ताज़ा खबर
 

Happy Basant Panchami 2018: इन मैसेजेस, PHOTOS, ग्रीटिंग्स और SMS से दे अपने दोस्तों को बसंत पंचमी की बधाई

Happy Basant Panchami 2018 Images: इस वर्ष बसंत पचमी का त्योहार 22 जनवरी के सेलिब्रेट किया जा रहा है। वसंत पंचमी के पीछे मौसम बदलने का महत्व भी है। इस दिन प्रकृति खेत-खलियानों को पीले रंग के फूलों से सजा देती है।

माता सरस्वती को ज्ञान और बुद्धि की देवी कहा जाता है।

Happy Basant Panchami 2018 Wishes Images: बसंत पचमी का त्योहार पूरे भारत और विश्वभर में बसे हिंदुओं द्वारा धूमधाम से मनाया जाता है। यह त्योहार हिंदू पंचाग के अनुसार माघ मास के शुक्ल पक्ष के पांचवे दिन मनाया जाता है। इस वर्ष बसंत पचमी का त्योहार 22 जनवरी के सेलिब्रेट किया जा रहा है। बसंत पचमी के पीछे मौसम बदलने का महत्व भी है। इस दिन प्रकृति खेत-खलियानों को पीले रंग के फूलों से सजा देती है। वहीं बसंत पचमी के दिन मां सरस्वती की पूजा की जाती है। मान्यता है कि इस दिन वाणी और बुद्धि की देवी सरस्वती का जन्म हुआ था। सरस्वती ने पृथ्वी पर उदासी को खत्म कर सभी जीव-जंतुओं को वाणी दी थी।

माता सरस्वती को ज्ञान-विज्ञान, संगीत, कला और बुद्धि की देवी भी माना जाता है। इसलिए यह दिन विद्यार्थियों, लेखकों और कलाकारों के लिए खास महत्व रखता है। आइए हम आपको बसंत पचमी त्योहार के कुछ खास मैसेजेस के बारे में बताते हैं। इन मैसेजेस के जरिए आप अपने रिश्तेदारों और दोस्तों को शुभकामनाएं और बधाई भेज सकते हैं।

Happy Basant Panchami 2018 Images: इन शानदार वॉट्सऐप, फेसबुक मैसेज और फोटोज से दे अपने दोस्तों को शुभकामनाएं

सरसो के पीले-पीले फूल खिले हैं,

बरसे रंग पीला आसमान से,

सबके जीवन में महके सुंगध,

आपको बधाई वसंत पंचमी का त्योहार।

Basant Panchami 2018: जानिए बसंत पंचमी के दिन क्यों की जाती है सरस्वती माता की पूजा

सरस्वती पूजा का यह प्यारा त्योहार

जीवन में खुशी लाएगा अपार

सरस्वती विराजे आपके द्वार

शुभकामनाएं हमारी करें स्वीकार वसंत पंचमी की हार्दिक शुभकामनाएं।

वीणा लेकर हाथ में, सरस्वती हो आपके साथ में

मिले मां का आशीर्वाद आपको हर दिन, हर वार

मुबारक हो वसंत पंचमी का त्योहाक

वसंत पंचमी की हार्दिक शुभकामनाएं।

जीवन का यह वसंत

खुशियां दें अनंद

प्रेम और उत्साह से

भर दें जीवन में रंग।

लो वसंत फिर आई, फूलों पर रंग लायी,

बजे जल तरंग मन पर उमंग छायी लो वसंत फिर आई।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App