ताज़ा खबर
 

आपके हाथ में हैं दो विवाह रेखा तो सुखी रहेगा जीवन, जानिए क्या कहती है आपकी रेखा

बुध पर्वत से बाहर निकलने वाली रेखा को विवाह रेखा कहा जाता है। यह रेखा कनिष्ठिका अंगुली के नीचे और हृदय रेखा के ऊपर होती है।

जो रेखा अंगूठे के ठीक नीचे शुक्र पर्वत को घेरती है उसे जीवन रेखा कहते हैं। (सांकेतिक फोटो)

हमारे हाथ की हथेली में बहुत सी रेखाएं होती हैं, इन्हीं रेखाओं में एक वैवाहिक रेखा भी होती है जो हमारे वैवाहिक जीवन के बारे में बताती है। हस्त रेखा विशेषज्ञों को कहना है कि इस रेखा को देखकर हमारे भविष्य के वैवाहिक जीवन के बारे में बताया जा सकता है। हम एक वीडियो को जरिए ये समझाने की कोशिश कर रहे हैं कि आपकी विवाह रेखा क्या कहती है। बुध पर्वत से बाहर निकलने वाली रेखा को विवाह रेखा कहा जाता है। यह रेखा कनिष्ठिका अंगुली के नीचे और हृदय रेखा के ऊपर होती है।

अगर किसी पुरुष के बाएं हाथ में दो विवाह रेखा हैं और दाएं हाथ में एक विवाह रेखा है तो ये शुभ संकेत माना जाता है। ऐसे पुरुषों की पत्नियां सर्वगुणसम्पन्न होती हैं। साथ ही अपने पति का बहुत ध्यान रखने वाली भी मानी जाती हैं। हथेली में कनिष्ठिका अंगुली के नीचे के भाग को बुध पर्वत कहते हैं। कई बार हाथ में दो विवाह रेखा भी हो सकती हैं।

हस्त रेखा विशेषज्ञों का कहना है कि जिन लोगों के हाथ में विवाह रेखा साफ, स्पष्ट, बारीक और गहरी होती है ऐसी रेखा को हाथ में शुभ माना जाता है। वहीं अगर हाथ की रेखा साफ और कई जगह से टूटी हुई है तो इसे शुभ नहीं माना जाता। कहा जाता है कि ऐसे लोगों के वैवाहिक जीवन में परेशानियां आ सकती हैं। बताया जाता है कि विवाह रेखा हृदय रेखा के पास है तो आपकी शादी 20 साल की उम्र से पहले हो सकती है। वहीं अगर आपकी विवाह रेखा छोटी अंगुली और हृदय रेखा के बीच में हैं तो आपकी शादी 22 वर्ष के बाद होने के संकेत है।

जिन लोगों की विवाह रेखा सूर्य पर्वत की ओर जाती है तो माना जाता है इन लोगों का जीवन साथी समृद्ध और सम्पन्न परिवार से होगा। इन लोगों के जीवन में कोई परेशानी नहीं होगी। जिन लड़कियों की विवाह रेखा की शुरुआत में यदि कोई द्वीप का निशान है तो उन लड़कियों को शादी में धोखा मिल सकता है। वहीं जिन लोगों के हाथ में विवाह रेखा सामान्य होती है तो उन लोगों का वैवाहिक जीवन सुखी रहेगा।

यह जानकारी नीचे दिए गए वीडियो पर आधारित है-

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App