ताज़ा खबर
 

Chandra Grahan 2020: आज 4 घंटे से ज्यादा समय के लिए लग चुका है चंद्रग्रहण, यहां देखें अपडेट्स और सभी जानकारियां

जानकारों के अनुसार यह उपछाया चंद्रग्रहण है। ऐसा माना जाता है कि अन्य चंद्रग्रहण के मुकाबले उपछाया चंद्रग्रहण का प्रभाव मनुष्यों के जीवन पर बहुत कम पड़ता है।

chandra grahan, chandra grahan 2020, chandra grahan 2020 timingsLunar Eclipse 2020 Live: बताया जा रहा है कि यह चंद्रग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा।

ज्योतिष शास्त्र में चंद्रग्रहण को बहुत अधिक प्रभावित करने वाला माना जाता है। बताया जा रहा है कि साल का अंतिम चंद्रग्रहण 30 नवंबर, सोमवार के दिन परम पावन कार्तिक माह के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि को लगेगा।

जानकारों के मुताबिक यह उपछाया चंद्रग्रहण है। माना जाता है कि अन्य चंद्रग्रहण के मुकाबले उपछाया चंद्रग्रहण का प्रभाव मनुष्यों के जीवन पर बहुत कम पड़ता है। इसलिए ज्योतिष शास्त्र में उपछाया ग्रहण के दौरान बहुत अधिक सावधानियां बरतने के लिए नहीं कहा जाता है।

चंद्रग्रहण की तिथि और समय (Chandra Grahan Ki Tithi Aur Samay)
30 नवंबर, सोमवार को पड़ने वाला ग्रहण साल का आखिरी चंद्रग्रहण है। जानकारों की मानें तो यह ग्रहण भारत में दोपहर 01 बजकर 04 मिनट पर शुरू हो जायेगा और शाम 5 बजकर 22 मिनट तक रहेगा। जबकि, दोपहर 03 बजकर 13 मिनट पर यह चंद्रग्रहण चरम पर होगा। उपछाया चंद्रग्रहण का प्रभाव कुल 04 घंटे 18 मिनट 11 सेकंड तक भारत में रहेगा।

ज्योतिष शास्त्र के विशेषज्ञों का मानना है कि चंद्रग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा क्योंकि चंद्रमा क्षितिज से नीचे की ओर होगा इसलिए भारत में रहने वाले लोग इसे नहीं देख पाएंगे। ऐसी मान्यता है कि ग्रहों की चाल के अनुसार किसी व्यक्ति के जीवन में किसी भी प्रकार की स्थिति बन सकती है। इसलिए यह बहुत जरूरी है कि ग्रहों की चाल को समझते हुए ही कोई कार्य किया जाए।

बताया जाता है कि ग्रहण के दौरान बनाए हुए खाने में ग्रहण की नकारात्मक ऊर्जा शामिल हो जाती है जिससे उस भोजन को खाने वाले लोगों को रोगों और दोषों की शिकायत हो सकती है। जानकारों का मानना है कि ग्रहण की अवधि खत्म होने के बाद साफ पानी से स्नान कर घर का मंदिर धोना चाहिए। फिर मंदिर में ईश्वर के निमित्त ज्योत जलाकर आरती करनी चाहिए।

साथ ही, अगर संभव हो तो दान के बाद अन्न दान जरूर करें। शास्त्रों में कहा गया है कि इस प्रकार का दान ब्राह्मणों को ही देना चाहिए। अगर ऐसा संभव ना हो पाए तो आप यह दान गरीब या जरूरतमंदों को भी दे सकते हैं क्योंकि धार्मिक पुस्तकों में यह भी बताया जाता है कि ईश्वर हर एक प्राणी में वास करते हैं वो किसी भी जीवात्मा में कम या ज्यादा मात्रा में नहीं होते हैं।

Live Blog

Highlights

    20:55 (IST)30 Nov 2020
    हैदराबाद में नहीं दिखा चांद

    हैदराबाद में न तो ये चंद्र ग्रहण दिखाई देगा और न ही इसका प्रभाव होगा। हालांकि धार्मिक मान्यताओं को महत्व देने वाले ग्रहण काल में मांगलिक कार्य से परहेज करेंगे।

    20:11 (IST)30 Nov 2020
    चंद्रग्रहण के बाद क्या करें

    चंद्रग्रहण का समापन शाम 5 बजकर 22 मिनट पर हुआ। ग्रहण लगने से उसकी नकारात्मक ऊर्जा भी घर में प्रवेश कर जाती है। ऐसे में घर का शुद्धिकरण भी ग्रहण के पश्चात् अवश्य करना चाहिए। पूरे घर में गंगा जल झिड़कें। ऐसा करने से ग्रहण की नकारात्मक ऊर्जा पूरी तरह से नष्ट हो जाएगी।

    19:42 (IST)30 Nov 2020
    चंद्रग्रहण लाइव अपडेट्स

    19:09 (IST)30 Nov 2020
    देश पर कैसा पड़ेगा असर

    बता दें कि विद्वानों का मानना है कि यह एक उपच्छाया चंद्रग्रहण है। यहां उपच्छाया का अर्थ यह बताया गया है कि चंद्रमा की केवल छाया ही पृथ्वी पर आ पाएगी, इसी छाया की वजह से इस ग्रहण को उपच्छाया चंद्रग्रहण कहा जा रहा है। ज्योतिषाचार्यों का मानना है कि उपच्छाया चंद्रग्रहण का बहुत अधिक प्रभाव मानव जीवन पर नहीं पड़ता है। इसलिए ही इस ग्रहण को अधिक प्रभावशाली नहीं माना जाता है। कहते हैं कि इस प्रकार का ग्रहण देश और दुनिया पर भी ज्यादा प्रभाव नहीं डालता है।

    18:39 (IST)30 Nov 2020
    3 बार लग चुका है चंद्रग्रहण...

    साल 2020 में 3 बार चंद्रग्रहण लग चुका है। यह साल का चौथा और आखिरी चंद्रग्रहण है। विद्वानों ने मुताबिक यह एक उपच्छाया चंद्रग्रहण है यानी इसका असर बहुत अधिक नहीं पड़ेगा।

    17:50 (IST)30 Nov 2020
    चंद्रग्रहण में गर्भवती महिलाएं क्या करें

    मान्यता है कि ग्रहण के दौरान गर्भवती स्त्रियों को किसी भी नुकीली वस्तु का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए, इनमें चाकू, कैंची, सूई और तलवार आदि शामिल हैं। साथ ही इस दौरान सोना, खाना, पीना, नहाना और किसी की बुराई करने पर भी पाबंदी होती है।

    17:06 (IST)30 Nov 2020
    यह चंद्रग्रहण भारत में रहने वालों को नहीं दिखेगा

    16:30 (IST)30 Nov 2020
    चंद्रग्रहण का समय

    दोपहर 01 बजकर 04 मिनट पर चंद्रग्रहण का प्रभाव शुरू हो जायेगा और शाम 05 बजकर 22 मिनट तक कायम रहेगा। जबकि, इस दौरान दोपहर 03 बजकर 13 मिनट पर यह चंद्रग्रहण अपने चरम पर होगा। उपच्छाया चंद्रग्रहण का प्रभाव कुल 04 घंटे 18 मिनट और 11 सेकंड तक भारत में रहेगा।

    15:52 (IST)30 Nov 2020
    इस चंद्रग्रहण की खासियत

    साल के अंतिम चंद्रग्रहण को इसलिए खास माना जा रहा है क्योंकि इस दिन कार्तिक पूर्णिमा और गुरु नानक जयंती हैं। साथ ही इस दिन चंद्रग्रहण दिन में लगने वाला है।

    14:35 (IST)30 Nov 2020
    पानी पीने से भी बचें

    चंद्र ग्रहण के दौरान पानी पीने से भी बचना चाहिए. अगर आप बीमार हैं या आप गर्भवती हैं तो आप हल्का गर्म पानी पी सकते हैं. इसमें तुलसी का पत्ता डालकर जूस पी सकते हैं. इसके साथ ही अगर आप सादा पानी नहीं पीना चाहते तो नारियल का पानी पी सकते हैं. सबसे बेहतर यह होगा कि आप ग्रहण से पहले ही अच्छी मात्रा में पानी पी लें.

