ताज़ा खबर
 

विवाह में आ रही है रुकावट, ये उपाय कर सकते हैं परेशानी को दूर

विवाह योग होने के बाद विवाह में आ रही हैं रुकावटों के लिए ये उपाय किए जाना लाभदायक होता है।

Author Published on: November 7, 2017 4:10 PM
राजस्‍थान में 83 वर्ष के बुजुर्ग ने 30 साल की युवती से शादी रचाई है। (प्रतीकात्‍मक फोटो)

हर माता-पिता के आगे अपने बच्चों के विवाह करने की चुनौती होती है। ये चुनौती तब ओर बढ़ जाती है जब विवाह सही समय पर नहीं हो पाता है। कई बार हम अपने आस-पास देखते हैं कि शादी की उम्र हो जाने के बाद भी विवाह नहीं हो रहा हो या कोई योग्य जोड़ीदार नहीं मिल रहा है तो ये चिंता बढ़ जाती है। कई बार रिश्ता होने पर किसी कारण से विवाह टूट जाता है या सब कुछ तय हो जाने के बाद किन्हीं कारणों से टलता जाता है तो ये परेशानी का कारण बन जाती है। इस चिंता को कम करने के लिए ज्योतिष विद्या में कई उपाय बताए गए हैं जिन्हें अपनाकर इस परेशानी को कम किया जा सकता है। ये रुकावटें कई बार कुंडली के दोषों के कारण आती हैं। इसके लिए किसी ज्योतिषी को अपनी कुंडली अवश्य दिखाएं और उनसे जाने की आपके जीवन में विवाह होना लिखा है या नहीं। अगर नहीं हो तो किसी भी तरह के उपाय करना बेकार ही हो जाता है, लेकिन विवाह योग है लेकिन दोषों के कारण रुकावटें हैं तो इसके लिए उपाय किए जाना लाभदायक होता है।

– विवाह योग्य वर या कन्या दोनों को गुरुवार का व्रत करना चाहिए।
– गुरुवार के दिन प्रातः काल सभी कार्य करके हल्दी युक्त रोटियां बनाकर प्रत्येक रोटी पर गुड़ रखें और उनका सेवन करें। इससे विवाह के शीघ्र योग बनते हैं।
– यदि किसी कन्या की शादी में रुकावट आ रही हो तो 5 पूजा के नारियल लेकर भगवान शिव को ऊं श्रीं वर प्रदायः श्री नमः मंत्र का जाप करना लाभदायक होता है।
– कुंडली में मांगलिक योग के कारण विवाह नहीं हो पा रहा है तो मंगलवार के दिन चण्डिका स्रोत का पाछ करना लाभदायक सिद्ध होता है।
– मंगलवार और शनिवार के दिन सुंदरकाड का पाठ करने से विवाह के मार्ग में आ रही परेशानियां खत्म होती हैं।
– कन्याएं किसी कन्या के विवाह में जाएं तो जिस कन्या का विवाह हो रहा है उसके हाथ से अपने मेहंदी लगवा लें।
– मंगलवार के दिन पार्वती माता को गुलाब का फूल चढाएं। इसके साथ ही नौ कन्याओं को भोजन करवाने से भी विवाह के योग बनते हैं।
– कन्याओं को सोमवार का व्रत विधिपूर्वक करना चाहिए।
– सावन के माह में भगवान शिव को बैलपत्र चढ़ाएं, इन बैलपत्रों की संख्या 108 रखें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 संकष्टी चतुर्थी 2018 व्रत विधि: जानिए किस विधि का प्रयोग करने से सफल हो सकता है व्रत
2 मुस्लिम गड़ेरिए ने खोजी थी अमरनाथ की गुफा, वंशजों को जाता है चौथाई चढ़ावा
3 Happy Sankashti Chaturthi: इन व्हॉट्सऐप, फेसबुक Images और SMS के जरिए दें बधाई संकष्टी की बधाई
जस्‍ट नाउ
X