X

Teej 2018 Date: इस दिन मनाई जाएगी हरतालिका तीज, कुंवारी लड़कियां भी रखती हैं व्रत

Hartalika Teej 2018 Date: यह व्रत हिंदू पंचांग के मुताबिक भाद्रपद महीने के शुक्ल पक्ष की तृतीया को रखा जाता है। इस दिन विवाहित महिलाएं और अविवाहित लड़कियां व्रत रखती हैं। निर्जला व्रत रखकर शाम को अन्‍न और जल ग्रहण करती हैं।

Hartalika Teej 2018 Date: बुधवार (12 सितबंर) को हरतालिका तीज का त्योहार मनाया जा रहा है। इस त्योहार को लेकर महिलाओं में काफी उत्साह होता है। हरतालिका तीज का त्योहार एक बेहतर जीवनसाथी पाने के लिए मनाया जाता है। बीते साल 24 अगस्त को हरतालिका त्योहार मनाया गया था। यह व्रत हिंदू पंचांग के मुताबिक भाद्रपद महीने के शुक्ल पक्ष की तृतीया को रखा जाता है। इस दिन विवाहित महिलाएं और अविवाहित लड़कियां व्रत रखती हैं। निर्जला व्रत रखकर शाम को अन्‍न और जल ग्रहण करती हैं। इस दिन रखे गए व्रत को तीजा भी कहा जाता है। इससे एक दिन बाद भारत में पूरे धूमधाम से गणेश चतुर्थी का त्योहार मनाया जाता है।

शिव पुराण के मुताबिक माता पार्वती ने भी भगवान शिव को अपने पति के रूप में पाने के लिए यह व्रत रखा था। माता पार्वती ने भगवान शिव के लिए काफी तपस्या की थी, जिससे प्रसन्न होकर भगवान शिव ने माता पार्वती को अपनी पत्नी के रूप में स्वीकर किया था। बताया जाता है कि इस दिन भगवान शिव और माता पार्वती की पूजा करने से विवाह संबंधित समस्याएं दूर हो जाती हैं। विवाहित लोगों के रिश्तों में मिठास आती है और उनके रिश्तों में कभी भी कड़वाहट नहीं आती। इस दिन व्रत और पूजा करने से भगवान शिव प्रसन्न होते हैं। इसके जरिए आप अपनी सारे मनोकामनाएं पूरी कर सकते हैं। भगवान शिव और पार्वती की साथ में पूजा करने पर दोनों का साथ में आशीर्वाद मिलता है। ऐसे में आपकी जिंदगी संवर सकती है।

हरतालिका तीज पर महिलाएं बिना जल और खाने का सेवन किए हुए व्रत करती हैं। व्रत रखने वाली महिलाएं अगले दिन ही जल ग्रहण करती हैं। इस दिन पूरी रात महिलाएं भजन-कीर्तन करके रातजगा करती हैं और भगवान शिव-मां पार्वती की पूजा की जाती है। माता पार्वती और भगवान शिव की मूर्ति बनाकर उनकी पूजा करने का विधान है। व्रत रखने वाली महिलाएं इस दिन सुहाग की डिब्बी में सुहाग से संबंधित सभी चीजें रखती हैं और उन्हें मां पार्वती को चढ़ाती हैं और वहीं शिवजी को धोती और अंगोछा अर्पित किया जाता है।