ताज़ा खबर
 

एक ही समय चाहते हैं सभी तीर्थों का पुण्य तो हर दिन करें नहाते समय ये उपाय

शनि की क्रूर दृष्टि से बचने के लिए शनिवार के दिन सरसो के तेल में अपनी छाया देखना शुभ माना जाता है।

सुबह नहाते समय बाथरुम में बैठकर नाखून नहीं काटने चाहिए।

व्यक्ति की कुंडली में ग्रहों की दशा उसके जीवन पर प्रभाव डालती हैं। माना जाता है कि ग्रहों की चाल ठीक होगी तो उसके सभी कार्य आसानी से बनते जाते हैं। यदि ग्रहों की चाल शुभ नहीं है तो इसका प्रभाव जीवन में नकारात्मक होता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार मान जाता है कि कुछ आसान उपायों को अपनाने से ग्रह दोष शांत किए जा सकते हैं। कुंडली में गोचर करते क्रूर ग्रहों से निपटने के लिए ज्योतिष शास्त्र में आसान उपाय बताए गए हैं। धन की अत्याधिक बर्बादी को रोकने के लिए सुबह के समय कुछ ऐसे उपाय अपनाने चाहिए जो आपके घर की आर्थिक स्थिति को संभालें और साथ ही घर-परिवार में सुख समृद्धि लाए।

– हर दिन सुबह नहाते समय सभी तीर्थों स्थानों और हिंदू धर्म में पवित्र मानी गई नदियों का नाप जपना चाहिए। इससे एक साथ सभी तीर्थ स्थानों पर स्नान करने का पुण्य मिलता है। माना जाता है कि इस दौरान अपने मन की इच्छा भी भगवान के सामने रखें।
– तुलसी में हर दिन सुबह जल चढ़ाएं और शाम के समय दीपक जलाएं। इस उपाय से माता लक्ष्मी और भगवान विष्णु की कृपा होती है।
– सुबह स्नान के बाद सूर्य की अराधना करनी चाहिए और तांबे के लोटे से जल चढ़ाना शुभ माना गया है। इससे समाज में नाम और यश फैलता है।
– घर से किसी भी काम के लिए सुबह निकलते समय दही या किसी मीठे का सेवन अवश्य करना चाहिए, इससे काम में सफल होने की संभावनाएं बढ़ जाती हैं।

– माना जाता है कि जिन लोगों पर शनि देव की क्रूर दृष्टि होती है और उसे दूर करने के लिए एक कटोर में तेल लें और उसमें अपना चेहरा देखें और इसके बाद उस तेल को दान कर दें। इससे शनि के कारण आ रही बाधाएं दूर हो जाती हैं।
– शिवलिंग पर जल चढ़ाने के लिए तांबे के लोटे का प्रयोग करना शुभ माना गया है। माना जाता है कि जल में काले तिल मिला कर शिव की उपासना करने से भगवान शिव सभी इच्छाएं पूरी करते हैं।
– माना जाता है कि सुबह नहाते समय बाथरुम में बैठकर नाखून नहीं काटने चाहिए, ये ज्योतिष शास्त्र के अनुसार अशुभ माना जाता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App