ताज़ा खबर
 

GOOD FRIDAY 2018: जानिए कब मनाया जाएगा गुड फ्राइडे

Good Friday 2018 Date: धार्मिक पुस्तकों के मुताबिक, यीशु युवा होने के साथ ही घूम-घूमकर लोगों को मानवता और शांति का संदेश देने लगे। उन्होंने धर्मगुरुओं को अंधविश्वास फैलाने वाला और मानव जाति का शत्रु बताया।

Good Friday 2018 Date: ईसाई धर्म के लोगों के लिए गुड फ्राइडे का विशेष महत्व है।

गुड फ्राइडे के दिन ईसाई धर्म के अनुयायी चर्च जाकर प्रभु यीशु को याद करते हैं। बाइबल ग्रंथ के अनुसार, इस दिन ईसा मसीह ने धरती पर बढ़ रहे पाप की वजह से अपना बलिदान दिया था। ईसा मसीह ने यातनाएं सहते हुए मानवता के लिए अपने प्राण त्याग दिए थे। इस साल गुड फ्राइडे 30 मार्च को मनाया जाएगा। शुक्रवार के दिन ही ईसा मसीह को सूली पर चढ़ाया गया था। धार्मिक ग्रंथ के मुताबिक, ईसा मसीह अपनी मौत के तीन दिन बाद दोबारा से जीवित हो गए, जिसकी खुशी में ईसाई धर्म के अनुयायी ईस्टर सण्डे मनाते हैं।

ईसाई धर्म के लोगों के लिए गुड फ्राइडे का विशेष महत्व है। इस दिन श्रद्धालु प्रभु यीशु को दी गई यातनाओं को याद करते हैं। कई जगहों पर लोग रात के समय काले वस्त्र पहनकर यीशु की छवि लेकर मातम मनाते हुए पद-यात्रा निकालते हैं। ईसाई लोग गुड फ्राइडे को प्रायश्चित के रूप में मनाते हैं। इस दिन चर्च में घंटियां नहीं बजाई जाती हैं। लोग ईसा मसीह के प्रतीक क्रॉस का चुंबन कर ईश्वर को याद करते हैं। गुड फ्राइडे पर विश्व भर के ईसाई चर्च में सामाजिक कार्यो को बढ़ावा देने के लिए दान देते हैं।

धार्मिक पुस्तकों के मुताबिक, यीशु युवा होने के साथ ही घूम-घूमकर लोगों को मानवता और शांति का संदेश देने लगे। उन्होंने धर्मगुरुओं को अंधविश्वास फैलाने वाला और मानव जाति का शत्रु बताया। दरअसल, ईसा मसीह अन्याय, घोर विलासिता तथा अज्ञानता का अंधकार दूर करने के लिए लोगों को शिक्षा दे रहे थे। उनके संदेशों से परेशान होकर धर्मगुरुओं ने रोम के शासक को भड़का दिया, जिसके बाद उन्हें मृत्यु-दंड दे दिया गया। ईसा मसीह को जब सूली पर चढ़ाया गया तो इससे पहले उन्हें काफी यातनाएं दी गईं। उन्हें कांटों का ताज पहनाया गया। उन्हें कीलों के जरिए सलीब पर टांग दिया गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X