ताज़ा खबर
 

Navratri 2018 Puja Vidhi, Mantra, Samagri: नवरात्रि में अपने घर पर ऐसे करें मां दुर्गा की पूजा-अर्चना

Navratri 2018 Durga Puja Vidhi, Shubh Muhurat Today, Time: कलश के ऊपर मां दुर्गा की प्रतिमा स्थापित करें। प्रतिमा नहीं होने की स्थिति में कलश के पीछे स्वस्तिक और त्रिशूल की आकृति बना सकते हैं।

Author नई दिल्ली | October 11, 2018 9:32 AM
Navratri 2018 Puja: नवरात्र में माता दुर्गा के अलग-अलग रूपों की पूजा की जाती है।

Navratri 2018 Durga Puja Vidhi, Shubh Muhurat Today: नवरात्रि का पर्व 10 अक्टूबर, दिन बुधवार से आरंभ हो रहा है। हिंदू धर्म में आस्था रखने वाले लोगों के लिए नवरात्र विशेष महत्व रखता है। नवरात्र में माता दुर्गा के अलग-अलग रूपों की पूजा की जाती है। ऐसी मान्यता है कि नवरात्र में मां की पूजा-अर्चना करने से काफी जल्दी प्रसन्न हो जाती हैं। और अपने भक्त के जीवन में सुख-समृद्धि लाती हैं। नवरात्रि के मौके पर मां के मंदिरों में भारी भींड लगती है। हालांकि, कई सारे लोग अपने घर पर ही मां देवी की आराधना करना पसंद करते हैं। हो सकता है कि आपको नवरात्रि में देवी मां की पूजा घर पर करने की विधि नहीं मालूम हो। ऐसे में हम आपको वह विधि बताने जा रहे हैं।

ऐसे करें घर पर मां की पूजा: सबसे पहले किसी पवित्र स्थान की मिट्टी से वेदी बनाएं। इस पर जौ, गेंहू बोएं। वेदी पर विधिपूर्वक कलश स्थापित कर दें। अब कलश के ऊपर मां दुर्गा की प्रतिमा स्थापित करें। प्रतिमा नहीं होने की स्थिति में कलश के पीछे स्वस्तिक और त्रिशूल की आकृति बना सकते हैं। इसके बाद माता का पूजन कार्य शुरू करें।

नवरात्रि व्रत के आरंभ में स्वतिकवाचक शांति पाठ करके व्रत का संकल्प लें। अब गणेश जी की आराधना करें। आप अपने ईष्टदेव की पूजा भी कर सकते हैं। शक्ति की प्रतीक दुर्गा जी का आराधना करते समय महाकाली, महालक्ष्मी और महासरस्वती जी की भी पूजा-अर्चना करें। इनकी आराधना के बगैर यह पूजा अधूरी मानी जाती है। आप इस दौरान इस नवरात्रि मंत्र का जप कर सकते हैं।

नवरात्रि मंत्र:
‘नमो देव्यै महादेव्यै शिवायै सततं नमः।
नमः प्रकृत्यै भद्रायै नियताः प्रणताः स्म ताम्‌।’

इसके अलावा नवरात्रि के प्रतिदिन या फिर समाप्ति तिथि पर नौ कुंवारी कन्याओं के चरण धोकर उन्हें दवी रूप मानकर गंध-पुष्प से उनकी अर्चना करें। इसके बाद आदर के साथ उन्हें मिष्ठान भोजन कराएं। यदि संभव हो तो उनका वस्त्रों से सत्कार भी करें। आप अपने परिवार को भी इस शुभ कार्य का हिस्सा बनाएं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App