ताज़ा खबर
 

चाणक्य नीतिः बुद्धिमान व्यक्ति ये 4 बातें किसी को नहीं बताते हैं

Chanakya Niti In Hindi: चाणक्य के अनुसार अपने घर की महिलाओं से जुड़ी अच्छी और बुरी बातों का जिक्र कभी भी दूसरों के सामने नहीं करना चाहिए

chanakya, chanakya niti, chanakya niti for people, chanakya niti for good life in hindi, chanakya quotes, chanakya neeti, chanakya niti in hindi, life quotes, chanakya life, chanakya shlok, acharya chanakya, chanakya neeti in hindi, chanakya niti book, chanakya policy, chanakya suggestion, chanakya shlok in hindi, chanakya important quotes, chanakya important niti, चाणक्य नीतिआचार्य चाणक्य कहते हैं कि समझदार पुरुष अपनी पत्नी के गुण और दोषों के बारे में किसी से भी नहीं बात करनी चाहिए

Chanakya Niti In Hindi: आचार्य चाणक्य की नीतियां काफी व्यवहारिक हैं जो जीवन जीने की कला सिखाती हैं। चाणक्य ने जीवन के हर एक पहलू से संबंधित कई तरह की बातें बतायी हैं जिनका पालन करके आप अपनी लाइफ को बेहतर बना सकते हैं। उनकी नीतियां जीवन को सफल और सुखमय बनाने के लिए कई तरीके बताती हैं। आमतौर पर लोग अपने करीबियों से अपने सुख-दुख बांटते हैं। लेकिन चाणक्य के अनुसार कुछ बातों को केवल खुद तक ही सीमित रखना चाहिए। उनकी नीतियों में इस बात का जिक्र है कि लोगों को अपने से जुड़ी कुछ बातों को किसी से भी साझा नहीं करना चाहिए, नहीं तो उन्हें परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। आइए जानते हैं चाणक्य के श्लोक के अनुसार कौन सी ऐसी बातें हैं जिन्हें हमें किसी को नहीं बताना चाहिए-

अर्थनाशं मनस्तापं गृहिणीचरितानि च।
नीचवाक्यं चाऽपमानं मतिमान्न प्रकाशयेत्।।

चाणक्य के अनुसार अगर लोगों को किसी भी प्रकार का आर्थिक नुकसान हो जाए तो इस बात के बारे में किसी को भी नहीं बताना चाहिए। चाणक्य के अनुसार धन की हानि होने पर दुख होना लाजिमी है लेकिन इस दुख को किसी से भी साझा न करें। किसी को अपना दुख बताने के बजाय अपने नुकसान को कैसे कम किया जाए, इस बारे में सोचने की सलाह देते हैं चाणक्य। आचार्य के अनुसार दूसरों को अपना नुकसान बताने से लोग सिर्फ हंसते हैं।

इस श्लोक के माध्यम से चाणक्य कहते हैं कि लोगों के सामने अपने दर्द की नुमाइश न करें। उनके अनुसार कभी भी किसी को अपनी परेशानी और दुखों को नहीं बताना चाहिए। आपके मन की परेशानी सुनकर हो सकता है कि सामने लोग आपको सहानुभूति दिखाएं लेकिन पीठ पीछे वो आपका मजाक उड़ा सकते हैं। इसलिए अपने दर्द को बांटने से बेहतर है कि आप अपने दुखों का निवारण करने का उपाय ढूंढ़ें।

चाणक्य के अनुसार अपनी निजी बातें दूसरों को नहीं बतानी चाहिए। अपने घर की महिलाओं से जुड़ी अच्छी और बुरी बातों का जिक्र कभी भी दूसरों के सामने नहीं करना चाहिए। आचार्य चाणक्य कहते हैं कि समझदार पुरुष अपनी पत्नी के गुण और दोषों के बारे में किसी से भी नहीं बात करनी चाहिए। चाणक्य के मुताबिक जो पुरुष या स्त्री अपने जीवन साथी के बारे में दूसरों को बताते हैं उन्हें कभी ना कभी खुद ही इसका कष्ट भोगना पड़ता है।

चाणक्य के अनुसार अगर कोई आपको कुछ कटु शब्द कह देता है तो उसके बारे में किसी से न कहें। उनका कहना है कि बुरी नीयत के लोग हमेशा दूसरों को चोट पहुंचाने का कार्य करते हैं। ऐसे में अगर आप उनकी कही हुई बातों को दिल से लगा लेते हैं और दूसरों को भी इसके बारे में कुछ कहते हैं तो लोग मन ही मन आपका मजाक उड़ाएंगे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 सिंह राशिफल जून 2020: आमदनी बढ़ने के साथ खर्चों में भी होगी बढ़ोतरी, किसी पुरानी बीमारी से मिल सकती है राहत
2 कर्क राशिफल जून 2020: आर्थिक मामलों को लेकर उतार-चढ़ाव भरा महीना, शनि और बृहस्पति की युति से स्वास्थ्य और दांपत्य जीवन में आएंगी परेशानी
3 मिथुन राशिफल जून 2020: महीने की शुरुआत में करियर में आयेंगी प्रॉब्लम, स्वास्थ्य को लेकर रहें सतर्क