ताज़ा खबर
 

Bada Mangal 2020: ज्येष्ठ माह के मंगलवार बजरंगबली की अराधना के लिए क्यों माने गये हैं खास, जानिए

इस बार ज्येष्ठ माह (Jyeshtha Mah 2020) में 4 मंगलवार आयेंगे। जिसमें से पहला मंगलवार 12 मई को है। दूसरा मंगलवार 19 मई, तीसरा 26 मई और चौथा 2 जून को है। ऐसी मान्यता है कि हनुमान जी की प्रभु श्रीराम से पहली मुलाकात ज्येष्ठ माह में ही हुई थी।

Bada Mangal 2020: मान्यता है कि इन दिनों बजरंगबली की पूजा करने से भक्तों के सारे कष्ट दूर हो जाते हैं। जीवन से नकारात्मक ऊर्जा दूर होती है और धन और समृद्धि आती है।

मंगलवार का दिन भगवान हनुमान की पूजा के लिए काफी खास माना जाता है और जब बात ज्येष्ठ माह में आने वाले मंगलवार की हो तो इसका महत्व और भी ज्यादा बढ़ जाता है। इस बार ज्येष्ठ माह में 4 मंगलवार आयेंगे। जिसमें से पहला मंगलवार 12 मई को है। दूसरा मंगलवार 19 मई, तीसरा 26 मई और चौथा 2 जून को है। ऐसी मान्यता है कि हनुमान जी की प्रभु श्रीराम से पहली मुलाकात ज्येष्ठ माह में ही हुई थी।

महत्व: मान्यता है कि इन दिनों बजरंगबली की पूजा करने से भक्तों के सारे कष्ट दूर हो जाते हैं। जीवन से नकारात्मक ऊर्जा दूर होती है और धन और समृद्धि आती है। ऐसी मान्यता है कि भगवान शिव ने 12 रुद्र अवतार लिए थे। जिनमें हनुमान अवतार सर्वश्रेष्ठ माना जाता है। बताया जाता है कि एक बार लखनऊ के नवाब सआदतअली खां काफी बीमार हो गए थे, उनके बेहतर स्वास्थ्य के लिए मां छतर कुंवर ने हनुमान जी से मन्नत मांगी थी। मन्नत पूरी हो जाने की खुशी में उन्होंने अलीगंज में हनुमान मंदिर बनवाया था। लखनऊ में नवाब सआदतअली खां से शुरू हुआ मंगलवार आज यहां हिंदू मुसलमान दोनों के लिए महत्व रखता है।

Hanuman Aarti, Chalisa, Bhajan: मंगलवार के दिन हनुमान चालीसा का पाठ करने से संकट होते हैं दूर, जानिए इनके भजन, चालीसा और आरती

बड़े मंगलवार को मनाने के पीछे एक जानकारी ये भी मिलती है कि जाटमल व्यापारी ने स्वयं प्रकट हनुमान प्रतिमा से मन्नत मांगी थी कि अगर उसका इत्र और केसर बिक जाएगा तो वह हनुमानजी का भव्य मंदिर बनवाएंगे। नवाब वाजिद अली शाह ने कैसरबाग बसाने के लिए जाटमल से इत्र और केसर खरीद लिया। इस तरह मन्नत पूरी होने पर जाटमल ने ज्येष्ठ के पहले मंगलवार को अलीगंज के नए हनुमान मंदिर में हनुमानजी की प्रतिमा स्थापना करवाई। तब से ज्येष्ठ का हर मंगलवार बड़े मंगल के रूप में मनाया जाने लगा।

घर पर रहकर करें पूजा: ज्येष्ठ माह में आने वाले मंगलवार के दौरान मंदिरों में खास रौनक देखने को मिलती है। भक्त हनुमान जी के दर्शन के लिए मंदिर में जाते हैं और विशेष पूजा अर्चना करते हैं। लेकिन इस बार कोरोना संकट के कारण हुए लॉकडाउन के चलते मंदिरों में लोग नहीं जा पायेंगे। तो ऐसे में घर पर रहकर ही हनुमान जी की पूजा अर्चना करनी होगी।

पूजा विधि: इस दिन भगवान हनुमान की विधिवत पूजा करनी चाहिए। हनुमान चालीसा का पाठ करना चाहिए। कई लोग इस दिन व्रत भी रखते हैं। बूंदी के लड्डू या बूंदी का प्रसाद चढ़ाना चाहिए। इससे संतान संबंधी परेशानी दूर होती हैं। ॐ हं हनुमंतये नम: मंत्र का जाप करने से हनुमान जी प्रसन्न होते हैं. ॐ हं हनुमते रुद्रात्मकाय हुं फट का रुद्राक्ष की माला से जाप करने से भी हनुमान जी बहुत प्रसन्न होते हैं। बजरंगबली को समर्पित बड़ा मंगल के दिन श्री हनुमान जी को पूरी श्रद्धा भक्ति के साथ चना, गुड़, मीठी पूड़ी आदि का प्रसाद चढ़ना चाहिए। अगर आपकी कोई विशेष मनोकामना है जो पूरी नहीं हो रही है तो आप इस दिन हनुमान जी को चमेली के तेल में पीला सिंदूर मिलाकर लगाएं।

Next Stories
1 Jaya Kishori Bhajan: एक नजर कृपा की कर दो लाडली श्री राधे…जया किशोरी के भक्ति भजन देखें यहां
2 टैरो राशिफल, 12 मई 2020: वृष वालों के लिए दिन रहेगा तनाव भरा, मिथुन वाले गुस्से पर रखें काबू
3 कर्क राशि वालों की आर्थिक स्थिति में आयेगा सुधार, सिंह वालों के अटके काम होंगे पूरे
ये पढ़ा क्या?
X