ताज़ा खबर
 

धनतेरस 2017: जानिए किस वक्त क्या खरीदना चाहिए, ये है शॉपिंग का शुभ मुहूर्त

Dhanteras 2017 Shopping Muhurat, Time: सही समय में कार्य किया जाए तो सरलतापूर्वक की संभावना ज्यादा होती है, धनतरेस का दिन बहुत ही शुभ दिन माना जाता है। इस दिन माता लक्ष्मी के साथ भगवान धनवंतरी की पूजा की जाती है।

Dhanteras 2017 Shopping Muhurat: मुहूर्त शास्त्र कहता है कि हर कार्य और क्रिया का एक विशिष्ट काल होता है।

धनत्रयोदशी को सामान्यत: नई वस्तुओं के क्रय का काल माना जाता है। लोग गाड़ी से लेकर गहने तक इस पावन दिवस में ही घर लाना चाहते हैं। मान्यता है कि इस दिन खरीददारी करने पर धन 13 गुना तक बढ़ जाता है।मुहूर्त शास्त्र कहता है कि हर कार्य और क्रिया का एक विशिष्ट काल होता है। यदि सही समय में कार्य किया जाए तो सरलतापूर्वक की संभावना ज्यादा होती है। इस बार धनतेरस मंगलवार को है। लिहाजा मान्यताओं के चश्मे से सोने, चांदी और वाहन खरीदने के लिए इस बार की धनतेरस बहुत शुभ नजर आ रही है। लेकिन सनद रहे कि कोई भी खरीदारी आपकी आवश्यकता से अवश्य जुड़ी हो। अनावश्यक शॉपिंग भविष्य पर नकारात्मक असर डालती है।

इस धनतेरस पर यदि आप गाड़ी खरीदना चाहते हैं तो उसे चर चौघड़िया या अमृत चौघड़िया में खरीदना चाहिए। यदि चांदी खरीदना चाहते हैं तो इसे अमृत चौघड़िया में खरीदें। स्वर्ण के आभूषण का क्रय अमृत या शुभ चौघड़िया में करें। हीरे के गहने खरीदने के लिए शुभ और चर चौघड़िया का चुनाव करें। स्टील के बर्तन शुभ चौघड़ियामें खरीदना चाहिए। ताम्बे का बर्तन लाभ चौघड़िया में और पीतल के पात्र शुभ और अमृत चौघड़िया में घर लाना चाहिए। इलेक्ट्रॉनिक्स आइटम लाभ चर चौघड़िया में घर लायें। संपत्ति सम्बंधित व्यवहार शुभ या अमृत चौघड़िया में करें। भूल कर भी धनतेरस की खरीदारी रोग या उद्वेग चौघड़िया में न करें। इस दिन शुभ समय में ही खरीददारी करेंगे तो वो आपके लिए शुभ होगा।

प्रातः 6.30- प्रातः 8.00- रोग
प्रातः 8.00- प्रातः 09.30- उद्वेग
प्रातः 09.30- प्रातः 10.00-चर
दिन 10.00- दोपहर 12.30- लाभ
दोपहर 12.30- दोपहर 2.00- अमृत
दोपहर 2.00-संध्या 3.30-काल
संध्या 3.30-संध्या 4.00-शुभ
संध्या 4.00-संध्या 6.30-रोग

संध्या 6.30-रात्रि 7.00-काल
रात्रि 7.00-रात्रि 9.30- लाभ
रात्रि 9.30-रात्रि 11.00-उद्वेग
रात्रि 11.00-मध्य रात्रि 12.30- शुभ
मध्य रात्रि 12.30-प्रातः 2.00-अमृत

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App