भाई दूज पर इस शुभ मुहूर्त में करें भाई को टीका, जानिए पूजन सामग्री और विधि

इस दिन बहनें अपने भाइयों को तिलक लगाकर उनकी लंबी उम्र और सुखी जीवन की कामना करती हैं। मान्यता है कि इस दिन मृत्यु के देवता यम अपनी बहन यमुना के बुलावे पर उनके घर भोजन के लिए आये थे।

bhaiya dooj, bhai dooj, bhai dooj 2021, bhai dooj 2021 date, bhai dooj 2021 date in india, bhai dooj date in india, bhai dooj date in india 2021, bhaiya dooj 2021
ये पर्व कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की द्वितीया तिथि को मनाया जाता है।

भाई दूज का पर्व भाई-बहन के प्यार का प्रतीक है। इस त्योहार को भाई टीका, यम द्वितीया आदि नामों से भी जाना जाता है। ये पर्व कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की द्वितीया तिथि को मनाया जाता है। इस दिन बहनें अपने भाइयों को तिलक लगाकर उनकी लंबी उम्र और सुखी जीवन की कामना करती हैं। मान्यता है कि इस दिन मृत्यु के देवता यम अपनी बहन यमुना के बुलावे पर उनके घर भोजन के लिए आये थे। इस बार भाई दूज 6 नवंबर को मनाई जाएगी।

भाई दूज पर क्या करते हैं?
-भाई दूज पूजा के लिए एक थाली तैयार की जाती हैं जिसमें रोली, फल, फूल, सुपारी, चंदन और मिठाई रखी जाती है।
-फिर चावल के मिश्रण से एक चौक तैयार किया जाता है।
-चावन से बने इस चौक पर भाई को बैठाया जाता है।
-फिर शुभ मुहूर्त में बहनें भाई को तिलक लगाती हैं।
-तिलक लगाने के बाद भाई को गोला, पान, बताशे, फूल, काले चने और सुपारी दी जाती है।
-फिर भाई की आरती उतारी जाती है और भाई अपनी बहनों को गिफ्ट भेंट करते हैं।

भाई दूज पूजा मुहूर्त:
भाई दूज अपराह्न समय- 01:10 PM से 03:21 PM
अवधि – 02 घण्टे 11 मिनट
द्वितीया तिथि प्रारम्भ- 05 नवम्बर 2021 को 11:14 पी एम बजे
द्वितीया तिथि समाप्त – 06 नवम्बर 2021 को 07:44 पी एम बजे

भाई दूज से जुड़ी पौराणिक कथा: मान्यताओं अनुसार इस दिन मृत्यु के देवता यमराज अपनी बहन यमुना के अनेकों बार बुलाने के बाद उनके घर गए थे। यमुना ने यमराज को भोजन कराया और तिलक कर उनके खुशहाल जीवन की प्रार्थना की। प्रसन्न होकर यमराज ने बहन यमुना से वर मांगने को कहा। यमुना ने कहा आप हर साल इस दिन मेरे घर आया करो और इस दिन जो बहन अपने भाई का तिलक करेगी उसे आपका भय नहीं रहेगा। यमराज ने यमुना को आशीष प्रदान किया। कहते हैं इसी दिन से भाई दूज पर्व की शुरुआत हुई।

Live Updates
6:42 (IST) 6 Nov 2021
मीन राशि के जातक बहनों को उपहार में दें ये उपहार, मानें जाते हैं शुभ

भाई और बहन शिव जी को पंचामृत अर्पित करें। साथ ही किसी निर्धन को सफेद मिठाई अर्पित करें। मीन राशि वाले बहन को नीले रंग के वस्त्र गिफ्ट में दे सकते हैं।

5:58 (IST) 6 Nov 2021
भाई के तिलक से पहले बहनें भूलकर भी न करें ये काम

भाई दूज के दिन जो बहनें अपने भाइयों का तिलक करती हैं उन्हें तिलक से पहले भोजन नहीं करना चाहिए। तिलक लगाने के बाद भाई के साथ भोजन ग्रहण करें।

5:17 (IST) 6 Nov 2021
भाई दूज के दिन करें ये उपाय, भाइयों की जिंदगी में बनी रहेगी सुख-शांति

इस दिन बहनें भगवान शिव को जल धारा अर्पित करें. इस उपाय से भाई की जिंदगी में सुख-शांति बनी रहेगी उनके साथ आपका रिश्ता भी मजबूत होगा।

4:40 (IST) 6 Nov 2021
कन्या राशि के जातक बहनों को भाई दूज पर गिफ्ट करें ये खास सामान

कन्या राशि के जातकों को भाई दूज के मौके पर हनुमान जी की पूजा करनी चाहिए। इसके साथ ही उन्हें किसी निर्धन को गुड़ का दान करना चाहिए। भाई दूज के अवसर पर वे अपनी बहनों को घर में सजाने का कोई भी सामान गिफ्ट कर सकते हैं।

3:52 (IST) 6 Nov 2021
भाई दूज पर करें ये उपाय, बनी रहेगी यमराज की कृपा

इस दिन किसी भूखे को भोजन करने से भी आपके भी के ऊपर यमराज की कृपा होगी।

3:04 (IST) 6 Nov 2021
भाई दूज का दूसरा नाम है यम द्वितीया, जानें क्या है वजह

भाई दूज के दिन मृत्यु के देवता यमराज की पूजा भी की जाती है, इसलिए इसे यम द्वितीया भी कहते हैं। भाई दूज पर बहनें भाई की लंबी आयु की कामना करते हुए उन्हें तिलक करती हैं। वहीं, इसे भ्रातृ द्वितीया भी कहा जाता है।

2:39 (IST) 6 Nov 2021
भाई दूज के दिन पूजा के लिए इन बातों का रखें खास ख्याल

– भाई दूज के दिन पूजन के लिए बहनें सुबह स्नान करके पने ईष्ट देव, भगवान विष्णु या भगवान गणेश का पूजन करें।

– इस दिन भाई के हाथों में सिंदूर और चावल का लेप लगाने के बाद उस पर पान पत्ते, सुपारी और चांदी का सिक्का रखती हैं।

– फिर भाई के हाथ पर धीरे-धीरे पानी डालते हुए भाई की दीर्घायु के लिए मंत्र पढ़ें।

– वहीं, कहीं बहनें भाइयों के माथे पर तिलक करते हुए उनकी आरती उतारती हैं। और फिर कलाई पर कलावा बांधती है।

– फिर वह भाई का माखन-मिश्री या मिठाई से मुंह मीठा करवाती हैं और अंत में आरती करती हैं।

– इस दिन भाई अपनी बहनों के घर जाते हैं और भोजन कर उन्हें उपहार देते हैं.

1:56 (IST) 6 Nov 2021
कर्क राशि के जातक बहनों को दें ये उपहार, मजबूत होगा रिश्ता

कर्क राशि के जातक अपनी बहनों को भाई दूज के मौके पर पढ़ाई-लिखाई से संबंधित चीजे उपहार में दें, इससे उनका रिश्ता और भी मजबूत होगा।

1:28 (IST) 6 Nov 2021
भाई दूज पर आरती की थाली में इन चीजों को करें शामिल

भाई दूज के दिन पूजा सामग्री में कुछ चीजों को जरूर शामिल करना चाहिए. इसमें आरती की थाली, टीका, चावल, नारियल यानि सूखा नारियल, मिठाई, कलावा, दीया, धूप और रुमाल जरूर रखें।

1:17 (IST) 6 Nov 2021
भाई दूज पर करें भाइयों की लंबी उम्र की कामना, पढ़ें ये मंत्र

भाई दूज के दिन बहनें अपने भाई की लंबी उम्र की कामना करती हैं और साथ ही भगवान से भाई के जीवन में खुशहाली का आशीर्वाद मांगती हैं। ऐसे में मंत्र ‘गंगा पूजे यमुना को यमी पूजे यमराज को, सुभद्रा पूजा कृष्ण को, गंगा यमुना नीर बहे मेरे भाई की आयु बढ़े' जरू पढ़ें। इससे भाइयों की उम्र लंबी होती है और उनके जीवन में भी खुशियां रहती हैं।

12:43 (IST) 6 Nov 2021
भैया दूज पर यमुना नदी में स्नान करते हैं भाई-बहन, जानें क्या है मान्यता

यम और यमुना परस्पर भाई-बहन हैं। यमुना को शिकायत रहती थी कि यम कभी उनके घर नहीं आते। एक दिन अचानक यम अपनी बहन से मिलने पहुंचे। यमुना ने अपने भाई यम का टीका किया और स्मृति स्वरूप श्रीफल ( गोला या नारियल) भेंट किया। यमुना ने कहा कि यह श्रीफल आपको अपनी बहन की याद दिलाता रहेगा। तभी से भैयादूज पर बहनें टीका करने के बाद भाइयों को गोला भेंट करती हैं। इस पर्व पर भाई अपनी विवाहित बहन के यहां जाते हैं। इस दिन बहन-भाई के यमुना में स्नान करने की भी परंपरा है।

