ताज़ा खबर
 

मोदी सरकार करेगी चाणक्य नीति पर काम, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस सूत्र के साथ पेश किया यूनियन बजट 2019

Union Budget 2019 : वित्त मंत्री ने 'कार्यं पुरुषकारेण लक्ष्यं संपद्यते' की सूक्ति के साथ अपना पहला बजट देश के सामने पेश किया। उन्होंने बताया कि प्रयत्न करने से ही कार्य का पुरुषार्थ संभव है। उन्होंने चाणक्य की इस नीति का जिक्र किया।

Chanakya neeti: यूनियन बजट 2019 में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अपना पहला बजट पेश किया। उन्होंने बजट की शुरुआत ही शायरी और चाणक्य की नीति के साथ किया। उन्होंने चाणक्य की जिस नीति का जिक्र किया, ‘कार्यं पुरुषकारेण लक्ष्यं संपद्यते’ उसका मतलब है प्रयत्नपूर्व किया गया कार्य हमेशा सफल होता है। उन्होंने भले ही चाणक्य की इस नीति का उल्लेख देश की अर्थव्यवस्था के लिए किया लेकिन अगर इसी से संंबंधित कुछ अन्य चाणक्य नीति को देखें तो किसी भी बिजनेस, कॅरियर या लक्ष्य की पूर्ति के लिए उनके द्वारा बताए गए सूत्र सदैव फलदायी होते हैं।

चाणक्य की नीति कार्य करने और उसकी योजना बनाने को लेकर कहती है कि आपको कार्य शुरू करने से पहले उसकी अच्छी रणनीति बना लेनी चाहिए। अगर आप ऐसा नहीं करते तो कार्य का सफल होना असंभव होता है। इसके अलावा नीति कहती है कि जो लोग कार्य करते हैं उन्हीं के उपाय फलदायी होते हैं न कि सिर्फ ज्ञान देने वाले और योजना बनाने वाले। चाणक्य ने बल देते हुए कहा है कि पुरुषार्थ से किया हुआ वही कार्य सफल होता है जो प्रयत्नपूर्वक किया गया हो, न कि औपचारिकता के लिए। आइए कार्य करने के तरीके, उसकी योजना बनाने और परिणाम के प्रति आशान्वित होने से संबंधित चाणक्य की नीति को विस्तार से समझते हैं:

1. अनुपायपूर्वं कार्यं कृतमपि नश्यति
वास्तविक अर्थ: कार्य शुरू करने से पूर्व उचित उपाय न करने में, कार्य नाश होता है।

2- कार्यार्थिनामुपाय एव सहाय:
वास्तविक अर्थ: कार्य करने वालों के उपाय ही सहायक और फलीभूत होते हैं

3- कार्यं पुरुषकारेण लक्ष्यं संपद्यते
वास्तविक अर्थ: प्रयत्नपूर्वक किया हुआ कार्य सफल होता है।

4- कार्यान्तरे दीर्घसूत्रता न कर्तव्या
वास्तविक अर्थ: कार्य आरंभ करने के बाद उसमें ढिलाई नहीं बरतनी चाहिए।

5- न चलचित्तस्य कार्यावाप्ति:
वास्तविक अर्थ: चंचल वृत्तिवाले आदमी से कोई कार्य पूरा नहीं होता।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App