ताज़ा खबर
 

Bakra Eid Mubarak 2018 Wishes Images, Shayari, Messages: हर दिल अजीज को इन SMS, मैसेज और शायरी से कहें ‘ईद मुबारक’

Happy Eid ul Adha 2018, Bakrid Bakra Eid Mubarak 2018 Wishes Messages, Images, Quotes, Urdu Shayari, SMS, Msg, Pics, Photos: बकरीद के दिन मुसलमानों के लिए कुर्बानी करना फर्ज होता है। हालांकि कुर्बानी सिर्फ आर्थिक रूप से सक्षम मुसलमानों पर ही फर्ज है। कुर्बानी के गोश्त का बड़ा हिस्सा गरीबों और जरूरतमंद लोगों को दान किया जाता है।

Bakra Eid Mubarak 2018 Wishes Messages, Images, Quotes, Shayari: ईद के दिन आप अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को दिली मुबारक बाद इन Urdu Shayari, SMS Quotes और Messages के जरिए दे सकते हैं।

Happy Eid ul Adha 2018, Bakrid Bakra Eid Mubarak 2018 Wishes Messages, Images, Quotes, Urdu Shayari, SMS, Msg, Pics, Photos: देश में बकरीद मनाई जा रही है। रौनक छाई हुई है। लोग सुबह से ही कुर्बानी की तैयारी में लगे थे। लोगों ने कई दिन पहले ही बकरे की खरीदारी कर ली थी। बच्चे तो बच्चे बड़े लोगों के बीच भी उत्सव का माहौल है। लोग अपने प्रियजनों को ईद की मुबारकबाद दे रहे हैं। दूर रहने वाले दोस्तों को सोशल मीडिया पर फोटोज और मैसेज कर मुबारकबाद दी जा रही है। बकरीद के दिन मुसलमानों के लिए कुर्बानी करना फर्ज होता है। हालांकि कुर्बानी सिर्फ आर्थिक रूप से सक्षम मुसलमानों पर ही फर्ज है। कुर्बानी के गोश्त का बड़ा हिस्सा गरीबों और जरूरतमंद लोगों को दान किया जाता है। कुर्बानी के गोश्त के तीन हिस्से होते हैं। पहल और सबसे बड़ा हिस्सा गरीबों का होता है।

इसके बाद बाकी दो हिस्से कुर्बानी करने वाले और उसके दोस्तों-रिश्तेदारों का होता है। आपको बता दें बकरीद, ईद उल फितर यानी मीठी ईद के लगभग 70 दिनों के बाद आती है। बहरहाल, ईद के दिन आप अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को दिली मुबारक बाद इन Urdu Shayari, SMS Quotes और Messages के जरिए दे सकते हैं।

HOT DEALS
  • Gionee X1 16GB Gold
    ₹ 8990 MRP ₹ 10349 -13%
    ₹1349 Cashback
  • Honor 7X 64GB Blue
    ₹ 16010 MRP ₹ 16999 -6%
    ₹0 Cashback

कुछ मसर्रत मजीद हो जाए
इस बहाने से ईद हो जाए
ईद मिलने आप जो आए
मेरी भी ईद, ईद हो जाए!

साल में एक बार आती है ईद,
खुशियां हजार लाती है ईद
मोमिन के लिए तोहफा है ईद
बच्चों के लिए ईदी है ईद!

अल्लाह की रहमत छाई है
खुशियां कितनी लाई है
कयामत ने बात दोहराई है
देखो फिर से ईद है!

ईद का दिन है गले आज तो मिल ले ज़ालिम
रस्में दुनिया भी है, मौका भी है, दस्तूर भी है…

कभी न मिल सके, ईद में नज़रें ही मिला लो…
हाथ मिलाने से क्या होगा, सीधे गले ही लगा लो!

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App