ताज़ा खबर
 

जानिए कौआ कैसे देता है भविष्य में होने वाली घटनाओं की सूचना

अगर किसी पर शनि का प्रकोप है तो वो कौए को खाना खिलाकर अपने दोष को शांत कर सकता है।

पितृपक्ष में पितरों को प्रसन्न करने के लिए कौओं को विशेष रूप से खिलाए जाने प्रावधान है।

शास्त्रों में पशु-पक्षियों की उपस्थिती और वाणी के आधार पर तय किया जाता है कि वो शुभ या अशुभ है। ऐसा माना जाता है कि यदि कौए छत पर आकर बैठ जाए तो घर में मेहमानों का आगमन होता है। कौए को शनि और पूर्वजों का प्रतीक माना जाता है। यही कारण है कि पितृपक्ष में पितरों को प्रसन्न करने के लिए कौओं को विशेष रूप से खिलाए जाने प्रावधान है। इसके अलावा शनि को प्रसन्न करने के लिए भी कौओं को खिलाया जाता है। लेकिन समान्य जीवन में भी कौओं को कुछ चीजों का संकेतक माना गया है। यदि आपको अपने घर के आस-पास इस तरह से कौए बैठे दिखे तो ये धन लाभ का संकेत माना जाता है। इसके साथ ही भविष्य में होने वाली घटनाओं के बारे में जानकारी मिलती है।

पानी से भरे पात्र पर बैठा कौआ- अगर आपके घर के अहाते में रखे किसी भी पानी से भरे पात्र पर कौआ आकर बैठता है तो यह निकट भविष्य में आपके लिए बहुत शुभ और धन लाभ की संभावनाएं बताता है। निकट भविष्य में हो सकता है आपको आय के नए स्रोत मिलें। आपको हर प्रकार से आर्थिक बल मिलेगा और आपके परिवार में धन-धान्य की वृद्धि होगी।

रोटी का टुकड़ा लिए कौआ- मुंह में रोटी का टुकड़ा या खाने की कोई भी चीज लिया हुआ कौआ अगर आपकी छत पर या घर के अहाते में बैठे तो समझें कि जल्दी ही आपकी कोई मनोकामना पूर्ण होने वाली है।

– कौआ अगर शांत स्वर में बोले तो पार्टनर के साथ संबंधों में मधुरता आती है लेकिन अगर यह सिर ऊपर करके कर्कश स्वर में लगातार आवाज निकाले तो समझें कि निकट भविष्य में आपको किसी मुश्किल का सामना करना पड़ सकता है।

– इसके अलावा उड़ता हुआ कौआ अगर सिर पर बीट करता हुआ निकल जाए या हड्डी का टुकड़ा गिरा दे, तो यह भी भविष्य में भारी संकट का संकेत है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App