ताज़ा खबर
 

महिलाओं की बांई आंख फड़कना माना जाता है शुभ, जानिए क्या होता आंख फड़कने का अर्थ

बांई आंख की पलक और भौंवे फड़कने का अर्थ होता है कि व्यक्ति की किसी दुश्मन के साथ लड़ाई हो सकती है।

प्रतीकात्मक फोटो

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार माना जाता है कि शरीर के सभी अंग किसी ना किसी स्थिति में फड़कते हैं। इसके साथ ही माना जाता है कि हर अंग के फड़कने का अलग-अलग अर्थ होता है। हमने कई बार अपनी आंखों को फड़कता हुआ पाया है लेकिन कभी जानने की कोशिश नहीं की इसके पीछे का क्या कारण है और हमारा शरीर के अंगों का फड़कने का क्या अर्थ माना जाता है। मान्यता है कि पुरुषों की दाई आंख का फड़कना पुरुषों के लिए शुभ माना जाता है और स्त्रियों की बांयी आंख फड़कना शुभ संकेत देती है।

यदि किसी व्यक्ति की दाईं आंख फड़कती है तो उसे शुभ माना जाता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार माना जाता है कि किसी व्यक्ति की दाईं आंख की ऊपरी पलक और भौवें दोनो फड़कती हैं तो ये मन की सभी इच्छाएं पूरी करता है। करियर में तरक्की मिल सकती है और धन लाभ होने के संभावनाएं भी मानी जाती हैं। इसी के साथ ये भी माना जाता है कि व्यक्ति की दाईं आंख के नीचे का हिस्सा फड़कता है तो इसे अशुभ माना जाता है। ये किसी अशुभ घटना के होने से पहले का संकेत माना जाता है।

बांई आंख का फड़कना अशुभ होता है। बांई आंख की पलक और भौंवे फड़कने का अर्थ होता है कि व्यक्ति की किसी दुश्मन के साथ लड़ाई हो सकती है और इसके कारण दुश्मनी बढ़ सकती है और व्यक्ति के रिश्ते भी खराब होने की संभावनाएं होती हैं। इसी के साथ माना जाता है कि बांई आंख के नीचे के हिस्से के फड़कने से किसी से बहसबाजी हो सकती है। जिसके कारण लज्जित होना पड़ सकता है। लेकिन यहां ये मान्यता है कि महिलाओं की बांई आंख फड़कना एक शुभ संकेत होता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App