ताज़ा खबर
 

Gupt Navratri: गुप्त नवरात्रि की हुई शुरुआत, 10 महाविद्याओं की होती है पूजा, जानिए शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

Magh Gupt Navratri: गुप्त नवरात्र में तंत्र साधना, महाकाल की खास पूजा का विशेष महत्व है। इन दौरान 9 दिनों तक संकल्प लेकर व्रत रखना होता है। इस दौरान प्रत्येक दिन सुबह और शाम को मां दुर्गा की आराधना करनी होती है।

Gupt navratri, gupt navratri 2020, Gupt navratri puja vidhi, magh mas gupt navratri , Gupt navratri puja vidhi, Durga Puja, Gupt navratri shubh muhurat, गुप्त नवरात्रि, माघ गुप्त नवरात्रि, गुप्त नवरात्रि कलश स्थापना, गुप्त नवरात्रि पूजा शुभ मुहूर्तमाघ गुप्त नवरात्रि के दौरान देवी के साधक पूजा से संबन्धित कड़े नियमों का पालन करते हैं।

Gupt Navratri 2020: वैसे तो हम सभी दो नवरात्रि के बारे में जानते हैं और उन्हें धूमधाम से मनाते हैं लेकिन सनातन मान्यताओं के मुताबिक चार नवरात्र होते हैं। पहला शारदीय और दूसरा चैत्र नवरात्र के बारे में सभी जानते हैं। इनके अलावा दो और नवरात्र पड़ते हैं। इन दो नवरात्र को गुप्त नवरात्र कहते हैं। गुप्त नवरात्र माह और आषाढ़ महीने में पड़ते हैं। जिनमें आज से माघ महीने में पड़ने वाले गुप्त नवरात्र की शुरूआत हो रही है।

गुप्त नवरात्र में विशेष तौर पर तंत्र साधना को महत्व दिया जाता है। इस दौरान खास पूजा के जरिए मनवांछित फल पाया जा सकता है। साथ ही इन दिनों देवी मां की भी पूजा की जा सकती है। गुप्त नवरात्र इस माघ माह में 25 जनवरी से शुरू होकर 4 फरवरी तक चलेंगे। गुप्त नवरात्र में 10 महाविद्याओं की साधना करनी होती है। इस दौरान मां काली, तारा देवी, त्रिपुर सुंदरी, भुवनेश्वरी, माता छिन्नमस्ता, त्रिपुर भैरवी, मां ध्रुमावती, मां बंगलामुखी, मातंगी और कमला देवी की साधना करनी होती है।

गुप्त नवरात्र में तंत्र साधना, महाकाल की खास पूजा का विशेष महत्व है। इन दौरान 9 दिनों तक संकल्प लेकर व्रत रखना होता है। इस दौरान प्रत्येक दिन सुबह और शाम को मां दुर्गा की आराधना करनी होती है। इसके साथ अष्टमी या नवमी पर कन्या पूजन कर व्रत तोड़े जाते हैं। गुप्त नवरात्रि में दुर्गा चालीसा और दुर्गा सप्तशी का पाठ भी करना होता है। मान्यताओं के अनुसार, इन दिनों की पूजा के बारे में किसी को जानकारी नहीं देनी होती है। गुप्त रूप से देवी मां और महाशक्ति की आराधना करने के चलते ही इन्हें गुप्त नवरात्र कहा जाता है।

माघ महीने के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि लग चुकी है। 25 जनवरी दिन शनिवार की तड़के 3.11 बजे ही तिथि लग चुकी है। यह अगल दिन यानी 26 जनवरी को तड़के 4.31 तक रहेगी। इस दौरान घटस्थापना का शुभ मुहूर्त सुबह 10.04 से 10.59 तक रहेगा। इस दौरान 55 मिनट का समय मिलेगा। वहीं, घटस्थापना का अभिजीत मुहूर्त दोपहर 12.28 से 1.13 तक है। माघ गुप्त नवरात्रि के दौरान देवी के साधक पूजा से संबन्धित कड़े नियमों का पालन करते हैं। शास्त्रों में गुप्त नवरात्रि को गुप्त सिद्धियों को पाने का साधना काल बताया गया है।

Next Stories
1 आज का पंचांग (Aaj Ka Panchang) 25 January 2020: आज से माघ गुप्त नवरात्रि शुरू, जानिए घटस्थापना का शुभ मुहूर्त समेत राहुकाल का समय
2 लव राशिफल 25 जनवरी 2020: कर्क राशि के जातकों को पार्टनर से मिल सकता है रोमांचक संदेश, जानें बाकी राशियों का हाल
3 Horoscope Today, 25 January 2020: आज से शुरू हो रही है गुप्त नवरात्रि, जानिए किस राशि के जातकों पर रहेगी माता की कृपा
यह पढ़ा क्या?
X