ताज़ा खबर
 

Hindu New Year 2019: हिंदू नववर्ष का महत्व, जानिए क्‍यों अनूठा है यह दिन

Hindu New Year 2019 Date: माना जाता है कि आदि शक्ति के कहने पर ही ब्रह्मा ने इस सृष्टि की रचना की थी। इसलिए यही कारण है कि चैत्र मास के पहले दिन को हिंदू नववर्ष के रूप में समूचे भारत में मनाया जाता है।

Hindu New Year 2019

Hindu New Year 2019: हिंदू नववर्ष 2019 की शुरुआत इस बार 6 अप्रैल, शनिवार से हो रही है। हिंदू नववर्ष का आरंभ चैत्र शुक्ल प्रतिपदा से माना जाता है। साथ ही हिंदू पंचांग के अनुसार चैत्र माह साल का पहला महीना होता है। मान्यता है कि इसी दिन आदिशक्ति देवी दुर्गा प्रकट हुईं थीं। माना जाता है कि आदि शक्ति के कहने पर ही ब्रह्मा ने इस सृष्टि की रचना की थी। इसलिए यही कारण है कि चैत्र मास के पहले दिन को हिंदू नववर्ष के रूप में समूचे भारत में मनाया जाता है।

अन्य मान्यता के अनुसार इसी दिन भारत के महान गणितज्ञ भास्कराचार्य ने महीने से से साल तक और सूर्योदय से सूर्यास्त तक की काल गणना कर पंचांग का स्वरूप दिया था। साथ ही भारतीय ग्रंथो में ऐसा लिखा है कि भगवान ब्रह्मा जी ने सृष्टि का निर्माण और भगवान विष्णु का प्रथम अवतार भी इसी दिन हुआ था। इसलिए चैत्र नवरात्रि का आरंभ इसी दिन से होता है। हिंदू नववर्ष के शुरू होने पर समय मौसम सामान्य रहता है। इस समय न ही अधिक सर्दी और न ही अधिक गर्मी होती है। सूरज की चमकती किरणें और शुद्ध मध्यम गति की हवाओं से पूरा वातावरण नया सा लगता है।

सभी वृक्षों में नई कोपलें और नए पुष्पों को देख कर स्वयं में नव चेतना का परवाह रक्त के समान हो जाता है। इसके अलावा दक्षिण भारत में इस दिन को गुड़ी पड़वा के तौर पर मनाया जाता है। मान्यता यह भी है कि चैत्र शुक्ल प्रतिपदा के दिन ही महाराजा विक्रमादित्य ने शक क्षत्रपों को परास्त कर विक्रम संवत का प्रारंभ किया था।  इसके बाद उन्होंने अपने शासन काल में एक कैलेंडर भी जारी किया था। जिसे बाद में विक्रम संवत् नाम दिया गया। इसी के अनुसार हर साल नवरात्र के पहले दिन से हिंदू नव वर्ष शुरू हो जाता है। बता दें कि राजा विक्रमादित्य ने जीत के बाद उन्होंने अपने राज्य का विस्तार किया और प्रजा के सभी तरह के कर्जों को माफ करने का ऐलान किया था। बता दें कि पहला विक्रम संवत् 57 ईसा पूर्व जारी किया गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App