ताज़ा खबर
 

देवशयनी एकादशी : जानिए इस दिन का महत्व, कैसे करें पूजा

देवशयनी एकादशी 2017 : देवशयनी एकादशी के दिन भगवान विष्णु का कमल के पुष्पों से पूजन करना बहुत शुभ माना जाता है।
सांकेतिक फोटो

4 जुलाई 2017 को देवशयनी एकादशी है। इसे हिंदू धर्म में बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है। कहा जाता है कि इस दिन भगवान विष्णु चार महीने के लिए पाताल लोक में चले जाते हैं। इस दौरान पूजा-पाठ का बहुत महत्व बताया गया है। इस एकादशी को व्रत रखना बहुत शुभ माना जाता है। कहा जाता है कि इस एकादशी को व्रत रखने से व्यक्ति के सारे कष्ट दूर हो जाते हैं। इस एकादशी में मांगलिक कार्य नहीं किए जाते हैं। शास्त्रों के अनुसार साल में 24 एकादशियां आती हैं। हर एकादशी का अपना अलग महत्व होता है।

ज्योतिषियों का कहना है कि देवशयनी एकादशी का व्रत रखने का विशेष महत्व होता है। कहा जाता है कि इस दिन व्रत रखने से सारे पाप नष्ट हो जाते हैं। देवशयनी एकादशी की पूजा विधि- एकादशी के दिन प्रात:काल उठें और घर की साफ-सफाई करें। इसके बाद घर में पवित्र जल का छिड़काव करें। घर के मंदिर या पूजा-पाठ वाले स्थान पर भगवान विष्णु की सोने, चांदी, तांबे या पीपल की मूर्ति की स्थापना करें। मूर्ति स्थापित करने के बाद इसका पूजन करें। पूजा के बाद व्रत कथा सुनना भी शुभ माना जाता है। इसके बाद आरती करके प्रसाद बांट दें।

देवशयनी एकादशी के व्रत को सबसे खास बताया गया है। कहा जाता है कि इस व्रत को करने से सारी मनोकामनाएं पूरी होती हैं। वहीं इन चार महीनों में भक्तों को अपने खान-पान से लेकर जीवनचर्या पर खास ध्यान रखना होता है। इन चार महीनों में कोई भी तपस्वी व्रत नहीं रखता है। इस दौरान सभी तपस्वी एक जगह पर रहकर पूजा-पाठ करते हैं।

देवशयनी एकादशी के दिन भगवान विष्णु का कमल के पुष्पों से पूजन करना बहुत शुभ माना जाता है। इन चार महीनों के बीच पवित्र श्रावण का महीना आता है। कहा जाता है कि इन चार महीनों के दौरान भगवान शिवजी सृष्टि को चलाते हैं। इसलिए भगवान शिवजी की पूजा का विशेष महत्व होता है। श्रावण के महीने के बाद गणेश चतुर्थी का व्रत भी होता है। इस दौरान भगवान गणेश की पूजा की जाती है। भगवान गणेश की पूजा के बाद दुर्गा माता की पूजा की जाती है। जिन्हें नवरात्रि कहते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.