11:37 (IST) 6 Nov 2021
भैया दूज के दिन चित्रगुप्त पूजा…

भैया दूज के दिन ही चित्रगुप्त पूजा का महत्व है। इस दिन कायस्थ समाज के लोग चित्रगुप्त जी महाराज की आराधना करते हैं। कलम और दवात की भी पूजा होती है।

10:49 (IST) 6 Nov 2021
भाई दूज के दिन भूलकर भी ना करें ये गलतियां…

भाई दूज के दिन बहनों को भाई का तिलक किए बिना कुछ भी ग्रहण नहीं करना चाहिए।

10:12 (IST) 6 Nov 2021
भाई दूज के दिन रखें राहु काल का ध्यान रखना चाहिए…

भाई दूज के दिन राहु काल का ध्यान रखना चाहिए। साथ ही इस मुहूर्त में टीका करने से बचना चाहिए।

9:09 (IST) 6 Nov 2021
भाई दूज के दिन करें ये उपाय…

यमराज के नाम का चौमुखा दीपक जलाकर घर की दहलीज के बाहर रख दें। यह उपाय अपनाने से भाई के जीवन की सभी बाधाएं दूर हो जाती हैं।

8:20 (IST) 6 Nov 2021
भाई दूज की सामग्री…

आरती की थाली, टीका, चावल, नारियल, गोला (सूखा नारियल) और मिठाई, दिया और धूप, रुमाल या छोटा तोलिया

7:53 (IST) 6 Nov 2021
इस तरह करें भाई का तिलक…

भाई के माथे पर रोली और चावल से तिलक करें। फिर हाथ पर कलावा बांधकर भाई की दीर्घायु के लिए मंत्र पढ़ें और आरती उतारें। अब भाई का मिठाई से मुंह मीठा करवाएं।

7:27 (IST) 6 Nov 2021
भाई की लंबी उम्र की कामना करती हैं बहन…

भाई दूज के दिन बहन अपने भाई की खुशहाली और लंबी आयु की कामना करती है। भाई भी अपनी बहन से सदैव रक्षा करने का वादा करते हैं।

7:11 (IST) 6 Nov 2021
भाई दूज की कथा…

मान्यताओं अनुसार इस दिन मृत्यु के देवता यमराज अपनी बहन यमुना के अनेकों बार बुलाने के बाद उनके घर गए थे। यमुना ने यमराज को भोजन कराया और तिलक कर उनके खुशहाल जीवन की प्रार्थना की। प्रसन्न होकर यमराज ने बहन यमुना से वर मांगने को कहा। यमुना ने कहा आप हर साल इस दिन मेरे घर आया करो और इस दिन जो बहन अपने भाई का तिलक करेगी उसे आपका भय नहीं रहेगा। यमराज ने यमुना को आशीष प्रदान किया। कहते हैं इसी दिन से भाई दूज पर्व की शुरुआत हुई।

6:51 (IST) 6 Nov 2021
इस तरह तैयार करें भाई दूज की थाली…

थाली में सिंदूर, फूल, साबुत चावल के कुछ दाने, चांदी का सिक्का, पान का पत्ता, सूखा नारियल यानी गोला, फूल माला, कलावा, मिठाई, दूब घास और केला रखें

6:14 (IST) 6 Nov 2021
भाई दूज का शुभ मुहूर्त…

भाई दूज अपराह्न समय- 01:10 PM से 03:21 PM
अवधि – 02 घण्टे 11 मिनट
द्वितीया तिथि प्रारम्भ- 05 नवम्बर 2021 को 11:14 पी एम बजे
द्वितीया तिथि समाप्त – 06 नवम्बर 2021 को 07:44 पी एम बजे

6:13 (IST) 6 Nov 2021

यही हमारा है त्योहार

भाई को हम तिलक लगाएं

मिले हमें उसका उपहार

आपस में हम एक रहें

यही हमारा है त्योहार।

5:03 (IST) 6 Nov 2021

भाई दूज का स्नेह संबंध

भाई-बहन का प्रेम बना रहे,

कायम रहे दोनों का स्नेह

मिलकर सबमें खुशियां बांटे

जुड़ा रहे सब अपनों का नेह

4:12 (IST) 6 Nov 2021

भैया दूज के दिन ही चित्रगुप्त पूजा

भैया दूज के दिन ही चित्रगुप्त पूजा का महत्व है। इस दिन कायस्थ समाज के लोग चित्रगुप्त जी महाराज की आराधना करते हैं। कलम और दवात की भी पूजा होती है।

2:45 (IST) 6 Nov 2021

भाईदूज की शुभकामनाएं

दिल की यह कामना है कि तुम्हारी जिंदगी में खुशियां भरी हों,तुम्हारे कदम चूमे कायमाबी,घर में कभी ना कोई कमी हो,अटूट रहे हमारा भाई-बहन का बंधन, कभी ना प्यार में कमी हो।।भाईदूज की शुभकामनाएं

1:25 (IST) 6 Nov 2021

ना सोना ना चांदी…

ना सोना ना चांदी,ना कोई हाथी की पालकी चाहिए,मेरे भाई बस मुझसे मिलने आओ,मेरे हाथों से बना पकवान खाओ।।भाईदूज की शुभकामनाएं

11:25 (IST) 5 Nov 2021

Happy Bhai Dooj 2021

भाई दूज का है आया है शुभ त्योहार,बहनों की दुआएं भाईयों के लिए हजार, भाई बहन  का यह अनमोल रिश्ता है बहुत अटूट,बना रहे यह बंधन हमेशा खूब। भाई दूज की शुभकामनाएं

10:40 (IST) 5 Nov 2021

प्यारी है मेरी बहन, मेरी मां की दुलारी है मेरी बहन

हे ईश्वर बहुत प्यारी है मेरी बहन, मेरी मां की दुलारी है मेरी बहन, ना देना उसे कोई भी कष्ट भगवान,जहां भी हो, खुशी से बीते उसका जीवन। भाईदूज की शुभकामनाएं

10:14 (IST) 5 Nov 2021

भाई दूज पर बहन-भाई का प्रेम

प्रेम और विश्वास के बंधन को मनाओ जो दुआ मांगो, उसे तुम पाओ भाई दूज का त्योहार है, भैया जल्दी आओ अपनी प्यारी बहन से तिलक लगवाओ हैपी भाई दूज

8:57 (IST) 5 Nov 2021
भाई दूज पर बहनें रखती हैं व्रत

भाई दूज के दिन जो बहनें अपने भाइयों का तिलक करती हैं उन्हें तिलक से पहले भोजन नहीं करना चाहिए. तिलक लगाने के बाद भाई के साथ भोजन ग्रहण करें.

7:51 (IST) 5 Nov 2021
Bhaiya Dooj 2021: भाई दूज पूजा मंत्र

भाई दूज के दिन टीका करते समय बहन को भाई के लिए इस मंत्र का जाप करना चाहिए।

गंगा पूजे यमुना को, यमी पूजे यमराज को। सुभद्रा पूजे कृष्ण को, गंगा यमुना नीर बहे मेरे भाई आप बढ़ें, फूले-फलें।।

6:47 (IST) 5 Nov 2021
भाई दूज पर किए जाने वाली परंपराएं

भाई दूज के दिन बहनें भाई का टीका करने से पहले तक व्रत रहती हैं। भाई को इस दिन सूखा नारियल देने की परंपरा है। मान्यता है इस दिन यमराज अपने बहन यमुना के घर गए थे।

6:14 (IST) 5 Nov 2021
बहनें थाली में जरूर रखें ये सामान

सिंदूर, फूल, चावल के दाने, सुपारी, पान का पत्ता, चांदी का सिक्का, नारियल, फूल माला, मिठाई, कलावा, दूब घास और केला

5:36 (IST) 5 Nov 2021
भाई दूज पूजा मुहूर्त:

भाई दूज अपराह्न समय- 01:10 PM से 03:21 PM
अवधि – 02 घण्टे 11 मिनट

5:02 (IST) 5 Nov 2021
भाई दूज से जुड़ी मान्यताएं-

इस दिन शाम के समय बहनें यमराज के नाम से चौमुख दीया जलाकर घर के बाहर रखती हैं। इस समय ऊपर आसमान में चील उड़ता दिखाई दे तो बहुत ही शुभ माना जाता है। माना जाता है कि बहनें भाई की आयु के लिए जो दुआ मांग रही हैं उसे यमराज ने कुबूल कर लिया है या चील जाकर यमराज को बहनों का संदेश सुनाएगा।

4:09 (IST) 5 Nov 2021
भाई दूज को कहा जाता है यम द्वितीया

भाई दूज को यम द्वितीया भी कहा जाता है। इस दिन मृत्यु के देवता यमराज की भी पूजा की जाती है। भाई दूज पर बहनें अपने भाई की लंबी उम्र की कामना करती हैं। इस तिथि को भ्रातृ द्वितीया भी कहा जाता है।

3:27 (IST) 5 Nov 2021
भाई दूज तिलक समय

भाई दूज पर टीका का शुभ मुहूर्त 01:10 PM से 03:21 PM तक रहेगा।

2:44 (IST) 5 Nov 2021
6 नवंबर 2021 के शुभ मुहूर्त:

ब्रह्म मुहूर्त- 04:52 ए एम से 05:44 ए एम

अभिजित मुहूर्त- 11:43 ए एम से 12:26 पी एम

गोधूलि मुहूर्त- 05:21 पी एम से 05:45 पी एम

अमृत काल- 02:26 पी एम से 03:51 पी एम

विजय मुहूर्त- 01:54 पी एम से 02:38 पी एम

सायाह्न सन्ध्या- 05:32 पी एम से 06:51 पी एम

2:00 (IST) 5 Nov 2021
भाई दूज मंत्र:

भाई दूज के दिन टीका करते समय बहन को भाई के लिए इस मंत्र का जाप करना चाहिए।

गंगा पूजे यमुना को, यमी पूजे यमराज को। सुभद्रा पूजे कृष्ण को, गंगा यमुना नीर बहे मेरे भाई आप बढ़ें, फूले-फलें।। 

1:26 (IST) 5 Nov 2021
उत्तर प्रदेश में भाई दूज पर्व (Bhai Dooj 2021):

यूपी में भाई दूज के मौके पर बहनें भाई को तिलक लगाती हैं उन्हें सूखा नरियल देती हैं। मिठाई खिलाती हैं।

12:25 (IST) 5 Nov 2021
गोवर्धन भगवान की आरती (Govardhan Maharaj Ji Ki Aarti)

श्री गोवर्धन महाराज, ओ महाराज,

तेरे माथे मुकुट विराज रहेओ।

तोपे पान चढ़े तोपे फूल चढ़े,

तोपे चढ़े दूध की धार।

तेरे माथे मुकुट विराज रहेओ।

तेरी सात कोस की परिकम्मा,

और चकलेश्वर विश्राम

तेरे माथे मुकुट विराज रहेओ।

तेरे गले में कण्ठा साज रहेओ,

ठोड़ी पे हीरा लाल।

तेरे माथे मुकुट विराज रहेओ।

तेरे कानन कुण्डल चमक रहेओ,

तेरी झाँकी बनी विशाल।

तेरे माथे मुकुट विराज रहेओ।

गिरिराज धरण प्रभु तेरी शरण।

करो भक्त का बेड़ा पार

तेरे माथे मुकुट विराज रहेओ।

11:53 (IST) 5 Nov 2021
बिहार में भाई दूज पर्व (Bhai Dooj 2021):

बिहार में भाई दूज पर एक अनोखी परंपरा निभाई जाती है। इस दिन बहनें भाइयों को डांटती हैं और उन्हें भला बुरा कहती हैं और फिर उनसे माफी मांगती हैं। दरअसल यह परंपरा भाइयों द्वारा पहले की गई गलतियों के चलते निभाई जाती है। इस रस्म के बाद बहनें भाइयों को तिलक लगाकर उन्हें मिठाई खिलाती हैं।

11:07 (IST) 5 Nov 2021
भाई दूज से जुड़ी भगवान श्री कृष्ण और सुभद्रा की कथा

एक पौराणिक कथा के अनुसार भाई दूज के दिन भगवान श्री कृष्ण नरकासुर राक्षस का वध कर द्वारिका लौटे थे। इस दिन भगवान कृष्ण की बहन सुभद्रा ने फल,फूल, मिठाई और अनेकों दीये जलाकर उनका स्वागत किया था। सुभद्रा ने भगवान श्री कृष्ण के मस्तक पर तिलक लगाकर उनकी दीर्घायु की कामना की थी।

10:47 (IST) 5 Nov 2021
भाई दूज पर बहनें रखती हैं व्रत

भाई दूज के दिन जो बहनें अपने भाइयों का तिलक करती हैं उन्हें तिलक से पहले भोजन नहीं करना चाहिए। तिलक लगाने के बाद भाई के साथ भोजन ग्रहण करें।

अपडेट