scorecardresearch

तुला राशि में बनने जा रही 4 ग्रहों की युति, इन 3 राशि वालों को धनलाभ के साथ तरक्की के भी प्रबल योग

वैदिक ज्योतिष अनुसार तुला राशि में 4 ग्रहों की युति बनने जा रही है। यह युति 3 राशि वालों को लाभप्रद साबित हो सकती है। आइए जानते हैं ये 3 राशियां कौन सीं हैं…

तुला राशि में बनने जा रही 4 ग्रहों की युति, इन 3 राशि वालों को धनलाभ के साथ तरक्की के भी प्रबल योग
चतुर्ग्रही योग- (जनसत्ता)

ज्योतिष शास्त्र मुताबिक जब भी ग्रह गोचर या किसी अन्य ग्रह के साथ युति बनाता है। तो इसका सीधा असर मानव जीवन और पृथ्वी पर देखने को मिलता है। आपको बता दें कि 27 अक्टूबर से तुला राशि में चतुर्ग्रही योग का बनने जा रहा है। चतुर्ग्रही युति का निर्माण सुर्य, केतु, शुक्र और बुध के योग से होगा। जिसका असर सभी राशियों पर देखने को मिलिगा। लेकिन 3 राशियां ऐसीं हैं जिनको इस दौरान अच्छा धनलाभ हो सकता है। आइए जानते हैं ये राशियां कौन सीं हैं…

कन्या राशि: चतुर्ग्रही योग बनने से आप लोगों को अच्छा धनलाभ हो सकता है। क्योंकि यह योग आपकी राशि से दूसरे स्थान में बनने जा रहा है। जिसे ज्योतिष में धन और वाणी का स्थान माना जाता है। इसलिए आप लोगों को इस समय आकस्मिक धनलाभ हो सकता है। साथ ही व्यापार में कई स्त्रोत से आप धन कमाने में सफल रहेंगे। वहीं अगर आपका धन कहीं फंसा हुआ है तो आपको वो इस समय मिल सकता है। साथ ही जिन लोगों का करियर वाणी के क्षेत्र से जुड़ा हुआ है उनको ये समय अनुकूल रहने वाला है। आप लोग इस दौरान एक पन्ना धारण कर सकते हैं जो आपके लिए लकी स्टोन साबित हो सकता है।

मकर राशि: चतुर्ग्रही योग का निर्माण आप लोगों को शुभ फलदायी साबित हो सकता है। क्योंकि इस योग का निर्माण आपकी गोचर कुंडली से दशम स्थान में होने जा रहा है। जिसे कर्मक्षेत्र और जॉब का स्थान माना जाता है। इसलिए इस दौरान आपको नई जॉब का ऑफर आ सकता है। साथ ही अगर आप नौकरी में कार्यरत हैं तो आपका प्रमोशन या इंक्रीमेंट होने की संभावना है। इस दौरान आपको व्यापार में अच्छा मुनाफा हो सकता है। आप इस समय वाहन या प्रापर्टी खरीदने का भी बन बना सकते हैं। वहीं इस समय आपको पिता का सहयोग मिल सकता है। इस समय आप एक नीली उपरत्न धारण कर सकते हैं तो आपके लिए भाग्य रत्न साबित हो सकता है।

कुंभ राशि: चतुर्ग्रही योग बनने से आप लोगों को किस्मत का पूरा साथ मिलता दिख रहा है। क्योंकि आपकी गोचर कुंडली से इस योग का निर्माण नवम स्थान में होने जा रहा है। जिसे ज्योतिष भाग्य और विदेश स्थान का भाव माना जाता है। इसलिए इस दौरान आपको हर काम में भाग्य का साथ मिलेगा। साथ ही जो काम आपके बहुत दिनों से अटके हुए थे वो बन सकते हैं।

इस समय आप विदेश से धन कमाने में भी सफल रहेंगे। वहीं इस समय आप कारोबार के संबंध यात्रा कर सकते हैं। आप इस समय एक फिरोजा रत्न धारण कर सकते हैं, जो आपके लिए लाभकारी साबित हो सकता है।

पढें Religion (Religion News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट