ताज़ा खबर
 

बुद्ध पूर्णिमा 2018 पूजा शुभ मुहूर्त: विष्णु जी के 9वें अवतार हैं भगवान बुद्ध, जानिए कब है शुभ मुहूर्त

Buddha Purnima 2018, Budh Purnima 2018 Puja Muhurat, Time: बुद्ध पूर्णिमा के दिन ही भगवान बुद्ध का जन्म हुआ था। बुद्ध जी ने आज ही के दिन बोधगया में पीपल के पेड़ के नीचे बुद्धत्व हासिल किया था। इसके अलावा बुद्ध जी आज ही यूपी के गोरखपुर से कुशीनगर में महानिर्वाण के लिए प्रस्थान किए थे।

budh purnima, budh purnima 2018, buddha purnima, buddha purnima 2018, buddha purnima puja muhuratBuddha Purnima 2018: बुद्ध पूर्णिमा पर गंगा स्नान का है विशेष महत्व।

वैशाख महीने की पूर्णिमा का विशेष महत्व है। इसे बुद्ध पूर्णिमा के नाम से जाना जाता है। इस साल बुद्ध पूर्णिमा 30 अप्रैल यानी सोमवार को है। बुद्ध पूर्णिमा के दिन ही भगवान बुद्ध का जन्म हुआ था। बुद्ध जी ने आज ही के दिन बोधगया में पीपल के पेड़ के नीचे बुद्धत्व हासिल किया था। इसके अलावा बुद्ध जी आज ही यूपी के गोरखपुर से कुशीनगर में महानिर्वाण के लिए प्रस्थान किए थे। इसलिए बौद्ध धर्म में आस्था रखने वालों के लिए बुद्ध पूर्णिमा बहुत ही खास है। बौद्ध धर्म के अनुयायी दुनियाभर के कई देशों में फैले हुए हैं। इनमें श्रीलंका, चीन, कंबोडिया, वियतनाम, थाईलैंड, नेपाल, मलयेशिया, म्यांमार और इंडोनेशिया प्रमुख देश हैं। इस तरह से बुद्ध पूर्णिमा को दुनिया के कई देशों में बड़ी ही धूमधाम के साथ सेलिब्रेट किया जाता है।

बुद्ध पूर्णिमा का शुभ मुहूर्त:  इस साल बुद्ध पूर्णिमा का शुभ मुहूर्त 29 अप्रैल 2018 को सुबह 6:37 बजे से शुरू हो रहा है। यह 30 अप्रैल 2018 को 6:27 बजे पर खत्म होगा।

हिंदू धार्मिक ग्रंथों में भगवान बुद्ध को विष्णु जी का 9वां अवतार बताया गया है। इसलिए हिंदू धर्म के लोगों के लिए भी बुद्ध पूर्णिमा का विशेष महत्व है। बुद्ध पूर्णिमा या वैशाख पूर्णिमा के दिन तमाम हिंदू वर्त रखते हैं और भगवान की पूजा-अर्चना करते हैं। इस दिन गंगा करने की भी परंपरा है। कहते हैं कि वैशाष पूर्णिमा के दिन गंगा स्नान करने से व्यक्ति को उसके पाप कर्मों से छुटकारा मिलता है। व्यक्ति अधर्म छोड़कर धर्म के कार्यों में लग जाता है।

बौद्ध धर्मावलंबी बुध्द पूर्णिमा के दिन सफेद वस्त्रों को धारण करते हैं। ये लोग बोद्ध विहारों या मठों में एकजुट होते हैं। इसके बाद सामूहिक रूप से भगवान बुद्ध की आराधना करते हैं। इन धर्मावलंबियों के बीच बुद्ध जी द्वारा दिए गए ज्ञान को साझा किया जाता है। ये सभी अनुयायी बड़ी ही श्रद्धा के साथ उस ज्ञान को सुनते हैं और उसे अपने जीवन में उतारने का प्रयास करते हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Happy Buddha Purnima 2020 Wishes Images, Messages: इन शानदार PHOTOS के जरिए अपनों को भेजें बुद्ध पूर्णिमा की शुभकामनाएं
2 Happy Buddha Purnima 2020 Quotes, Messages: ये हैं भगवान बुद्ध के खूबसूरत संदेश, अपनों को भेज करें सेलिब्रेट
3 Buddha Purnima 2018: भगवान बुद्ध को इसी दिन हुई बुद्धत्व की प्राप्ति, उनके उपदेश आज भी हैं प्रासंगिक
ये पढ़ा क्या?
X