Dream Interpretation: सपने में अर्थी का दिखना शुभ होता है या अशुभ? जानिये

सपने में मरा हुआ सांप देखना शुभ माना जाता है। इस तरह के सपने देखने का अर्थ है कि आपके जीवन से राहु का प्रभाव खत्म होने वाला है।

Dream Interpretation, Dreams, Religion News
सपने में अर्थी देखना काफी शुभ माना जाता है

Dream Interpretation: सोते समय व्यक्ति को कई तरह के सपने आते हैं। स्वप्न शास्त्र के मुताबिक सपने मनुष्य को भविष्य में होने वाली घटनाओं के प्रति सचेत करते हैं। जानकारों की मानें तो हर एक सपने का कोई-ना-कोई अर्थ जरूर होता है, जो आपकी जिंदगी को प्रभावित करते हैं। अक्सर लोग सोते हुए कुछ डरावने और भयानक सपने देखते हैं, हालांकि यह सपने शुभ साबित होते हैं। इस लेख में हम कुछ ऐसे ही डरावने सपनों का जिक्र करेंगे, जिन्हें देखने से आपको शुभ परिणाम मिलते हैं।

सपने में अर्थी देखने का मतलब: अक्सर लोग सपने में अर्थी देखकर डर जाते हैं। लेकिन स्वप्न शास्त्र की मानें तो सपने में अर्थी देखकर परेशान होने की बिल्कुल भी जरूरत नहीं है क्योंकि सपने में अर्थी देखना बेहद ही शुभ माना जाता है। इस सपने को देखने का मतलब है कि आपकी आर्थिक स्थिति में सुधार होने वाला है। साथ ही आपका कहीं फंसा हुआ धन भी वापस मिल सकता है।

यदि आप सपने में किसी बुजुर्ग की अर्थी देखते हैं तो इसका मतलब है कि आपको पुराने रोग से छुटकारा मिलने वाला है।

सपने में जलता हुआ घर देखना: यदि आप सपने में जलता हुआ घर देखते हैं तो इसका मतलब है कि आपके घर में कोई नन्हा मेहमान आने वाला है। यानी जल्द ही आपको संतान की प्राप्ति होने वाली है। अगर अविवाहित जातकों को इस तरह का सपना आता है कि इसका अर्थ है कि उनका जल्द ही अपने मनपसंद वर से विवाह होने वाला है। इसलिए जलते हुए घर का सपना शुभ माना जाता है।

सपने में मरा हुआ सांप देखना: सपने में मरा हुआ सांप देखना शुभ माना जाता है। इस तरह के सपने को देखने का अर्थ है कि आपके जीवन से राहु का प्रभाव खत्म होने वाला है। इस सपने को देखने का अर्थ है कि अब आपका कष्टदायी समय खत्म होने वाला है और सुखद समय शुरू होने वाला है।

सपने में खुद को आत्महत्या करते हुए देखना: असल जिंदगी में तो सुसाइड करना एक घृणित कार्य माना जाता है। लेकिन स्वप्न शास्त्र के मुताबिक इसे एक शुभ सपना माना गया है। इस सपने को देखने का अर्थ की आपकी आयु बढ़ गई है। ऐसा सपना दीर्घायु होने का सूचक माना जाता है।

पढें Religion समाचार (Religion News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट