ताज़ा खबर
 

Dussehra Ravan Dahan 2019 Puja Vidhi, Muhurat, Timings: दशहरा पर महाराष्ट्र में क्यों होती है ‘स्वर्ण लूटपाट’, जानिए विजयादशमी के कई रोचक किस्से

Dussehra Ravan Dahan 2019 Date, Puja Vidhi, Muhurat, Timings, Mantra: इस दिन को अच्छाई की बुराई पर जीत के तौर पर भी मनाया जाता है। विजयादशमी में दो तरह के मुहूर्त की आवश्यकता होती है। एक तो दशमी की पूजा का मुहूर्त और दूसरा रावण के पुतले का दहन किस वक्त किया जाए उसका शुभ मुहूर्त।

Author Updated: Oct 08, 2019 6:49 pm
dwarka Dussehra LIVE, Dussehra Ravan Dahan 2019: रावण को हम सभी जानते हैं जिसे प्रभु राम ने उसके अहंकारी प्रवृति के कारण वध किया था।

Dussehra (Dasara) Ravan Dahan 2019 Date, Puja Vidhi, Muhurat, Timings, Mantra: दशहरा आश्विन शुक्ल पक्ष की दसवीं तिथि को मनाया जाता है। दशहरा का त्योहार विजयदशमी के रूप में भी संपूर्ण भारत में मनाया जाता है। इस बार दशहरा यानि विजयादशमी (Vijaya dashami) का उत्सव आज (08 अक्टूबर) को हर्ष और उल्लास के साथ मनाया जा रहा है। दशहरा (Mysore Dussehra) के दिन ही भगवान श्रीराम ने लंकापति रावण (dussehra ravan) पर विजय प्राप्त की थी इसलिए इस दिन को विजया दशमी के नाम से जाना जाता है। इस दिन को अच्छाई की बुराई पर जीत के तौर पर भी मनाया जाता है। इसके अलावा इस दिन रावण दहन की भी परंपरा है। रावण को हम सभी जानते हैं जिसे प्रभु राम ने उसके अहंकारी प्रवृति के कारण वध किया था। भारत में जहां कहीं भी रावण दहन किया जाता है वहां रावण दहन की तैयारी पूरी हो गई होगी। परंतु रावण दहन से ठीक पहले पूजा की जाती है और मान्यता है कि यह शुभ मुहूर्त में होना चाहिए।

रावण दहन शुभ मुहूर्त: (Ravan Dahan Muhurt)

विजयादशमी में दो तरह के मुहूर्त की आवश्यकता होती है। एक तो दशमी की पूजा का मुहूर्त और दूसरा रावण के पुतले का दहन किस वक्त किया जाए उसका शुभ मुहूर्त। दोपहर के समय पूजा का मुहूर्त अच्छा है। यह दोपहर 01 बजकर 18 मिनट से लेकर दोपहर 03 बजकर 37 मिनट तक है। इसके अलावा चूंकि पुतला दहन संध्या काल में सूर्यास्त के बाद होता है इसलिए रावण का पुतला दहन सूर्यास्त के बाद से रात 8:30 बजे तक किया जा सकता है। रावण दहन प्रदोष काल में श्रवण नक्षत्र के अंर्तगत किया जाना उचित माना गया है।

Live Blog

Highlights

    18:47 (IST)08 Oct 2019
    शमी वृक्ष की क्यों होती है आज पूजा?

    मान्यता के अनुसार, महाभारत काल में दुर्योधन ने पांडवों को जुए में पराजित करके बारह वर्ष के वनवास के साथ तेरहवें वर्ष में अज्ञातवास की शर्त दी थी। तेरहवें वर्ष यदि उनका पता लग जाता तो उन्हें पुनः बारह वर्ष का वनवास भोगना पड़ता। इसी अज्ञातवास में अर्जुन ने अपना धनुष एक शमी वृक्ष पर रखा था तथा स्वयं वृहन्नला वेश में राजा विराट के यहँ नौकरी कर ली थी। जब गोरक्षा के लिए विराट के पुत्र धृष्टद्युम्न ने अर्जुन को अपने साथ लिया, तब अर्जुन ने शमी वृक्ष पर से अपने हथियार उठाकर शत्रुओं पर विजय प्राप्त की थी। विजयादशमी के दिन भगवान रामचंद्रजी के लंका पर चढ़ाई करने के लिए प्रस्थान करते समय शमी वृक्ष ने भगवान की विजय का उद्घोष किया था। विजयकाल में शमी पूजन इसीलिए होता है।

    18:00 (IST)08 Oct 2019
    द्वारका में रावण दहन कार्यक्रम: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी LIVE

    देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी दिल्ली के द्वारका में रावण दहन कार्यक्रम के लिए पहुंचे। इस मौके पर उनके साथ दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी और पश्चिमी दिल्ली के सांसद प्रवेश वर्मा मौजूद हैं। पीएम मोदी यहां 107 फीट रावण के पुतले का दहन करेंगे।

    16:54 (IST)08 Oct 2019
    महाराष्ट्र में होता है सिलंगण महोत्सव (silangan mahotsava)

    दशहरा पर्व में अलग अलग जगहों पर सांस्कृतिक उत्सव भी अलग तरह से मनाया जाता है। जैसे महाराष्ट्र में 'सिलंगण' (silangan mahotsava) के नाम से सामाजिक महोत्सव मनाया जाता है। इसमें शाम के समय सभी गांववाले नए वस्त्रों से सुसज्जित होकर गांव की सीमा पार कर शमी वृक्ष के पत्तों के रूप में 'स्वर्ण' लूटकर अपने ग्राम वापस आते हैं। फिर वही स्वर्ण परस्पर आदान-प्रदान कर सांप्रदायिक सौहार्द्र और मेल मिलन का मौका बनता है।

    16:21 (IST)08 Oct 2019
    10 पापों का नाश होता है दशहरा

    दशहरा का पर्व दस प्रकार के पापों- काम, क्रोध, लोभ, मोह मद, मत्सर, अहंकार, आलस्य, हिंसा और चोरी के परित्याग की सद्प्रेरणा प्रदान करता है। इसके अलावा इस दिन सोना चांदी खरीदना शुभ माना जाता है और कहा जाता है कि इस दिन कोई भी नया काम शुरू करने पर सफल ही होता है, क्योंकि ये विजया तिथि है।

    15:54 (IST)08 Oct 2019
    द्वारका के दशहरा महोत्सव में जाएंगे पीएम मोदी

    अहंकार, प्रतिशोध जैसी तमाम बुराई और असत्य के प्रतीक रावण, कुंभकर्ण और मेघनाद का पुतला दहन आज देशभर में किया जाएगा। इस साल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के साथ दिल्ली के द्वारका में दशहरा पर्व मनाने जाएंगे।

    15:46 (IST)08 Oct 2019
    मैसूर में हो रहे दशहरा का LIVE

    मैसूर में हो रहे दशहरा का आयोजन काफी भव्य और शाही परंपरा के अनुसार होता है। यहां दशहरे का कार्यक्रम भी 10 दिनों का चलता है। आइए देखते हैं यहां का लाइव कवरेज...

    15:14 (IST)08 Oct 2019
    सोना चांदी खरीदना होता है शुभ

    हिंदू पंचांग और धर्मशास्त्र के अनुसार विजयादशमी को बहुमूल्य पदार्थ खरीदने के लिए सर्वोत्तम दिन माना गया है। कहते हैं साल में सिर्फ तीन ही दिन इतने शुभ होते हैं कि सोना चांदी इत्यादि खरीदना शुभ माना जाता है। इनमें से दशहरा का दिन भी एक है।

    15:12 (IST)08 Oct 2019
    Ravan Dahan: share wishes of Lord rama victory with Images, SMS, Photos

    15:10 (IST)08 Oct 2019
    अस्त्र शस्त्र की भी पूजा का विधान

    दशहरा का पर्व विजय का त्योहार कहा जाता है। इसलिए विजय का उत्सव शस्त्र से भी मनाने की परंपरा है। इसलिए इस दिन अस्त्र शस्त्र की भी पूजा का विधान शास्त्रों में मिलता है। इसके अलावा दशहरा के दिन रामलीला, झांकी और राम की विजय यात्रा का कार्यक्रम होता है। आज के दिन रावण, मेघनाद और कुंभकर्ण के पुतले फूंके जाते हैं।

    14:49 (IST)08 Oct 2019
    पूजन सामग्री: (Ravan Dahan Puja Samagri)

    पूजा की थाली में गाय का गोबर, अक्षत, चंदन, धूप, दीप, पुष्प, नैवेद्य इत्यादि पूजन सामग्री को एकत्र कर लें। यह ये भी ध्यान रखना है कि नवरात्रि के समय कलश के नीचे उगे हुए जौ रहे तो और भी अच्छा होगा। जो व्यापारी वर्ग हैं उन्हें अपने व्यापार से संबंधित बही खाता रखा लेना उचित होगा। इसके बाद विधिवत पूजन करने के बाद रावण दहन का कार्यक्रम आरंभ करें।

    Next Stories
    1 Dussehra 2019: नोएडा में नहीं होगा रावण दहन, पॉल्यूशन से बचने के लिए मशीन से ध्वस्त करेंगे पुतला
    2 Dussehra 2019: इस दशहरा पर नौ गुनी शक्ति अर्जित कर दसों इंद्रियों को करें वश में
    3 Dussehra 2019, Vijayadasami: Ravana ने भगवान शंकर को प्रसन्न करने के लिए रचा था ये स्त्रोत, आप भी करें पाठ