ताज़ा खबर
 

Hartalika Teej 2017: इस दिन की जाती है शिव और पार्वती की पूजा, अखंड सौभाग्य के लिए महिलाएं रखती हैं व्रत

Hartalika Teej 2017 Puja: आज (24 अगस्त) को हरितालिका तीज का त्योहार मनाया जा रहा है। इस दिन विवाहित महिलाएं और अविवाहित लड़कियां व्रत रखती हैं। इस दिन रखे गए व्रत को तीजा भी कहा जाता है।

सांकेतिक तस्वीर।

आज (24 अगस्त) को हरितालिका तीज का त्योहार मनाया जा रहा है। इस दिन विवाहित महिलाएं और अविवाहित लड़कियां व्रत रखती हैं। इस दिन रखे गए व्रत को तीजा भी कहा जाता है। यह व्रत हिंदू पंचांग के मुताबिक भाद्रपद महीने के शुक्ल पक्ष की तृतीया को रखा जाता है। इससे एक दिन बाद गणेश चतुर्थी का त्योहार मनाया जाता है। हरितालिका तीज का व्रत विवाहित महिलाएं अपने अखंड सौभाग्य की कामना और अविवाहित लड़कियां अच्छे वर की कामना के लिए रखती हैं। शिव पुराण के मुताबिक माता पार्वती ने भी भगवान शिव को अपने पति के रूप में पाने के लिए यह व्रत रखा था। माता पार्वती ने भगवान शिव के लिए काफी तपस्या की थी, जिससे प्रसन्न होकर भगवान शिव ने माता पार्वती को अपनी पत्नी के रूप में स्वीकर किया था।

इस दिन महिलाएं बिना जल और खाने का सेवन किए हुए व्रत करती हैं। व्रत रखने वाली महिलाएं अगले दिन ही जल ग्रहण करती हैं। इस दिन पूरी रात महिलाएं भजन-कीर्तन करके रातजगा करती हैं और भगवान शिव-मां पार्वती की पूजा की जाती है। माता पार्वती और भगवान शिव की मूर्ति बनाकर उनकी पूजा करने का विधान है। व्रत रखने वाली महिलाएं इस दिन सुहाग की डिब्बी में सुहाग से संबंधित सभी चीजें रखती हैं और उन्हें मां पार्वती को चढ़ाती हैं और वहीं शिवजी को धोती और अंगोछा अर्पित किया जाता है।

बताया जाता है कि इस दिन भगवान शिव और माता पार्वती की पूजा करने से विवाह संबंधित समस्याएं दूर हो जाती हैं। विवाहित लोगों के रिश्तों में मिठास आती है और उनके रिश्तों में कभी भी कड़वाहट नहीं आती। इस दिन व्रत और पूजा करने से भगवान शिव प्रसन्न होते हैं। इसके जरिए आप अपनी सारे मनोकामनाएं पूरी कर सकते हैं। भगवान शिव और पार्वती की साथ में पूजा करने पर दोनों का साथ में आशीर्वाद मिलता है। ऐसे में आपकी जिंदगी संवर सकती है।

Next Stories
1 चार द‍िन में दो रेल हादसे: जान‍िए ग्रह-राश‍ि के ह‍िसाब से क्‍या है दुर्घटनाओं के कारण व उपाय
2 Ganesh Chaturthi 2017: जानें- क्यों मनाई जाती है गणेश चतुर्थी और क्या है इसका महत्व
3 साल का दूसरा सबसे बड़ा सूर्य ग्रहण हुआ खत्म, 99 वर्ष बाद अमेरिका में दिखा पूर्ण ग्रहण
ये पढ़ा क्या?
X