ताज़ा खबर
 

Chaitanya Mahaprabhu jayanti 2020: चैतन्य महाप्रभु जयंती के अवसर पर जानिए उनके द्वारा दी गई शिक्षाएं

Chaitanya Mahaprabhu jayanti 2020: चैतन्य महाप्रभु के जीवन का उद्देश्य लोगों में भक्ति भाव जागृत करना था।

चैतन्य महाप्रभु कहा करते थे कि भक्ति ही मुक्ति का साधन है।

Chaitanya Mahaprabhu jayanti 2020: चैतन्य महाप्रभु का जन्म फाल्गुन मास की पूर्णिमा को हुआ था, इसलिए यह दिन चैतन्य महाप्रभु की जयंती के रूप में मनाया जाता है। बचपन में इनका नाम विश्वंभर था, लेकिन घरवाले इन्हें निमाई नाम से पुकारते थे। बंगाल के नादिया नामक स्थान पर शचि देवी की कोख से चैतन्य महाप्रभु का जन्म हुआ था। चैतन्य महाप्रभु के जीवन का उद्देश्य लोगों में भक्ति भाव जागृत करना था। चैतन्य महाप्रभु कहा करते थे कि भक्ति ही मुक्ति का साधन है। इनके भक्त इन्हें श्रीकृष्ण का अवतार भी मानते हैं। चैतन्य महाप्रभु ने विश्व के कल्याण के लिए कुछ शिक्षाएं भी दीं। आइये जानते हैं…

चैतन्य महाप्रभु की शिक्षाएं

-मनुष्य को अपने अहंकार को खत्म कर घास के समान तुच्छ समझना चाहिए। मतलब घमंड को छोड़कर अपनी प्रतिष्ठा और पद के अहंकार को भी त्यागकर विनम्र रहना चाहिए। सम्मान पाने की इच्छा को त्यागते हुए पेड़ की शाखाओं के समान नम्र रहना चाहिए।

– मनुष्य ईश्वर से ये आशीर्वाद मांगे जिससे की उसके अंदर धन और और ऐश्वर्य का भी अहंकार दूर हो जाए। इसके अलावा ये भी ध्यान रखना चाहिए कि मनुष्य को अपनी सुंदरता का भी अहंकार नहीं होना चाहिए।

-चैतन्य महाप्रभु ने हरी नाम के महत्व को बताया है। महाप्रभु कहते हैं कि श्रीकृष्ण नाम के कीर्तन से चित्त का दर्पण साफ हो जाता है। सांसरिक मोह-माया को दूर करने वाला ये संकीर्तन मनुष्य को आनंद प्रदान करने वाला है। इसके अलावा हरिनाम संकीर्तन पाप और जन्म-मरण से मुक्ति दिलाने वाला है।

-चैतन्य महाप्रभु ने उपदेश दिया है कि श्रीकृष्ण के नाम गोविंद, माधव, दामोदर, घनश्याम, मुकुंद का स्मरण करना चाहिए। प्रभु नामों के स्मरण के लिए किसी समय सीमा और स्थान का बंधन नहीं है। ऐसे में सदैव प्रभु के नामों का स्मरण करना चाहिए।

Next Stories
1 Career/Job Horoscope, 09 March 2020: आज इन 7 राशि वालों को ऑफिस में रहना होगा सतर्क, बॉस से बिगड़ सकते हैं संबंध
2 लव राशिफल 09 मार्च 2020: इन 3 राशि वालों के जुड़ सकते हैं आज लव कनेक्शन, कन्या राशि वालों के प्रेम विवाह के योग
3 आज का पंचांग (Aaj Ka Panchang) 09 March 2020: होलिका दहन, वसंत पूर्णिमा, लक्ष्मी जयंती और अट्टुकल पोंगल आज, जानिए पंचांग अनुसार दिन के सभी मुहूर्त
यह पढ़ा क्या?
X