ताज़ा खबर
 

Career में तरक्की के लिए ज्योतिष इन रत्नों को पहनने की देते हैं सलाह

रत्न सलाह (Ratna Astrology): सफल फिल्म अभिनेता, प्रड्यूसर, गायक, डायरेक्टर बनने के लिए ओपल धारण करने की सलाह दी जाती है। तो सरकारी नौकरी में प्रमोशन के लिए माणिक और पन्ना पहनना अच्छा माना गया है।

मंगल को मजबूत करने के लिए मूंगा पहनना चाहिए। ओपल या हीरा शुक्र ग्रह से संबंधित है। बुध के लिए पन्ना पहना जाता है।

Astrology Gemstones: आपने बहुत से लोगों को हाथों में रत्न पहने देखा होगा। अलग अलग रंग के ये रत्न किसी न किसी ग्रह से संबंध रखते हैं। जब कुंडली का कोई ग्रह खराब हो तो उससे संबंधित रत्न पहनने की सलाह दी जाती है। करियर को लेकर कौन सा रत्न आपको सूट करेगा ये इस बात पर निर्भर करता है कि आप किस दिशा में सफलता पाना चाहते हैं। यदि आप प्रशासनिक क्षेत्र में, राजनीति में, उच्च प्रशासनिक क्षेत्र में या फिर एक सफल न्यायाधीश बनने की चाह रखते हैं तो आपको पुखराज पहनना चाहिए। इससे देव गुरु बृहस्पति बलवान होते हैं।

प्रोफेशन के अनुसार धारण करें रत्न: माणिक्य रत्न पहनने से साहस में वृद्धि होती है। जिससे आप प्रशासनिक क्षेत्र में सफलता हासिल करते हैं। सफल फिल्म अभिनेता, प्रड्यूसर, गायक, डायरेक्टर बनने के लिए ओपल धारण करने की सलाह दी जाती है। पन्ना धारण करने से बैंकिंग, इनकम टैक्स, चार्टर्ड अकाउंटेंट, डॉक्टर आदि सेवाओं में सफलता हासिल होती है। सफल राजनेता, मशहूर वकील आदि बनने के लिए गोमेद धारण करना चाहिए। सरकारी नौकरी में प्रमोशन के लिए माणिक और पन्ना पहनना अच्छा माना गया है। पुलिस या फौज में जाने के लिए या बड़ा खिलाड़ी बनने के लिए मूंगा पहनने की सलाह दी जाती है। छोटी मशीनों से काम करने वाले, तेल, पेट्रोल, डीजल का काम करने वाले, कबाड़ या बिजली व्यापारी, लोहे से संबंधी काम करने वालों को नीलम पहनना चाहिए।

Sun Transit 2020: सूर्य के राशि परिवर्तन से 4 राशि वालों को नौकरी और व्यापार में मिलेंगे लाभ

किस ग्रह के लिए कौन सा रत्न: मंगल को मजबूत करने के लिए मूंगा पहनना चाहिए। ओपल या हीरा शुक्र ग्रह से संबंधित है। बुध के लिए पन्ना पहना जाता है। चंद्र को मजबूत करने के लिए मोती पहनना चाहिए। माणिक रत्न सूर्य से संबंधित है। पुखराज बृहस्पति से और नीलम शनि से संबंधित है। गोमेद राहु को शांत करने के लिए पहना जाता है तो लहसुनिया केतु के लिए।

Next Stories
1 महाभारत: युधिष्ठिर ने समस्त नारी जाति को इसलिए दिया था श्राप
2 Chanakya Niti: बीते समय से शक्ति बटोरो और सजग होकर गढ़ो अपना वर्तमान, भविष्य खुद ही संवर जायेगा
3 Bada Mangal 2020: ज्येष्ठ माह के मंगलवार बजरंगबली की अराधना के लिए क्यों माने गये हैं खास, जानिए
आज का राशिफल
X