ताज़ा खबर
 

Eid-ul-Fitr 2020 Date: अगर कल दिखाई दिया चांद तो 24 मई को मनाई जा सकती है ईद

Eid-ul-Fitr 2020 Date in India (ईद-उल-फितर 2020 कब है): इस दिन मुस्लिम समुदाय के लोग अपने घरों में मीठे पकवान खासतौर पर सेंवईं बनाते हैं। अपनों से गले मिलकर आपस के गिले शिकवे दूर करते हैं। इस्लाम धर्म का यह त्योहार भाईचारे का संदेश देता है।

Eid-ul-Fitr 2020 Date: मीठी ईद के ढाई महीने के बाद ईद-उल-अजहा आती है।

Eid-ul-Fitr 2020 Date in India: रमजान का पाक महीना खत्म होने के बाद ईद का त्योहार मनाया जाता है। ईद की तारीख चांद के अनुसार तय होती है। वैसे इस बार ईद-उल-फितर 25 मई को मनाए जाने की उम्मीद है। जिसे मीठी ईद के नाम से भी जाना जाता है। इस दिन मुस्लिम समुदाय के लोग अपने घरों में मीठे पकवान खासतौर पर सेंवईं बनाते हैं। अपनों से गले मिलकर आपस के गिले शिकवे दूर करते हैं। इस्लाम धर्म का यह त्योहार भाईचारे का संदेश देता है। लेकिन इस बार कोरोना संकट के चलते सोशल डिस्टेंसिंग का भी पूरा ध्यान रखना होगा।

इस दिन मुस्लिम लोग सुबह नए कपड़े पहनकर नमाज अदा कर अपने और अपने परिवार के अमन और चैन की दुआ करते हैं। इस दिन पढ़ी जाने वाली पहली नमाज को सलात अल फज्र कहा जाता है। ईद से पहले हर मुसलमान के लिए फितरा देना फर्ज है। फितरे के तहत प्रति इंसान पौने दो किलो अनाज या उसकी कीमत गरीबों को दी जाती है। ये इसलिए होता है जिससे गरीब भी ईद की खुशी मना सकें। कहते हैं पैगम्बर हजरत मुहम्मद साहब ने बद्र के युद्ध में फतह हासिल की थी। इस युद्ध में फतह मिलने की खुशी में लोगों ने यह त्योहार मनाना शुरू किया।

पवित्र कुरान के मुताबिक, रजमान के पाक महीने में रोजे रखने के बाद अल्लाह इस दिन अपने बंदों को बख्शीश और इनाम देते हैं। इसीलिए इस दिन को ईद कहते हैं। मुसलमान ईद में खुदा का शुक्रिया अदा करते हैं ऐसा इसलिए क्योंकि खुदा ने महीने भर के उपवास रखने की ताकत दी। रमजान महीने में रोजे रखना फर्ज माना गया है ऐसा इसलिए, ताकि इंसान को भूख-प्यास का अहसास हो सके और वह लालच से दूर होकर सही राह पर चले। मीठी ईद के ढाई महीने के बाद ईद-उल-अजहा आती है। जिसे बकरीद और ईज-ए-कुर्बानी भी कहा जाता है। इस दिन नियमों का पालन करते हुए कुर्बानी दी जाती है। इस ईद की शुरुआत हजरत इब्राबिम से हुई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories
1 Vat Savitri Vrat 2020: वट सावित्री व्रत की संपूर्ण व्रत कथा और पूजा विधि यहां देखें
2 जानिये शनि जयंती आपके करियर के लिए कैसी रहने वाली है
3 कर्क वालों का पैसों के कारण कोई काम अटक सकता है, सिंह वालों का इस मामले मे दिन अच्छा