ताज़ा खबर
 

पन्ना रत्न में छुपे हैं कई रहस्य, अगर आपने भी कर रखा है धारण तो रखें इन 7 बातों का ख्याल

ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक बुध के लिए पन्ना रत्न पहनना चाहिए।

ज्योतिष शास्त्र में मुख्य रूप से नौ रत्न होते हैं, जिन्हें पहना जाता है।

कई लोग शोक के लिए रत्न गृहण करते हैं। ज्योतिष शास्त्र में रत्न पहनने के कई निर्देश दिए गए हैं। कई लोग विशेषज्ञों के अनुसार रत्न पहनते हैं तो वहीं कई लोग बिना किसी सलाह के। ज्योतिष शास्त्र में मुख्य रूप से नौ रत्न होते हैं, जिन्हें पहना जाता है। जानकारी के मुताबिक सूर्य को खुश करने के लिए माणिक गृहण करते हैं। मंगल को खुश करने के लिए मूंग, गुरु के लिए पुखराज, शनि के लिए नीलम, शुक्र के लिए हीरा, चंद्र के लिए मोती धारण किया जाता है तो वहीं बुध के लिए पन्ना पहना जाता है। लेकिन इन सब रत्नों को पहनने के लिए खास दिन और समय होता है। कौनसा रत्न किस दिन पहनना है ये विशेषज्ञों की निर्देषों के अनुसार ही पहनना चाहिए।

जानकार पन्ना रत्न को बुध ग्रह का रत्न मानते हैं। क्योंकि इसका स्वामी बुध है। जानकार कहते हैं बिलकुल शुद्ध रत्न का पन्ना मिलना काफी मुश्किल होता है। कई बार बाजार में दोषपूर्ण पन्ना मिलता है तो काफी दोषपूर्ण होता है। ऐसे रत्नों का पहनना काफी नुकसानदायी होता है। आज हम आपके लिए लाए हैं खासतौर पर पन्ना रत्न की जानकारी। अगर आप ये सब पहनना है तो ये निर्देष अपनाकर आप पन्ना पहन सकते हैं।

पन्ना पहने के खास तरीके- अगर आप पन्ना पहन रहे हैं तो ऐसा पन्ना नहीं पहनना चाहिए ऐसा पन्ना छोटी-छोटी टूटी हुई धारियां हों। ये वंश वृद्धि के लिए घातक सिद्ध होता है। वहीं अगर आपका पन्ना खुरदरा है तो इससे आपके पशुओं में नुकसान उठाना पड़ सकता है। अगर आपका पन्ना थोड़ा-बहुत जला सा दिखे तो ऐसा पन्ना भी अशुभ माना जाता है। ऐसा पन्ना धारण करने से अस्वस्थता होती है।

अगर पन्ना में रक्त के समान बिंदु दिखे तो कभी नही पहनना चाहिए। ऐसा रत्न पहनने से घर में सुख संपत्ति का नाश होता है। वहीं अगर पन्ने में आपको पीली बिंदियां दिख रही हैं तो आपको ये भी कभी नहीं पहनना चाहिए। ऐसा पन्ना पहनने से पुत्र नाश की स्थिति पैदा हो सकती है। वहीं अगर इसमें आपको सोने जैसा रंग दिखे तो भी कभी नहीं पहनना चाहिए क्योंकि इससे हर प्रकार का कष्ट हो सकता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App