ताज़ा खबर
 

चाणक्य नीति के मुताबिक धन के अभाव में जिंदगी बिताते हैं ये 4 लोग, जानें

Chanakya Niti: माना जाता है कि आचार्य चाणक्य ने अपनी नीति में ऐसे लोगों का भी ज़िक्र किया है जिन्हें धन के अभाव में ही जिंदगी बितानी पड़ती है।

Chanakya Niti, Chanakya Niti in Hindi, Aacharya Chanakyaआचार्य चाणक्य बताते हैं कि कुछ लोगों के पास धन नहीं टिकता हैं।

Acharya Chanakya Thoughts: चाणक्य इतिहास के महान व्यक्तियों में से एक माने जाते हैं। उन्हें बहुत बुद्धिमान माना जाता है। बताया जाता है कि जब तक चाणक्य रहे वह अपने राज्य की प्रजा के उद्धार के लिए काम करते रहे। उन्हें कूटनीति, राजनीति, आर्थिक नीति और दर्शन के बारे में गहन जानकारी थी। साथ ही वह लोगों के व्यक्तित्वों को समझने में भी माहिर थे। माना जाता है कि आचार्य चाणक्य ने अपनी नीति में ऐसे लोगों का भी ज़िक्र किया है जिन्हें धन के अभाव में ही जिंदगी बितानी पड़ती है।

आलसी – ऐसा माना जाता है कि जो लोग आलसी होते हैं उन्हें जीवन में धन का अभाव सहना पड़ता हैं। आलसी होने की वजह से वह पैसा कमाने के बारे में ज्यादा विचार नहीं करते हैं। साथ ही उनके पास जो धन होता है उसे भी वह व्यर्थ खर्चों में बर्बाद कर देते हैं। आचार्य चाणक्य कहते हैं कि कभी भी किसी व्यक्ति को धन के मामलों में आलसी व्यक्ति पर विश्वास नहीं करना चाहिए। ऐसे लोगों को जीवन में धन प्राप्ति करने के लिए आलस्य को त्यागना चाहिए।

चोर – जिन लोगों के मन में चोर होता है उनके पास भी कभी पैसा नहीं टिकता है क्योंकि जो चोर होते हैं वह भले से कुछ समय के लिए पैसा या बहुमूल्य वस्तु चुराकर कुछ समय के लिए धनवान बन सकते हैं लेकिन नियति उन्हें अधिक समय के लिए धनवान नहीं बने रहने देती है। ऐसे लोगों का धन बहुत जल्दी व्यर्थ खर्चों में बर्बाद हो जाता है और उन्हें जीवन में धन का अभाव सहना पड़ता है।

जुआ खेलने वाले – शास्त्रों में यह बताया गया है कि जुआ खेलना अच्छी आदत नहीं होती है। साथ ही चाणक्य नीति भी यह कहती है कि जो व्यक्ति जुआ खेलता है वह अपने घर में अलक्ष्मी को आमंत्रित करता है। ऐसे व्यक्ति को अपने जीवन में धन का अभाव झेलना पड़ता है। ऐसे लोगों का मन हमेशा अशांत रहता हैं। आचार्य चाणक्य कहते हैं कि धन से जुड़े विषयों को जुआरी व्यक्ति को नहीं बताना चाहिए। इससे आपके धन को भी खतरा हो सकता है। ऐसा व्यक्ति अपने फायदे के लिए आपको नुकसान पहुंचा सकता है।

स्त्रियों का सम्मान न करने वाले – आचार्य चाणक्य कहते हैं कि जो व्यक्ति स्त्रियों का सम्मान नहीं करता है उस व्यक्ति को धन के अभाव में ही जीवन व्यतीत करना पड़ता है। क्योंकि स्त्रियों को देवी का स्वरूप माना जाता है। जो व्यक्ति स्त्रियों का आदर नहीं करता है देवी लक्ष्मी उससे रुष्ट हो जाती हैं। इसलिए ऐसा व्यक्ति उम्र भर अपार धन प्राप्त करने के लिए मेहनत करता रह जाता है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कंधे पर तिल से जानिये कैसा है व्यक्ति का स्वभाव, ये कहता है सामुद्रिक शास्त्र
2 Horoscope Today, 29 October 2020: मिथुन राशि के आर्थिक हालात में आएगा बदलाव, जानें अन्य राशियों का क्या है हाल
3 शरद पूर्णिमा पर सोलह कलाओं से परिपूर्ण माना जाता है चंद्रमा, जानिये इस दिन का महत्व, तिथि और पूजा विधि
IND vs AUS 3rd ODI
X