ताज़ा खबर
 

Happy Chaitra Navratri 2019: समझें चैत्र नवरात्रि का धार्मिक महत्व, जानें भारत में क्यों मनाया जाता है ये पर्व

Navratri 2019 Date: साल में कुल मिलाकर चार नवरात्रि आती हैं जिसमें से दो यानि आश्विन नवरात्रि और चैत्र नवरात्रि को व्यापक स्तर पर मनाया जाता है। साथ ही चैत्र नवरात्रि का महत्व और भी अधिक इसलिए बढ़ जाता है क्योंकि इस दिन से भारतीय नववर्ष की शुरुआत होती है।

chaitra navratri, chaitra navratri 2019, chaitra navratri 2019 date, chaitra navratri start date, chaitra navratri 2019 start date, chaitra navratri april 2019, chaitra navratri 2019 dates, chaitra navratri date in india, chaitra navratri, navratri, navratri 2019, navratri 2019 date, navratri 2019 start date, navratri date in india, when is navratri, when is navratri in april 2019Navratri 2019: चैत्र नवरात्रि 2019।

Navratri 2019: चैत्र नवरात्रि चैत्र माह के पहले दिन से शुरू होता है। साल 2019 में यह 6 अप्रैल (शनिवार) से आरंभ हो रही है जो आगामी 14 अप्रैल तक चलेगा। शास्त्रों और पुराणों में चैत्र नवरात्रि को बहुत अधिक महत्व प्रदान किया गया है। साल में कुल मिलाकर चार नवरात्रि आती हैं जिसमें से दो यानि आश्विन नवरात्रि और चैत्र नवरात्रि को व्यापक स्तर पर मनाया जाता है। साथ ही चैत्र नवरात्रि का महत्व और भी अधिक इसलिए बढ़ जाता है क्योंकि इस दिन से भारतीय नववर्ष की शुरुआत होती है।

कहते हैं कि चैत्र शुक्ल प्रतिपदा के दिन ही ब्रह्मा जी ने सृष्टि का सृजन किया था। साथ ही इसी दिन विक्रमादित्य का राजतिलक हुआ था। इसलिए भी चैत्र नवरात्रि का महत्व काफी अधिक है। नवरात्रि में हर व्यक्ति अपनी सुख-समृद्धि की कामना के लिए शक्ति की देवी दुर्गा की उपासना करता है। शास्त्रों में देवी दुर्गा का मतलब जीवन के दुखों को हरने वाली देवी के रूप में बताया गया है। चैत्र नवरात्रि के नौवें दिन भगवान राम का जन्म हुआ था। इसलिए इस दिन को रामनवमी के तौर पर समूचे भारत में मनाया जाता है।

नवरात्रि के दौरान भक्त अपने घरों या मंदिरों में पूरे विधि-विधान से मां दुर्गा के अलग-अलग रूपों की पूजा करते हैं। साथ ही कई लोग पूरे नौ दिन का व्रत भी रखते हैं। चैत्र नवरात्रि के प्रथम दिन देवी दुर्गा के शैलपुत्री स्वरूप की पूजा होती है। इसी तरह दूसरे दिन मां ब्रह्मचारिणी, तीसरे दिन चंद्रघंटा और फिर क्रमशः कुष्मांडा, स्कंदमता, कात्यायनी, कालरात्रि, महागौरी और अंतिम दिन सिद्धिदात्री देवी की उपासना की जाती है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Chaitra Navratri 2019: चैत्र नवरात्रि में कीजिए दुर्गा सप्तशती का पाठ, ये है सही विधि
2 Chaitra Navratri 2019: कैसे हुई मां दुर्गा की उत्‍पत्ति, जानिए क्‍या कहता है मार्कण्डेय पुराण
3 Ugadi 2019 Date: जानिए किस तारीख को होगा उगादी पर्व, पढ़ें इससे जुड़ी मान्यताएं
ये पढ़ा क्या?
X