ताज़ा खबर
 

जानिए, आपकी जन्मतिथि के मुताबिक आपको कौनसा रत्न पहनना चाहिए?

जन्मतिथि के हिसाब से रत्न पहनने से फायदा मिलने की संभावना बढ़ जाती है।

माणिक रत्न का वजन कम से कम तीन रत्ती का होना चाहिए। (file photo)

ज्योतिष में रत्न पहनने का अपना ही महत्व है। अगर आप भी रत्न पहनते हैं या फिर धारण करने की सोच रहे हैं तो आपको इसके बारे में पहने जानकारी हासिल करनी होगी। आप किसी की भी सलाह पर रत्न धारण ना करें। रत्न धारण करने से पहले कई सावधानियां बरतनी होती हैं। ऐसे ही आपको अपनी राशि और जन्मतिथि के मुताबिक रत्न धारण करना चाहिए, इससे आपको फायदा मिलने की ज्यादा संभावना रहती है।

बिना विशेषज्ञों की सलाह के रत्न धारण करने से नुकसान भी हो सकता हैं। रत्न कई प्रकार के होते हैं और इनमें भी कई रंग होते हैं। हर राशि और हर देवता के लिए अलग अलग रत्न धारण करना होता है। वहीं रत्न जन्मतिथि के मुताबिक भी पहने जाते हैं। ऐसे में हम आपको बता रहे हैं कि जन्मतिथि के मुताबिक आप कौनसे रत्न का चयन करें?

जन्म तारीख के मुताबिक शुभ रत्नों का चुनाव-

जन्म-तारीख                          राशियां           उपयुक्त रत्न
15 अप्रैल से 14 मई                   मेष                   मूंगा
15 मई से 14 जून                      वृषभ                हीरा
15 जून से 14 जुलाई                  मिथुन              पन्ना
15 जुलाई से 14 अगस्त             कर्क                मोती
15 अगस्त से 14 सितंबर           सिंह                 माणिक्य
15 सितंबर से 14 अक्टूबर         कन्या               पन्ना
15 अक्टूबर से 14 नवंबर           तुला                हीरा
15 नवंबर से 14 दिसंबर            वृश्चिक             मूंगा
15 दिसंबर से 14 जनवरी          धनु                  पीला पुखराज
15 जनवरी से 14 फरवरी          मकर               नीलम
15 फरवरी से 14 मार्च              कुंभ                 गोमेद
15 मार्च से 14 अप्रैल                 मीन                लहसुनिया

अब हम आपको बता रहे हैं जन्मांक के अनुसार उपयुक्त रत्नों का चयन-

जन्म-तारीख      स्वामी ग्रह       उपयुक्त रत्न       रंग
1, 10, 19, 28      सूर्य                  माणिक्य             लाल
2, 11, 20, 21      चंद्रमा              मोती                   सफेद (हाफ)
3, 12, 21, 30      बृहस्पति          पीला पुखराज     पीला
4, 13, 22, 31      यूरेनस             गोमेद                 गहरा काला मिला लाल
5, 14, 23            बुध                  पन्ना                    हरा
6, 15, 24            शुक्र                हीरा                   सफेद
7, 16, 25            नेपच्यून           लहसुनिया           भूरा
8, 17, 26            शनि               नीलम                  नीला
9, 18, 27            मंगल              मूंगा                     लाल
(साभार- पं. शशि मोहन बहल द्वारा लिखित पुस्तक ‘रत्न रंग और रुद्राक्ष)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App