ताज़ा खबर
 

बेटियों को बुधवार के दिन नहीं जाना चाहिए ससुराल, ऐसी मान्‍यता के पीछे है ये वजह

ऐसी मान्यता है कि अगर आपकी बेटी का बुध ग्रह खराब चल रहा हो तो ऐसी दशा में भूले से भी उसे ससुराल विदा नहीं करना चाहिए। अगर आप ऐसा करते हैं तो आपकी बेटी के जीवन पर खतरा पैदा हो सकता है।

Author नई दिल्ली | April 17, 2018 19:36 pm
सांकेतिक तस्वीर।

हिंदू धर्म में ऐसी मान्यता है कि बुधवार के दिन बेटियों को उनके ससुराल विदा नहीं करना चाहिए। ऐसा करने से उनके जीवन में कुछ अशुभ हो सकता है। दरअसल शास्त्रों के अनुसार सप्ताह के हर वार (दिन) के लिए कुछ चीजें तय की गई हैं। इनमें बताया गया है कि किस वार को कौन सा काम किया जाना शुभ रहता है और कौन सा अशुभ। इसी हिसाब से बुधवार को लेकर शास्त्रों में इस बात का वर्णन है कि इस दिन बेटियों को अपने ससुराल नहीं जाना चाहिए। ऐसा करने से उनके व्यक्तिगत जीवन में व ससुराल में परेशानियां आ सकती हैं। शास्त्रों के हवाले से यहां तक कहा गया है कि बुधवार के दिन बेटी को ससुराल विदा करने पर उनकी गाड़ी का एक्सीडेंट तक हो सकता है। इसके अलावा ससुराल में जाने पर उनकी तबीयत बिगड़ सकती है व परिवार में क्लेश बढ़ सकता है।

ऐसी मान्यता है कि अगर आपकी बेटी का बुध ग्रह खराब चल रहा हो तो ऐसी दशा में भूले से भी बेटी को ससुराल विदा नहीं करना चाहिए। अगर आप ऐसा करते हैं तो आपकी बेटी के जीवन पर खतरा पैदा हो सकता है। पौराणिक मान्यता के अनुसार बुध ग्रह चंद्रमा को अपना शत्रु मानता है। लेकिन चंद्रमा बुध को अपना शत्रु नहीं मानता। ज्योतिष में चंद्रमा यानी चंद्र को यात्रा का कारक माना जाता है। ऐसे में अगर आपकी बेटी बुधवार के दिन ससुराल जाती है तो उसका बुध ग्रह उस पर नाराज हो सकता है। इसलिए बुधवार को यात्रा से बचने की सलाह दी जाती है।

शस्त्रों के अलावा बुधवार व्रत कथा में भी इस बात का एक कहानी के जरिए वर्णन किया गया है। इस कहानी में इस बात का विस्तार से जिक्र है कि बुधवार के दिन बेटी को विदा करने से जीवन में कितनी मुश्किलें आ सकती हैं। कथा के अनुसार प्राचीन काल में एक नगर में मधुसूदन नामक साहूकार का विवाह सुंदर और गुणवान कन्या संगीता से हुआ था। मधुसूदन अपनी पत्नी के माता-पिता के माना करने के बावजूद उसे बुधवार को विदा कराता है। इसके बाद इस बात का उल्लेख किया है कि इससे मधुसूदन और उसकी पत्नी संगीता के जीवन में किस तरह की परेशानियां आती हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App