    13:51 (IST)30 Nov 2020
    इन लोगों को रखना चाहिए अपना खास ख्याल

    ग्रहण के समय गर्भवती महिलाओं को ग्रहण की छाया आदि से विशेष रूप से बचना चाहिए. क्योंकि ग्रहण की छाया का कुप्रभाव गर्भस्थ शिशु पर पड़ने का डर रहता है. इसके अलावा बुजुर्ग और पीड़ित व्यक्ति को भी बाहर जाने से परहेज करना चाहिए

    13:10 (IST)30 Nov 2020
    तीन तरह के होते हैं चंद्र ग्रहण

    बता दें कि कुल तीन तरह के चंद्र ग्रहण होते हैं। पहला पूर्ण चंद्र ग्रहण, दूसरा आंशिक चंद्र ग्रहण और तीसरा उपछाया चंद्र ग्रहण और इस बार उपछाया चंद्र ग्रहण है।

    12:32 (IST)30 Nov 2020
    ग्रहण के बाद स्नान जरूरी है

    ग्रहण को नग्न आंखों से देखने का भी परहेज करना चाहिए. ग्रहण के समय भोजन करने और बनाने दोनों से बचना चाहिए. ग्रहण के बाद स्नान करने से उसका प्रभाव कम हो जाता है

    11:50 (IST)30 Nov 2020
    कितने देर तक रहेगा ग्रहण...

    दोपहर 01 बजकर 04 मिनट पर चंद्रग्रहण का प्रभाव शुरू हो जायेगा और शाम 05 बजकर 22 मिनट तक कायम रहेगा। जबकि, इस दौरान दोपहर 03 बजकर 13 मिनट पर यह चंद्रग्रहण अपने चरम पर होगा। उपच्छाया चंद्रग्रहण का प्रभाव कुल 04 घंटे 18 मिनट और 11 सेकंड तक भारत में रहेगा।

    11:05 (IST)30 Nov 2020
    ये है मान्यता...

    बताया जाता है कि ग्रहण के दौरान बनाए हुए भोजन में ग्रहण की नकारात्मक ऊर्जा शामिल हो जाती है जिससे उस भोजन को खाने वाले लोगों को रोगों और दोषों की शिकायत हो सकती है। जानकारों का मानना है कि ग्रहण की अवधि खत्म होने के बाद साफ पानी से स्नान कर घर का मंदिर धोना चाहिए। फिर मंदिर में ईश्वर के निमित्त ज्योत जलाकर आरती करनी चाहिए।

    10:26 (IST)30 Nov 2020
    गरीबों को दें दान

    दान गरीब या जरूरतमंदों को भी दे सकते हैं क्योंकि धार्मिक पुस्तकों में यह भी बताया जाता है कि ईश्वर हर एक प्राणी में वास करते हैं वो किसी भी जीवात्मा में कम या ज्यादा मात्रा में नहीं होते हैं।

    09:41 (IST)30 Nov 2020
    पके हुए भोजन में डालें तुलसी पत्ता

    ग्रहण काल के समय भोजन नहीं करना चाहिए। क्योंकि ये शरीर के लिए नुकसानदायक माना गया है। घर में पके हुए भोजन में सूतक काल लगने से पहले ही तुलसी के पत्ते डालकर रख देने चाहिए। इससे भोजन दूषित नहीं होता है।

    08:47 (IST)30 Nov 2020
    ग्रहण के दिन दान का महत्व

    संभव हो तो दान के बाद अन्न दान जरूर करें। शास्त्रों में कहा गया है कि इस प्रकार का दान ब्राह्मणों को ही देना चाहिए। अगर ऐसा संभव ना हो पाए तो आप यह दान गरीब या जरूरतमंदों को भी दे सकते हैं क्योंकि धार्मिक पुस्तकों में यह भी बताया जाता है कि ईश्वर हर एक प्राणी में वास करते हैं वो किसी भी जीवात्मा में कम या ज्यादा मात्रा में नहीं होते हैं।

