ताज़ा खबर
 

सावन के महीने में ये काम करना माना जाता है अशुभ, शिव भगवान हो जाते हैं नाराज

ज्योतिषियों के मुताबिक सावन के महीने में बैंगन नहीं खाना चाहिए। शास्त्रों में बैंगन को अशुद्ध माना गया है।

Author Published on: July 18, 2017 7:09 PM
भगवान शिवजी का सांकेतिक फोटो

10 जुलाई से सावन का महीने शुरू हो गया है। इस महीने को भगवान शिवजी का महीना माना जाता है। कहा जाता है कि इस महीने में पूजा पाठ से भगवान से शिवजी को खुश किया जाता है। लेकिन इस महीने में कुछ सावधानियां भी अपनानी चाहिए। आज हम आपके लिए लाए हैं, उन कामों की लिस्ट जिन्हें सावन के महीने में करना अशुभ माना जाता है। ये काम करने से भगवान शिवजी क्रोधित हो सकते हैं।

सावन के महीने में मांस, मदिरा, तंबाकू आदि का सेवन नहीं करना चाहिए। इस महीने में शारीरिक संबंध भी नहीं बनाने चाहिए। सावन के महीने में दूध पीना और दिन में सोना भी सेहत के लिए अशुभ माना जाता है। अगर इस महीने में दूध पीते भी हैं तो पीने से पहले दूध को अच्छी तरह उबाल लें। इस महीने में कच्चा दूध पीना सेहत के लिए हानिकारक माना जाता है। इसके अलावा शिवलिंग का दूध से अभिषेक करना चाहिए। अगर इस महीने में सांड़ आपके दरवाजे पर आता है तो उसे मारकर नहीं भगाना चाहिए।

इस महीने में सांड़ को खाने के लिए देना शुभ माना जाता है। सावन के महीने में भूलकर भी शिवभक्तों का अपमान नहीं करना चाहिए, क्योंकि उनके भक्तों का अपमान करना शिवजी का अपमान माना जाता है। शिवजी को खुश करने के लिए सावन के महीने में कई लोग कांवड़ियों के रहने और खाने की व्यवस्था करते हैं।

सावन के महीने में बारिश अधिक होती हैं, जिस कारण से खान-पान का विशेष ध्यान रखना चाहिए। इस महीने में कुछ चीजों को खाना वर्जित माना जाता है। ज्योतिषियों के मुताबिक सावन के महीने में बैंगन नहीं खाना चाहिए। शास्त्रों में बैंगन को अशुद्ध माना जाता है। यहीं वजह हैं व्रत रखने वाले बैंगन नहीं खाते। वहीं इस महीने में बैंगन न खाने के कई वैज्ञानिक कारण भी हैं। सावन के महीने में बैंगन में अधिक कीड़े लग जाते हैं। इस कारण से बैंगन खाना शरीर के लिए हानिकारक हो सकता है। वहीं सावन के महीने में हरी सब्जियों को भी खाने से मना किया जाता है। सावन के महीने में हरी सब्जियों में किटाणु आ जाते हैं, जो शरीर को नुकसान पहुंचा सकते हैं।

पूजा-पाठ करते समय शिवलिंग पर हल्दी नहीं चढ़ानी चाहिए, क्योंकि शास्त्रों में हल्दी को स्त्री से संबंधित माना जाता है और शिवलिंग का संबंध पुरुष से माना जाता है। यही कारण है कि शिवलिंग पर हल्दी नहीं चढ़ाई जाती।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 शिव महापुराण में महादेव को खुश करने के बताए गए हैं ये उपाय, इस तरह करें पूजा
2 सावन के महीने में महिलाएं क्यों पहनती हैं हरी चूड़ियां
3 आज है रविवार सप्तमी, ऐसे करें पूजा और व्रत
जस्‍ट नाउ
X