ताज़ा खबर
 

दीपावली की शाम धन आगमन के लिए इन उपायों को करने की है मान्यता, जानिये

Diwali Dhan Prapti Ke Upay: माना जाता है कि दीपावली के दिन या उससे कुछ दिन पहले कुछ खास उपाय किए जाएं तो बहुत जल्द धन प्राप्ति हो सकती है।

diwali kab hai, diwali 2020 kab hai, diwali ke upayदीपावली पर कुछ उपाय करने से धन प्राप्ति के योग बन सकते हैं।

आचार्य गिरिजेश धर

Deepawali Ke Upay: दीपावली 14 नवम्बर, शनिवार को मनाई जाएगी। वाराणसी के पंचाग के अनुसार इस दिन दोपहर 1 बजकर 49 मिनट तक चतुर्दशी तिथि के बाद अमावस्या तिथि शुरू हो जाएगी। इस बार सिद्धि योग बनने से दीपावली का पूजन विशेष फलदायी साबित होने वाला है। माना जाता है कि दीपावली के दिन या उससे कुछ दिन पहले कुछ खास उपाय किए जाएं तो वह बहुत जल्द असर दिखाते हैं।

दीपावली के पांच पर्व होते हैं (धनतेरस, चर्तुदशी, दीपावली, गोवर्धन पूजा और यम द्वितीया)। पांचों दिन दीपक (चार छोटे एक बड़ा) जरुर जलाएं। दीपक रखने से पहले आसन बिछाएं फिर खील, चावल और दीपक रखें। इस उपाय को करने से धन की वृद्वि के योग बन सकते हैं।

यदि कमाई का कोई जरिया न हो तो एक गिलास कच्चे दूध में चीनी डालकर जामुन के पेड़ जड़ पर चढ़ाएं। यह उपाय धनतेरस से शुरू करें और चालीस दिन लगातार करें। इसके अलावा सफाई कर्मचारी को चायपत्ती दान करने से भी लाभ मिल सकता है।

आपका व्यवसाय यदि कम हो तो धनतेरस के दिन पूजा स्थल पर लाल कपड़ा बिछाकर उस पर ‘धनदा यन्त्र’ स्थापित करें। फिर धूप, दीप और अगरबत्ती जलाकर नैवेघ अर्पित करें। इस दौरान ‘श्रीं’ मंत्र का जप करें।

दीपावली की रात लक्ष्मी पूजन के साथ एकाक्षी नारियल की स्थापना कर उसकी उपासना करें। भाई दूज के दिन लाल कपडे में लपेटकर साल भर तिजोरी में रखे इससे धन लाभ होता है साथ ही परिवार में सुख-शांति बनी रहती है।

दीपावली की रात लक्ष्मी पूजन के साथ-साथ काली हल्दी की भी पूजा करें फिर यह काली हल्दी अपने घर या ऑफिस की तिजोरी में रखें। इस उपाय को करने से धन लाभ के योग बन सकते हैं।

दीपावली के दिन से कमलगट्टे की माला से ‘ॐ श्रीं ह्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद श्रीं ह्रीं श्रीं ॐ महालक्ष्मयै नम:’ – इस महालक्ष्मी मंत्र का जाप करें। कहते हैं कि इससे देवी लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं।

यदि आपका उधार लिया हुआ पैसा कोई लम्बे अरसे से नहीं लौटा रहा हो तो दीपावली के दिन उस व्यक्ति का नाम लेकर ग्यारह गोमती चक्र पर तिलक लगा कर, इष्ट देव का स्मरण करें। साथ ही उनसे निवेदन करें कि पैसा जल्द से जल्द लौट आए। इसके बाद पूजित गोमती चक्रों को पीपल के पेड़ के पास जमीन में दबा दें।

दुर्भाग्य के नाश के लिए दीपावली की रात एक नींबू लेकर मध्यरात्रि के समय किसी चौराहे पर जाएं वहां उस नींबू को चार भाग में काटकर चारों रास्तों पर फेंक दें। मान्यता है कि इस उपाय को करने से सौभाग्य की प्राप्ति होती है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 30 नवंबर को चंद्रग्रहण, गर्भवती महिलाओं के लिए वर्जित हैं ये काम, जानिये- क्या कहते हैं शास्त्र
2 उंगलियों की बनावट से सेहत प्रभावित होने की है मान्यता, जानें क्या कहता है सामुद्रिक शास्त्र
3 भगवान विष्णु और महालक्ष्मी को समर्पित हैं रमा एकादशी व्रत, जानें महत्व, पूजा विधि और शुभ मुहूर्त
ये पढ़ा क्या?
X