ताज़ा खबर
 

कलियुग के अंत तक 4 इंच रह जाएगी मनुष्य की लंबाई, उम्र बचेगी सिर्फ 12 साल

बताया जाता है कि 'त्रेतायुग' में मनुष्य की आयु 10,000 वर्ष होती थी।
कलियुग में मनुष्य की लम्बाई – 5.5 फिट बताई गई है।

हमारे शास्त्रों में चार युगों के बारे में बताया गया है। इन चार युगों के नाम हैं- 1. कलियुग, 2.सत्ययुग, 3. त्रेतायुग और द्वापरयुग। ‘युग’ शब्द का अर्थ होता है एक निर्धारित संख्या के वर्षों की काल-अवधि। हर युग की अगल- अलग विशेषताएं रही है। जानकारों के अनुसार इस समय कलियुग चल रहा है। इस कलियुग की मुद्रा लोहा बताई गई है, वहीं इस युग के पात्र मिट्टी के हैं। आज हम आपके लिए लाए हैं कलियुग के बारे में खास जानकारी-

‘कलियुग’ – यह चतुर्थ युग है इस युग की विशेषताएं इस प्रकार है –
इस युग की पूर्ण आयु अर्थात् कालावधि – 4,32,000 वर्ष होती है ।
इस युग में मनुष्य की आयु – 100 वर्ष होती है ।
मनुष्य की लम्बाई – 5.5 फिट (लगभग) [3.5 हाथ]
कलियुग का तीर्थ – गंगा है ।
इस युग में पाप की मात्रा – 15 विश्वा अर्थात् (75%) होती है ।
इस युग में पुण्य की मात्रा – 5 विश्वा अर्थात् (25%) होती है ।
इस युग के अवतार – कल्कि (ब्राह्मण विष्णु यश के घर) ।
अवतार होने के कारण – मनुष्य जाति के उद्धार अधर्मियों का विनाश एंव धर्म कि रक्षा के लिए।
इस युग की मुद्रा – लोहा है।
इस युग के पात्र – मिट्टी के है।

जानकारों का कहना है कि चारों युगों में से सबसे पहले शुरुआत सतयुग की हुई थी। सतयुग को पहला युग माना गया है तो वहीं कलियुग को आखिरी युग माना गया है। बताया गया है कि सतयुग में मनुष्य की लंबाई 32 फिट (लगभग) थी, त्रेतायुग में ये घटकर 21 फिट (लगभग) रह गई, द्वापरयुग में मनुष्य की लंबाई 11 फिट (लगभग) थी, वहीं कलियुग में मनुष्य में लंबाई घटकर 5.5 फिट रह गई। जानकारों का कहना है कि कलियुग के आखिर तक मनुष्य की लंबाई 4 इंच रह जाएगी और उम्र 12 साल की हो जाएगी।

कुछ जानकारों का कहना है कि कलियुग की अवधि में दस हजार साल है। इस युग का अंत करने के लिए भगवान विष्णु कल्कि का रूप धारण करेंगे। इस दौरान मानव जाति का पतन हो सकता है।

जैेसा की हमने बताया चार युग थे। तीन युग बीत चुके हैं, वहीं अभी कलियुग चल रहा है। त्रेतायुग, द्वापरयुग, सत्ययुग युग के बारे में जानने के लिए क्लिक करें। 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.