    08:17 (IST)30 Nov 2020
    तीन तरह के होते हैं चंद्रग्रहण

    पहला होता है कुल चंद्रग्रहण, दूसरा आंशिक, और तीसरा पेनुमब्रल या उपच्छाया चंद्रग्रहण

    07:41 (IST)30 Nov 2020
    इस समय चरम पर होगा ग्रहण

    30 नवंबर, सोमवार को पड़ने वाला ग्रहण साल का आखिरी चंद्रग्रहण है। जानकारों की मानें तो यह ग्रहण भारत में दोपहर 01 बजकर 04 मिनट पर शुरू हो जायेगा और शाम 5 बजकर 22 मिनट तक रहेगा। जबकि, दोपहर 03 बजकर 13 मिनट पर यह चंद्रग्रहण चरम पर होगा। उपछाया चंद्रग्रहण का प्रभाव कुल 04 घंटे 18 मिनट 11 सेकंड तक भारत में रहेगा।

    07:07 (IST)30 Nov 2020
    उपच्छाया ग्रहण का नहीं पड़ता है अधिक प्रभाव

    ज्योतिषाचार्यों का मानना है कि उपच्छाया चंद्रग्रहण का बहुत अधिक प्रभाव मानव जीवन पर नहीं पड़ता है। इसलिए ही इस ग्रहण को अधिक प्रभावशाली नहीं माना जाता है। कहते हैं कि इस प्रकार का ग्रहण देश और दुनिया पर भी ज्यादा प्रभाव नहीं डालता है।

    06:21 (IST)30 Nov 2020
    इसलिए दी जाती है न खाने की सलाह

    बताया जाता है कि ग्रहण के दौरान बनाए हुए भोजन में ग्रहण की नकारात्मक ऊर्जा शामिल हो जाती है जिससे उस भोजन को खाने वाले लोगों को रोगों और दोषों की शिकायत हो सकती है। जानकारों का मानना है कि ग्रहण की अवधि खत्म होने के बाद साफ पानी से स्नान कर घर का मंदिर धोना चाहिए। फिर मंदिर में ईश्वर के निमित्त ज्योत जलाकर आरती करनी चाहिए।

    21:32 (IST)29 Nov 2020
    चंद्रग्रहण कब लगे...

    कार्तिक मास के अंतिम दिन यानी पूर्णिमा तिथि के दिन चंद्रग्रहण लगने वाला है। ग्रेगोरियन कैलेंडर के मुताबिक 30 नवंबर, सोमवार के दिन यह चंद्रग्रहण लगेगा।

    20:56 (IST)29 Nov 2020
    चंद्रग्रहण का प्रभाव...

    19:19 (IST)29 Nov 2020
    उपच्छाया चंद्रग्रहण का मानव जीवन पर प्रभाव

    ज्योतिषाचार्यों का मानना है कि उपच्छाया चंद्रग्रहण का बहुत अधिक प्रभाव मानव जीवन पर नहीं पड़ता है। इसलिए ही इस ग्रहण को अधिक प्रभावशाली नहीं माना जाता है। कहते हैं कि इस प्रकार का ग्रहण देश और दुनिया पर भी ज्यादा प्रभाव नहीं डालता है।

    18:00 (IST)29 Nov 2020
    चंद्रग्रहण के नकारात्मक असर...

    कहते हैं कि चंद्रग्रहण के दौरान विशेष सावधानियां बरतनी चाहिए वरना चंद्रग्रहण के नकारात्मक प्रभावों को सहना पड़ सकता है। चंद्रग्रहण में इस बात का खास ख्याल रखें कि आप और आपके परिवार का कोई भी सदस्य चंद्रग्रहण के समय चंद्रमा की ओर ना देखे और ना ही चांद की रोशनी में बैठे।

    17:08 (IST)29 Nov 2020
    देश और दुनिया पर क्या पड़ेगा असर

    ये चंद्र ग्रहण उपछाया चंद्र ग्रहण है जो भारत में दिखाई नहीं देगा। शास्त्रों में उपछाया चंद्र ग्रहण को ग्रहण नहीं माना जाता है। इसलिए ना तो यहां सूतक काल माना जाएगा और ना ही किसी तरग के कार्यों पर पाबंदी होगी।

    16:32 (IST)29 Nov 2020
    पूजा का शुभ मुहूर्त (Kartik Purnima Shubh Muhurat)

    कार्तिक पूर्णिमा संध्या पूजा का मुहूर्त - 30 नवंबर, सोमवार - शाम 5 बजकर 13 मिनट से शाम 5 बजकर 37 मिनट तक।

    15:46 (IST)29 Nov 2020
    ये करने की है मान्यता...

    बताया जाता है कि ग्रहण के दौरान बनाए हुए भोजन में ग्रहण की नकारात्मक ऊर्जा शामिल हो जाती है जिससे उस भोजन को खाने वाले लोगों को रोगों और दोषों की शिकायत हो सकती है। जानकारों का मानना है कि ग्रहण की अवधि खत्म होने के बाद साफ पानी से स्नान कर घर का मंदिर धोना चाहिए। फिर मंदिर में ईश्वर के निमित्त ज्योत जलाकर आरती करनी चाहिए।

    15:15 (IST)29 Nov 2020
    साल का आखिरी चंद्रग्रहण

    30 नवंबर, सोमवार को पड़ने वाला ग्रहण साल का आखिरी चंद्रग्रहण है। जानकारों की मानें तो यह ग्रहण भारत में दोपहर 01 बजकर 04 मिनट पर शुरू हो जायेगा और शाम 5 बजकर 22 मिनट तक रहेगा। जबकि, दोपहर 03 बजकर 13 मिनट पर यह चंद्रग्रहण चरम पर होगा। उपछाया चंद्रग्रहण का प्रभाव कुल 04 घंटे 18 मिनट 11 सेकंड तक भारत में रहेगा।

    14:18 (IST)29 Nov 2020
    देश पर क्या पड़ेगा प्रभाव

    ये चंद्र ग्रहण उपछाया चंद्र ग्रहण है जो भारत में दिखाई नहीं देगा. शास्त्रों में उपछाया चंद्र ग्रहण को ग्रहण नहीं माना जाता है. इसलिए ना तो यहां सूतक काल माना जाएगा और ना ही किसी तरग के कार्यों पर पाबंदी होगी

    13:43 (IST)29 Nov 2020
    उपच्छाया चंद्रग्रहण को ग्रहण नहीं माना जाता है

    कुछ विद्वानों का मानना है कि उपच्छाया चंद्रग्रहण को ग्रहण नहीं माना जाता है। इसलिए ना तो भारत में सूतक काल माना जाएगा और ना ही किसी कार्य को करने की पाबंदी होगी।

    13:06 (IST)29 Nov 2020
    चंद्रग्रहण के प्रकार

    पहला होता है कुल चंद्रग्रहण,

    दूसरा आंशिक, और

    तीसरा पेनुमब्रल या उपच्छाया चंद्रग्रहण

    12:32 (IST)29 Nov 2020
    ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाएं रखें खास ख्याल

    ग्रहण के दौरान बाहर निकलने वाली गर्भवती महिलाओं पर ग्रहण का बुरा प्रभाव पड़ता है। खासकर गर्भस्थ शिशु पर इसका ज्यादा गंभीर प्रभाव पड़ता है। ऐसी मान्यता है कि ग्रहण के दौरान गर्भवती महिला घर से बाहर निकलती तो बच्चे दिव्यांग हो सकते हैं। 

    11:56 (IST)29 Nov 2020
    सूतक काल नहीं होगा मान्य...

    चंद्र ग्रहण के शुरु होने से 9 घंटे पहले सूतक (Sutak Kaal)लग जाता है. हालांकि ये चंद्र ग्रहण एक  उपछाया ग्रहण है और ये भारत में दिखाई नहीं देगा, इसलिए यहां इसका सूतक काल मान्य नहीं होगा

    11:22 (IST)29 Nov 2020
    कहां-कहां दिखेगा चंद्रग्रहण...

    साल का आखिरी चंद्र ग्रहण (Last lunar eclipse of 2020) एशिया, ऑस्ट्रेलिया, प्रशांत महासागर और अमेरिका के कुछ हिस्सों में दिखाई देगा. ये चंद्र ग्रहण भारत में नहीं दिखाई देगा

    10:58 (IST)29 Nov 2020
    ये बनेंगे खास संयोग

    कार्तिक पूर्णिमा 30 नवंबर सोमवार को है। ये कार्तिक महीने का आखिरी दिन होता है। स्नान और दान के लिहाज से यह दिन बहुत महत्वपूर्ण होता है। सर्वार्थसिद्धि योग व वर्धमान योग इस बार कार्तिक पूर्णिमा के दिन रहेंगे। ये दो शुभ संयोग इस पूर्णिमा को औऱ भी खास बना रहे हैं।

    10:33 (IST)29 Nov 2020
    बरतें विशेष सावधानियां

    कहते हैं कि चंद्रग्रहण के दौरान विशेष सावधानियां बरतनी चाहिए वरना चंद्रग्रहण के नकारात्मक प्रभावों को सहना पड़ सकता है। चंद्रग्रहण में इस बात का खास ख्याल रखें कि आप और आपके परिवार का कोई भी सदस्य चंद्रग्रहण के समय चंद्रमा की ओर ना देखें और ना ही चांद की रोशनी में बैठें। कहते हैं कि इससे चंद्रग्रहण के दौरान चांद को होने वाले कष्ट का असर आपके जीवन में आ सकता है।

    10:00 (IST)29 Nov 2020
    जानें ग्रहण का धार्मिक पहलू

    ग्रहण से कई धार्मिक पहलू जुड़े हुए हैं। ग्रहण के दौरान कर्मकांड का भी प्रावधान है। लेकिन अगर चंद्र ग्रहण आपके शहर में दिखाई ना दे रहा हो लेकिन दूसरे देशों अथवा शहरों में दर्शनीय हो तो कोई भी ग्रहण से सम्बन्धित कर्मकाण्ड नहीं किया जाता है। लेकिन अगर मौसम की वजह से चन्द्र ग्रहण दर्शनीय न हो तो ऐसी स्थिति में चन्द्र ग्रहण के सूतक का अनुसरण किया जाता है।

    09:45 (IST)29 Nov 2020
    इस बार लगेगा उपच्छाया ग्रहण

    विद्वानों का कहना हैं कि यह उपच्छाया ग्रहण (Upchhaya Chandra Grahan) है इसमें किसी विशेष ग्रह पर केवल चंद्रमा की परछाई आती है। अबकी बार चंद्रग्रहण वृष राशि और रोहिणी नक्षत्र में लगेगा। विशेषज्ञों की मानें तो भारत, अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, प्रशांत महासागर और एशिया में यह चंद्रग्रहण दिखाई दे सकता है।

    Next Stories
    1 Kartik Purnima 2020 Date, Puja Vidhi, Muhurat: कार्तिक पूर्णिमा के दिन इस विधि से पूजा करने से इच्छा पूरी होने की है मान्यता, जानिए पूजा का शुभ मुहूर्त और मंत्र
    2 Guru Nanak Jayanti 2020 Date, Wishes Images: किस दिन मनाया जाएगा प्रकाश पर्व, जानिए इस दिन का महत्व और गुरु नानक देव की प्रमुख शिक्षाएं
    3 Horoscope Today, 29 November 2020: मिथुन राशि के जातक तनाव से बचें, मकर राशि वाले आर्थिक खर्चे पर नजर रखें
    ये पढ़ा क्या?
    X