शिव के इस मंदिर में होती है तांडव आरती, जानें कहां है यह!

गेंदेश्वर महादेव मंदिर इंदौर के परदेशीपुरा में स्थित है। बताया जाता है कि इस मंदिर में तकरीबन पिछले 15 साल से तांडव आरती हो रही है।

Tandav Aarti, Tandav Aarti temple, Tandav Aarti mandir, Tandav Aarti in temple, Tandav Aarti video, Gangeshwar Mahadev Temple, Gangeshwar Mahadev Temple facts, Gangeshwar Mahadev Temple pics, religion news
तांडव आरती के समय की तस्वीर। (Youtube Screenshot)

मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में शिव जी का एक बड़ा ही प्रसिद्ध मंदिर है। इसे गेंदेश्वर महादेव मंदिर के नाम से जाना जाता है। इस मंदिर की खास बात यह है कि यहां पर शिव जी की तांडव आरती की जाती है। जी हां, मंदिर के पुजारी विश्वजीत शर्मा अपने एक पैर पर खड़ा होकर तांडव आरती करते हैं। यह आरती लगभग एक घंटे तक चलती है। तांडव आरती को देखने के लिए लोग दूर-दूर से यहां पर आते हैं। सावन के महीने में गेंदेश्वर महादेव मंदिर का नजारा देखने लायक होता है। इस समय मंदिर में भक्तों की भारी भींड़ लगती है। और भक्तों में तांडव आरती को लेकर विशेष उत्साह पाया जाता है।

गेंदेश्वर महादेव मंदिर इंदौर के परदेशीपुरा में स्थित है। बताया जाता है कि इस मंदिर में तकरीबन पिछले 15 साल से तांडव आरती हो रही है। तांडव आरती के दौरान पुजारी जी 1100 रुद्राक्ष को धारण किए हुए होते हैं। आरती के समय मंदिर के पुजारी विश्वजीत शर्मा तांडव नृत्य की विभिन्न मुद्राओं का प्रदर्शन करते हैं। पंडित की इन मुद्राओं को देखकर भक्त हैरान रह जाते हैं। साथ ही तांडव आरती देखकर भक्तों में उत्साह भी खूब पैदा होता है। मंदिर आए भक्त इस अनोखी आरती की यादें अपने साथ लेकर जाते हैं।

गेंदेश्वर महादेव मंदिर के गर्भगृह में 12 ज्योतिर्लिंग और चारों धाम की प्रतिमाएं हैं। इस प्रकार से इस मंदिर की महत्ता और भी बढ़ जाती है। मालूम हो कि तांडव आरती को अलग-अलग नामों से भी जाना जाता है। कुछ लोग इसे ओंकार आरती कहकर भी पुकारते हैं। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, गेंदेश्वर महादेव मंदिर विश्व में अकेला ऐसा मंदिर है जहां पर तांडव आरती की जाती है। तांडव आरती का हिस्सा बनना सौभाग्य माना गया है। कहते हैं कि इससे शिव जी की विशेष कृपा प्राप्त होती है।

पढें Religion समाचार (Religion News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।