक्ति अपने कमाए हुए धन पर संतोष होता है। जो अधिक धन कमाने के लालच में नहीं पड़ता, वह सुख से अपना जीवन व्यतीत करता है।

पढें Religion समाचार (Religion News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट