ताज़ा खबर
 

महालक्ष्मी की कृपा प्राप्त करने के लिए इन गलतियों से बचने की है मान्यता, जानें क्या कहती है चाणक्य नीति

Dhan Prapti: विद्वानों की मानें तो चाणक्य नीति में उन गलतियों के बारे में भी बताया गया है, जिन्हें रोजमर्रा में करने से माता महालक्ष्मी रुष्ट हो जाती हैं और व्यक्ति को धन के अभाव में रहना पड़ता है।

chanakya niti, chanakya neeti, chanakyaमाता महालक्ष्मी की कृपा प्राप्त करने के लिए चाणक्य नीति में कुछ सुझाव बताए गए हैं।

Chanakya Niti on Being Rich: आचार्य चाणक्य को महान विद्वान माना जाता है। कहते हैं कि प्राचीन काल में कोई व्यक्ति या परिस्थिति ऐसी नहीं थी, जिससे चाणक्य विजय प्राप्त नहीं कर सकते थे। इतिहासकार बताते हैं कि आचार्य चाणक्य का दिमान इतना तेज था कि वो जटिल-से-जटिल समस्या का समाधान भी बहुत आसानी से ढूंढ लिया करते थे।

कहते हैं कि आचार्य चाणक्य की नीति में भी उनकी समझदारी के किस्सों की जानकारी को एकत्रित किया गया है। विद्वानों की मानें तो चाणक्य नीति में उन गलतियों के बारे में भी बताया गया है, जिन्हें रोजमर्रा में करने से माता महालक्ष्मी रुष्ट हो जाती हैं और व्यक्ति को धन के अभाव में रहना पड़ता है।

चौखट पर पानी डालना – कहा जाता है कि जो लोग नियमित रूप से सुबह उठने के बाद अपने घर की चौखट पर पानी डालते हैं, उनके घर में अपार धन-संपत्ति आती है। कहा जाता है कि इस उपाय को करने से न सिर्फ माता महालक्ष्मी बल्कि पितरों की कृपा भी प्राप्त होती है। बताया जाता है कि यह उपाय अपनाने वालों के घर की तिजोरियां हमेशा धन-धान्य से भरी रहती हैं।

सूर्योदय के बाद सोना – आचार्य चाणक्य कहते हैं कि किसी भी व्यक्ति को सूर्योदय के बाद नहीं सोना चाहिए। कहा जाता है कि ऐसा करने से माता महालक्ष्मी की कृपा प्राप्त नहीं होती है और घर का सारा धन धीरे-धीरे समाप्त होता चला जाता है। कोशिश करें कि सूर्योदय से पहले उठें और सूर्यास्त होने के बाद जल्द-से-जल्द सो जाएं।

संध्या पूजन है जरूरी – चाणक्य नीति में बताया गया है कि संध्या पूजन बहुत महत्वपूर्ण होती है। शाम को पूजा करने से घर से नकारात्मक ऊर्जा बाहर निकलती है और घर में धन-धान्य का वास होना शुरू हो जाता है। शाम को नियमित रूप से पूजा-पाठ करने से माता महालक्ष्मी के प्रसन्न होने की मान्यता है। बताया जाता है कि इस सरल उपाय से घर में सकारात्मक माहौल भी बना रहता है।

घर के सदस्यों का सम्मान करना – कहते हैं कि जिस घर में घर के सदस्य एक-दूसरे का सम्मान करते हैं, उनके घर में कभी पैसों की कमी नहीं रहती है। ऐसे परिवारों से देवी लक्ष्मी अत्यंत प्रसन्न रहती हैं और ऐसे घरों में वास करती हैं।

Next Stories
1 Solar Eclipse 2020: सूर्य ग्रहण के दौरान क्या करने और न करने की है मान्यता, जानिए क्या कहते हैं ज्योतिष आचार्य
2 कैसे व्यक्ति से करनी चाहिए शादी? – जानिए जया किशोरी ने इस सवाल का क्या दिया जवाब
3 Surya Grahan December 2020 Date, Timings: आज है साल का आखिरी सूर्य ग्रहण, यहां मिलेगी सभी जरूरी जानकारी
ये पढ़ा क्या?
X