Ganesh Visarjan 2021: अनंत चतुर्दशी के दिन कैसे करें गणेश विसर्जन, जानिए पूजा विधि और शुभ मुहूर्त

Ganesh Visarjan On Anant Chaturdashi 2021: जिस तरह से गणेश जी की स्थापना धूम धाम से की जाती है उसी तरह गणेश जी की विदाई भी ढोल-नगाड़ों के साथ की जाती है।

ganesh visarjan 2021, ganesh visarjan muhurat, Anant Chaturdashi 2021, Anant Chaturdashi muhurat, ganesh visarjan timing, Anant Chaturdashi vidhi,
इस साल गणेश विसर्जन 19 सितंबर को है। इस दिन गणपति बप्पा की मूर्ति को जल में प्रवाहित किया जाता है।

Ganesh Visarjan/Anant Chaturdashi 2021: गणेश चतुर्थी को गणेश जी की स्थापना की जाती है तो अनंत चतुर्दशी के दिन गणेश जी की विदाई की जाती है। इस साल गणेश विसर्जन 19 सितंबर को है। इस दिन गणपति बप्पा की मूर्ति को जल में प्रवाहित किया जाता है। महाराष्ट में ये पर्व गणेशोत्सव के नाम से जाना जाता है जो कि पूरे 10 दिनों तक चलता है। जिस तरह से गणेश जी की स्थापना धूम धाम से की जाती है उसी तरह गणेश जी की विदाई भी ढोल-नगाड़ों के साथ की जाती है।

गणेश विसर्जन की विधि:
-गणेश जी की प्रतिमा को विसर्जित करने से पहले उसकी विधि विधान पूजा करें।
-इसके बाद उन्हें मोदक और फल का भोग लगाएं।
-गणेश जी की आरती उतारें और उनसे विदा लेने की प्रार्थना करें।
-अब एक पटरी लें उस पर गुलाबी कपड़ा बिछाएं और उस पर गंगाजल जरूर छिड़कें।
-फिर गणेश जी की प्रतिमा को लकड़ी के पटरे पर रखें।
-इसके साथ फल फूल, कपड़े और मोदक रखें।
-फिर चावल, गेहूं और पंचमेवा रखकर एक पोटली तैयार करें और उसमें कुछ सिक्के भी डालें।
-इस पोटली को गणेश जी की प्रतिमा के साथ रखें।
-इसके बाद गणेश जी की प्रतिमा को विसर्जन के लिए ले जायें।
-विसर्जन से पहले एक बार फिर गणेश जी की आरती करें और उनसे अगले वर्ष जल्द आने की प्रार्थना करें।
-गणपति जी से अपने परिवार की खुशहाली और मनोकामना पूर्ण करने का अनुरोध करें।
-फिर गणेश जी की मूर्ति को बहते हुए जल में विसर्जित कर दें।

गणेश विसर्जन का शुभ मुहूर्त: 19 सितंबर को गणेश जी की प्रतिमा के विसर्जन का शुभ मुहर्त ये रहेगा
प्रातः मुहूर्त- 07:40 ए एम से 12:15 पी एम
अपराह्न मुहूर्त- 01:46 पी एम से 03:18 पी एम
सायाह्न मुहूर्त- 06:21 पी एम से 10:46 पी एम
रात्रि मुहूर्त- 01:43 ए एम से 03:12 ए एम, सितम्बर 20
उषाकाल मुहूर्त- 04:40 ए एम से 06:08 ए एम, सितम्बर 20
चतुर्दशी तिथि प्रारम्भ- 19 सितम्बर 2021 को 05:59 ए एम बजे
चतुर्दशी तिथि समाप्त- 20 सितम्बर 2021 को 05:28 ए एम बजे (यह भी पढ़ें- महालक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए 29 सितंबर तक का समय खास, जानिए किन उपायों से आर्थिक संकट हो सकते हैं दूर)

अनन्त चतुर्दशी 2021: अनन्त चतुर्दशी के दिन भगवान विष्णु के अनन्त रूप की पूजा की जाती है। इस दिन कई लोग उपवास रखते हैं और पूजा के दौरान पवित्र धागा बांधते हैं। अनन्त चतुर्दशी पूजा का शुभ मुहूर्त 06:08 ए एम से 05:28 ए एम, सितम्बर 20 तक रहेगा। (यह भी पढ़ें- ज्योतिष शास्त्र अनुसार जिन लड़कों का नाम इन अक्षर से होता है शुरू, वो बेस्ट हस्बैंड होते है साबित)

पढें Religion समाचार (Religion News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट