Parvati Ji Ki Aarti: ‘जय पार्वती माता’ इस आरती के बिना हरतालिका तीज व्रत पूजा है अधूरी

हरतालिका तीज (Hartalika Teej) पूजा के समय माता पार्वती की इस आरती (Mata Parvati Aarti) को करना जरूरी माना जाता है। बिना इसके पूजा अधूरी मानी जाती है।

mata parvati ki aarti, mata ki aarti, parvati ji ki aarti, parvati mata aarti, hartalika teej aarti, aarti, पार्वती माता की आरती,
Mata Ki Aarti: इस दिन अन्न और जल ग्रहण नहीं किया जाता। व्रत का पारण अगले दिन माता पार्वती की पूजा करने के बाद किया जाता है।

हरतालिका तीज (Hartalika Teej 2021) व्रत अखंड सौभाग्य की प्राप्ति और सुखी वैवाहिक जीवन के लिए रखा जाता है। ये व्रत काफी कठिन होता है। इस दिन अन्न और जल ग्रहण नहीं किया जाता। व्रत का पारण अगले दिन माता पार्वती की पूजा करने के बाद किया जाता है। इस व्रत में माता पार्वती, भगवान शिव और गणेश जी की पूजा की जाती है। महिलाएं रात्रि भर जागरण करती हैं। हरतालिका तीज पूजा के समय माता पार्वती की आरती (Mata Parvati Aarti) को करना जरूरी माना जाता है।

जय पार्वती माता जय पार्वती माता
ब्रह्म सनातन देवी शुभ फल कदा दाता।
जय पार्वती माता जय पार्वती माता।।

अरिकुल पद्मा विनासनी जय सेवक त्राता
जग जीवन जगदम्बा हरिहर गुण गाता।
जय पार्वती माता जय पार्वती माता।।

सिंह को वाहन साजे कुंडल है साथा
देव वधु जहं गावत नृत्य कर ताथा।
जय पार्वती माता जय पार्वती माता।।

सतयुग शील सुसुन्दर नाम सती कहलाता
हेमांचल घर जन्मी सखियन रंगराता।
जय पार्वती माता जय पार्वती माता।।

शुम्भ निशुम्भ विदारे हेमांचल स्याता
सहस भुजा तनु धरिके चक्र लियो हाथा।
जय पार्वती माता जय पार्वती माता।।

सृष्ट‍ि रूप तुही जननी शिव संग रंगराता
नंदी भृंगी बीन लाही सारा मदमाता।
जय पार्वती माता जय पार्वती माता।।

देवन अरज करत हम चित को लाता
गावत दे दे ताली मन में रंगराता।
जय पार्वती माता जय पार्वती माता।।

श्री प्रताप आरती मैया की जो कोई गाता
सदा सुखी रहता सुख संपति पाता।
जय पार्वती माता मैया जय पार्वती माता।।

पूजा के समय इन मंत्रों का करें जप:
माता पार्वती की पूजा के लिए ये मंत्र बोलें- ऊं उमायै नम:, ऊं पार्वत्यै नम:, ऊं जगद्धात्र्यै नम:, ऊं जगत्प्रतिष्ठयै नम:, ऊं शांतिरूपिण्यै नम:, ऊं शिवायै नम: (यह भी पढ़ें- क्या गर्भवती स्त्रियां रख सकती हैं हरतालिका तीज व्रत, जानिए व्रत से जुड़े नियम)

भगवान शिव की आराधना के लिए मंत्र- ऊं हराय नम:, ऊं महेश्वराय नम:, ऊं शम्भवे नम:, ऊं शूलपाणये नम:, ऊं पिनाकवृषे नम:, ऊं शिवाय नम:, ऊं पशुपतये नम:, ऊं महादेवाय नम:

पढें Religion समाचार (Religion News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट