रत्न ज्योतिष अनुसार समृद्धि और खुशहाली लेकर आता है ये रत्न, शनि दोष को भी करता है कम

Neelam Stone Benefits: ज्योतिष अनुसार इस चमत्कारिक रत्न को धारण करने से आर्थिक लाभ मिलता है। इसी के साथ ये रत्न शनि दोषों से भी मुक्ति दिलाता है।

neelam stone, blue sapphire, blue sapphire stone benefits, neelam gemstone, gemstone astrology, neelam ratna,
मान्यता है इस रत्न को धारण करने से आर्थिक स्थिति मजबूत होती है और शनि ग्रह के कारण मिलने वाली पीड़ा से भी मुक्ति मिल जाती है। (फोटो सोर्स- पिक्साबे)

Blue Sapphire Stone: ग्रहों की शांति और मजबूती के लिए रत्न धारण किया जाता है। पन्ना, नीलम, मोती, पुखराज, मूंगा समेत कई रत्न होते हैं जिनका किसी न किसी ग्रह से संबंध होता है। यहां हम बात करने जा रहे हैं नीलम रत्न के बारे में। जिसका संबंध शनि ग्रह से माना जाता है। ज्योतिष अनुसार इस चमत्कारिक रत्न को धारण करने से आर्थिक लाभ मिलता है। इसी के साथ ये रत्न शनि दोषों से भी मुक्ति दिलाता है। इस रत्न को धारण करने से शनि साढ़े साती और शनि ढैय्या से भी मुक्ति मिलती है। जानिए कब, किसे और कैसे धारण करना चाहिए नीलम।

नीलम रत्न के फायदे: नीलम रत्न अपना असर तुरंत दिखाता है। अगर ये सूट कर जाए तो व्यक्ति की किस्मत बदल देता है लेकिन अगर सूट नहीं करे तो व्यक्ति का जीवन परेशानियों से भर देता है। इस रत्न को धारण करने से आर्थिक स्थिति मजबूत होती है और शनि ग्रह के कारण मिलने वाली पीड़ा से भी मुक्ति मिल जाती है। ये रत्न बुरी नजर से बचाता है। व्यक्ति की कुशलता बढ़ाता है। जीवन में सुख और शांति लाता है। कई रोगों को ठीक करने में भी ये कारगर सिद्ध होता है। इस रत्न में विशेष प्रकार के हीलिंग गुण भी मौजूद होते हैं जो मन-मस्तिष्क को शांत रखते हैं।

नीलम सूट कर रहा है या नहीं कैसे करें पहचान?
नीलम रत्न बहुत तेजी से अपना प्रभाव दिखाता है। अगर ये रत्न सूट न करे तो व्यक्ति की आंखों में तकलीफ होनी शुरू हो जाती है।
अगर इस रत्न को पहनने से आपके साथ दुर्घटनाएं होने लगे तो इसका मतलब है कि नीलम आपको सूट नहीं कर रहा है।
इसके सूट करने पर अचानक से धन हानि होने लगती है।
नीलम अनुकूल न होने पर डरावने सपने आने लगते हैं।
नीलम अगर सूट कर रहा है तो व्यक्ति को अचानक से शुभ फल प्राप्त होने लगते हैं।
नीलम शुभ होने पर व्यक्ति को आर्थिक लाभ मिलने लगते हैं।
शनि की महादशा विपरीत हो तब नीलम धारण करना शुभ माना जाता है।
इस रत्न को धारण करने से मन की एकाग्रता बढ़ने लगती है जिससे व्यक्ति अपना काम बेहतर तरीके से करना पड़ता है।

(यह भी पढ़ें- इन दो कार्यों को करने से मां लक्ष्मी की नहीं बनती कृपा, आती है आर्थिक तंगी)

किसे पहनना चाहिए नीलम?
मकर और कुंभ राशि और लग्न के लोगों को नीलम रत्न पहनने की सलाह दी जाती है।
जिनकी कुंडली में शनि कमजोर, वक्री या अस्त है या शुभ भाव में बैठे हैं उन्हें नीलम पहनने की सलाह दी जाती है।
शनि की महादशा, साढ़ेसाती या ढैय्या चल रही हो तो नीलम धारण कर सकते हैं।
शनि षष्ठेश या अष्टमेश के साथ बैठा हो तो नीलम पहनना शुभ माना जाता है।

(यह भी पढ़ें- किस्मत के धनी माने जाते हैं महीने की इन तारीखों में जन्मे लोग, इन पर सूर्य ग्रह का रहता है प्रभाव)

पढें Religion समाचार (Religion News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट